योग्यता के आधार पर US जाना होगा आसान, ट्रंप कर रहे इमिग्रेशन सिस्टम में बदलाव पर काम

योग्यता के आधार पर US जाना होगा आसान, ट्रंप कर रहे इमिग्रेशन सिस्टम में बदलाव पर काम
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

ट्रंप ने टेलीमुंडो न्यूज को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि वह इमिग्रेशन पर एक सरकारी आदेश पर काम कर रहे हैं जिसमें ‘डेफर्ड एक्शन फॉर चाइल्डहुड अराइवल्स’ (DACA) कार्यक्रम के प्राप्तकर्ताओं को नागरिकता देने की रूपरेखा शामिल होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 11, 2020, 10:01 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump) योग्यता के आधार पर इमिग्रेशन सिस्टम ( Merit-based Immigration System) लाने के संबंध में एक सरकारी आदेश पर काम कर रहे हैं. व्हाइट हाउस ने यह जानकारी दी है. व्हाइट हाउस का यह बयान तब आया है जब ट्रंप ने टेलीमुंडो न्यूज को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि वह इमिग्रेशन पर एक सरकारी आदेश पर काम कर रहे हैं जिसमें ‘डेफर्ड एक्शन फॉर चाइल्डहुड अराइवल्स’ (DACA) कार्यक्रम के प्राप्तकर्ताओं को नागरिकता देने की रूपरेखा शामिल होगी.

डीएसीए प्रत्यर्पण से एक तरह की प्रशासनिक छूट है. डीएसीए का मकसद उन योग्य प्रवासियों की प्रत्यर्पण से रक्षा करना है जो तब अमेरिका आए थे जब वे बच्चे थे. एक सवाल के जवाब में ट्रंप ने कहा कि डीएसीए पर उनकी कार्रवाई आव्रजन पर एक बड़े बिल का हिस्सा बनने जा रही है. उन्होंने कहा, यह एक बड़ा और बहुत अच्छा बिल होगा, यह योग्यता पर आधारित विधेयक होगा तथा इसमें डीएसीए शामिल होगा. मुझे लगता है कि लोग इससे खुश होंगे.

व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा, 'राष्ट्रपति ने आज घोषणा की कि वह अमेरिकी कामगारों के अधिकारों की रक्षा करने के लिए योग्यता पर आधारित इमिग्रेशन सिस्टम स्थापित करने के सरकारी आदेश पर काम कर रहे हैं.' इंटरव्यू के दौरान राष्ट्रपति ने विपक्षी दल पर डीएसीए पर उनके साथ समझौते को तोड़ने का आरोप लगाया.



ये भी पढ़ें : UAE की सरकारी एयरलाइन कंपनी अगले हफ्ते शुरू कर रही है लो-कॉस्ट फ्लाइट, जानिए क्या होगा रूट?
इससे पहले भी अमेरिकी राष्ट्रपति ने इमिग्रेशन पॉलिसी को लेकर प्रस्ताव रखा था. जिसमें विदेशी नागरिकों को योग्यता के आधार पर प्राथमिकता देने की बात कही गई थी. वर्तमान में पारिवारिक संबंधों के आधार पर इमिग्रेशन दिया जाता है. इस नई नीति का लाभ भारतीय लोगों को ज्यादा हो सकता है. हजारों की तादाद में ग्रीन कार्ड का इंतजार कर रहे भारतीय पेशेवरों के लिए यह खबर राहत भरी हो सकती है. इसके तरह उच्च डिग्री धारक, अंग्रेजी बोलने वाले और पेशेवेर योग्यता रखने वाले लोगों के लिए आव्रजन प्रणाली को सुगम बनाया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading