Dr. Reddy's Lab ने शुरू की कोरोना दवा की मुफ्त होम डिलीवरी, इन 42 शहरों में मिलेगी सर्विस

Dr. Reddy's Lab  ने शुरू की कोरोना दवा की मुफ्त होम डिलीवरी, इन 42 शहरों में मिलेगी सर्विस
42 शहरों में मुफ्त होम डिलीवरी होगी कोरोना की दवा

डॉ. रेड्डीज की दवा Avigan को भारत के दवा महानियंत्रक (DCGI) से कोविड- 19 (COVID-19) के हल्के से लेकर मध्यम रूप से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिये मंजूरी मिली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 19, 2020, 4:17 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत की बड़ी फार्मा कंपनी डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज (Dr. Reddy’s Laboratories) ने आज कोरोना वायरस मरीज के इलाज की दवा फेविपिराविर (Favipiravir) के जेनिरक वर्जन अविगन (Avigan) 200mg टैबलेट बाजार में उतारने की घोषणा की. डॉ. रेड्डीज की दवा Avigan को भारत के दवा महानियंत्रक (DCGI) से कोविड- 19 (COVID-19) के हल्के से लेकर मध्यम रूप से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिये मंजूरी मिली है.

यह दवा कोविड-19 (COVID-19) के हल्के से लेकर सामान्य संक्रमण के इलाज में इस्तेमाल के लिये है. फूजीफिल्म टोयामा केमिकल कंपनी लिमिटेड के साथ हुये वैश्विक लाइसेंसिंग समझौते के तहत डॉ. रेड्डीज को अविगन (फेविपिराविर) 200 मिलीग्राम की गोली का भारत में विनिर्माण, बिक्री और वितरण का विशेष अधिकार मिला है.

यह भी पढ़ें- Cabinet Decision: नौकरी तलाशने वालों के लिए बड़ी खबर, नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी को मिली मंजूरी



दवा की त्वरित पहुंच सुनिश्चित करने के लिए, डॉ. रेड्डीज ने कहा कि उसने देश के 42 शहरों में एक मुफ्त होम डिलीवरी सेवा शुरू की है और एक हेल्पलाइन केंद्र 1800-267-0810 / www.readytofightcovid.in बनाया गया है. इस पर सुबह 9 बजे से रात 9 बजे के बीच ऑर्डर किया जाता है. यह सर्विस सोमवार से शनिवार तक चालू रहेगी.
डॉ. रेड्डीज Avigan दो साल के शैल्फ लाइफ के साथ 122 टैबलेट के पूर्ण चिकित्सा पैक में आता है. ल्यूपिन, ग्लेनमार्क और सन फार्मा सहित टॉप दवा निर्माताओं ने पहले ही भारत में कोविड​​-19 के इलाज के लिए एंटीवायरल ड्रग फेविपिरवीर (favipiravir) का एक जेनरिक वर्जन लॉन्च किया है.

फेविपिरवीर और एक अन्य एंटी-वायरल दवा रेमेडिसविर (remdesivir), भारत में COVID-19 के इलाज के लिए सबसे अधिक मांग वाली दवाओं के रूप में उभरा है. इसे पहले से ही प्रकोप से लड़ने के लिए आपातकालीन उपचार के रूप में दवाओं को मंजूरी मिल गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज