भारतीयों को बड़ा झटका! टूटेगा अमेरिका जाने का सपना, H-1B वीजा पर रोक लगाने का प्लान बना रही है ट्रंप सरकार

 भारतीयों को बड़ा झटका! टूटेगा US जाने का सपना, लग सकती है H-1B वीजा पर रोक
भारतीयों को बड़ा झटका! टूटेगा US जाने का सपना, लग सकती है H-1B वीजा पर रोक

भारत में हर साल IIT करने वाले ज्यादातर स्टूडेंट का सपना अमेरिका जाने का होता है. लेकिन अब लगता है कि उन्हें अपने इस सपने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है. अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप H-1B वीजा सहित सभी एंप्लॉयमेंट वीजा सस्पेंड करने के प्रस्ताव पर विचार कर रहे हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में हर साल IIT करने वाले ज्यादातर स्टूडेंट (Students) का सपना अमेरिका (US) जाने का होता है. लेकिन अब लगता है कि उन्हें अपने इस सपने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है. अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप (Donald Trump) H-1B वीजा सहित सभी एंप्लॉयमेंट वीजा सस्पेंड करने के प्रस्ताव पर विचार कर रहे हैं. वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस प्रस्ताव को पास करने का मतलब है कि अमेरिका के बाहर से आकर कोई वहां काम नहीं कर सकता है. हालांकि अमेरिका में पहले से जिसके पास ये वीजा है उनपर इसका कोई असर नहीं होगा.

कोरोना की वजह से लाखों भारतीयों की नौकरी गई 
इंफोसिस, विप्रो जैसी भारत की टेक्नोलॉजी कंपनियां H-1B वीजा के जरिए ही अपने कर्मचारियों को अमेरिका ऑन-साइट भेजती हैं. अगर ट्रंप की सरकार इस फैसले पर मुहर लगाती है तो इसका भारत के हजारों IT प्रोफेशनल्स पर बुरा असर होगा. कोरोनावायरस महामारी की वजह से पहले ही लाखों भारतीयों की नौकरी जा चुकी है.

ये भी पढ़ें:- Fact Check: क्या 5 लाख केंद्रीय कर्मचारियों को नौकरी से निकालने वाली है सरकार?
अमेरिकी नागरिकों को रोजगार मुहैया कराने के लिए बनाया प्लान 


इस प्रस्ताव के सपोर्ट में ट्रंप सरकार की दलील है कि कोरोनावायरस महामारी की वजह से वो चाहते हैं कि दूसरे देशों से लोग यहां आकर संक्रमित ना हों. रिपोर्ट का कहना है कि इस मकसद अमेरिकी नागरिकों को रोजगार मुहैया कराना है.

अमेरिकी नागरिकों की जॉब गारंटी के लिए आया नया प्रस्ताव
इस मामले में व्हाइट हाउस के प्रवक्ता Hogan Gidley ने कहा कि प्रशासन अभी इस फैसले के असर पर विचार कर रहा है. अमेरिकी नागरिकों की जॉब गारंटी के लिए करियर एक्सपर्ट्स ने यह प्रस्ताव तैयार किया था. हालांकि अभी इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है.

ये भी पढ़ें:- 21 हजार रुपए से कम सैलरी पाने वालों के लिए खुशखबरी! इस योजना से मिलेंगे कई लाभ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज