नौकरी जाने के बाद हो रही पैसों की किल्लत? Dormant Bank Account को अनलॉक करें

निष्क्रिय बैंक अकाउंट को केवाईसी अपडेट कराने के बाद एक्टिवेट किया जा सकता है.

निष्क्रिय बैंक अकाउंट को केवाईसी अपडेट कराने के बाद एक्टिवेट किया जा सकता है.

Dormant Bank Account: कोई भी अकाउंटहोल्डर अपने निष्क्रिय बैंक अकाउंट को फिर से चालू करा सकता है. इसके लिए बैंक ब्रांच में आवेदन करने के बाद KYC अपडेट करना होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 30, 2020, 9:48 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस संकट (Coronavirus Crisis) का सबसे ज्यादा असर प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों को हो रहा है. अर्थव्यवस्था की हालत खराब होने की वजह से कई कंपनियां बड़े स्तर पर या तो कर्मचारियों की छंटनी कर रही हैं या फिर उन्हें बिना पेमेंट ही छुट्टियों पर भेज रही हैं. नौकरी जाने और मौजूदा संकट में नये मौके नहीं मिलने की वजह से अधिकतर लोगों को घर किराये देने से लेकर अन्य जरूरी कामों के​ लिए पैसों की किल्लत हो रही है. ऐसी स्थिति में कई लोगों को निष्क्रिय यानी बंद पड़े बैंक अकाउंट से पैसे निकालने में भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

अगर आपने भी ऐसी ​परिस्थिति का सामना किया है तो चिंता करने की कोई बात नहीं है. आज हम आपको बताते हैं कि केवाईसी के जरिए कैसे आप निष्क्रिय हो चुके बैंक अकांउट (Dormant Bank Account) को एक बार फिर से चालू कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें:  14 साल पहले रिलायंस ने पहली बार रखा था रिटेल कारोबार में कदम, जानिए कैसा रहा सफर



बैंकिंग मामले के जानकारों का कहना है कि कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) और लॉकडाउन (Lockdown) के चलते बैंकों ने ग्राहकों कई तरह की सुविधाएं देनी शुरू की है. बैंकों ने यह कदम ​इसलिए उठाया है ताकि ऐसी कठिन परिस्थिति में लोगों को बैंकिंग सेवांए सुचारु रूप से मिलती रहें. बैंक अब ग्राहकों को निष्क्रिय अकाउंट को रिवाइव करने का मौका दे रहे हैं. इसके लिए नजीदीकी बैंक ब्रांच से संपर्क किया जा सकता है.
क्या है प्रोसेस
इसके लिए बेहद सरल प्रक्रिया है. आपको केवल संबंधित बैंक ब्रांच को एक मेल भेजना होगा. इस मेल में आप बैंक से अनुरोध करेंगे कि आपका निष्क्रिय बैंक अकाउंट रिएक्टिवेट कर दिया जाए. इसके लिए आपको अपने पहचान पत्र, पता आदि के प्रूफ भेजना होगा. आपके द्वारा आवेदन भेजे जाने के चंद दिनों के अंदर ही बैंक आपके अकाउंट को रिएक्टिवेट कर देगा. हालांकि, इस समय साइबर क्राइम के बढ़ते मामले को देखते हुए कई बैंक रिमोटली केवाईसी अपडेट करने से मना भी कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: सावधान! सैनिटाइज करने-धोने और धूप में सुखाने से 2000 रु के 17 करोड़ नोट हुए खराब, न करें ये गलती

ऐसी​ स्थिति में बैंक चाहते हैं अकाउंटहोल्डर खुद ही बैंक ब्रांच जाकर अपने निष्क्रिय अकाउंट को एक्टिवेट कराएं. वरिष्ठ नागरिकों के लिए अपने ही एरिया के ब्रांच में जाना होगा. डोरस्टेप सर्विस की भी सुविधा मिलती है. डोरस्टेप सर्विस में संबंधित बैंक आॅफिशियल्स क्लांइट के घर जाकर केवाईसी अपडेट करते हैं. अगर कोई अकाउंटहोल्डर किसी दूसरे शहर में रहता तो भी वो अपने मौजूदा लोकेलिटी में नजदीकी ब्रांच में जाकर केवाईसी अपडेट करा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज