लाइव टीवी

ट्रंप ने चीन को किया बर्बाद! इन कंपनियों के नोएडा आने से ‘भूतिया टाउन’ में तब्दील हुआ China का ये शहर

News18Hindi
Updated: December 12, 2019, 11:56 AM IST
ट्रंप ने चीन को किया बर्बाद! इन कंपनियों के नोएडा आने से ‘भूतिया टाउन’ में तब्दील हुआ China का ये शहर
3 साल पुराना ऑफिस अक्टूबर में बंद हो गया

चीन-अमेरिका (China America Trade War) के बीच चल रहे ट्रेड वार से चीन को बहुत नुकसान हो रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तरी चीन के पर्ल नदी किनारे बसा हुइजू में सैमसंग (Samsung) का 3 साल पुराना ऑफिस था, जो अक्टूबर में बंद हो गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 12, 2019, 11:56 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चीन-अमेरिका (China America Trade War) के बीच चल रहे ट्रेड वार से चीन को बहुत नुकसान हो रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तरी चीन के पर्ल नदी के किनारे बसे हुइजू शहर में सैमसंग (Samsung) का 3 साल पुराना ऑफिस था, जो अक्टूबर 2019 में बंद हो गया है. इस ऑफिस के खाली होने के बाद अब ये जगह 'भूतिया शहर’ में तब्दील हो चुकी है. इस कारखाने को भारत (India) के नोएडा शहर और वियतनाम (Vietnam) में ट्रांसफर कर दिया गया है.

पिछले साल सैमसंग ने नोएडा में अपनी फैक्ट्री का किया था उद्घाटन- पिछले साल सैमसंग ने नोएडा में अपनी दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री का उद्घाटन किया था. हांगकांग के साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, सैमसंग ने जब से चीन में मौजूद अपना अंतिम कारखाना बंद किया, दौड़ता-भागता हुइजू ठहर गया और भूतिया शहर में तब्दील हो गया.

ये भी पढ़ें: सऊदी की सरकारी कंपनी अरामको ने रचा इतिहास! बनी दुनिया में नंबर-1

रिपोर्ट के मुताबिक, सैमसंग ने दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच ट्रेड वार की परिस्थितियों को भांपा और बड़े पैमाने पर भारत व वियतनाम में उत्पादन को स्थानांतरित कर दिया. यह वैश्विक आपूर्ति में चीन की बदलती स्थिति को दर्शाता है.

सैमसंग के प्रोडक्ट्स की भारत में हैं बड़ी डिमांड- साउथ कोरिया की कंपनी सैमसंग (Samsung) का दबदबा स्मार्टफोन की दुनिया में अभी भी कायम है. Gartner के अनुसार सैमसंग ने साल 2019 के दूसरे क्वार्टर में साढ़े सात करोड़ फोन बेचे. इसके पास मार्केट शेयर का 20.4 फीसदी है. इसका सबसे बड़ा कारण है मार्केट में सैमसंग के ए सीरीज़ की ज़बरदस्त मांग और इसके एंट्री लेबल व मिड-रेंज लेबल फोन में लगातार किया गया सुधार है. भारत की इलेक्ट्रॉनिक्स मार्केट में सैमसंग का बड़ा मार्केट शेयर है. स्मार्टफोन सेगमेंट में सैमसंग के पास 25 फीसदी मार्केट शेयर है.

सैमसंग को भारत में कारोबार की बड़ी संभावनाएं दिख रही हैं. सैमसंग भारत में मैनुफैक्चरिंग यूनिट शिफ्ट कर सकती है. सैमसंग का एक बड़ा कारखाना पहले से ही दिल्ली से सटे नोएडा में चल रहा है. सैमसंग ने जून 2017 में 5,915 करोड़ रुपए का निवेश से नोएडा स्थित प्लांट की क्षमता को दोगुना करने का ऐलान किया था.

>> आपको बता दें कि चीन स्मार्टफोन समेत मोबाइल सेगमेंट में दुनिया का सबसे बड़ा बाजार है. 2013 में इस बाजार में सैमसंग की हिस्सेदारी 13 प्रतिशत थी जो घटकर एक परसेंट रह गई है.>> चीन की दिग्गज हुआवेई टेक्नोलॉजीज और श्याओमी कॉर्प कंपनी के आगे विदेशी कंपनियां टिक नहीं पा रही हैं, हालांकि इसका फायदा भारत को हो सकता है.

>> स्मार्टफोन मैन्यूफैक्चरिंग कंपनियों के अलावा ई-कॉमर्स कंपनियां भी चीन में अपना कारोबार समेटने का प्लान कर रही हैं.

>> इस लिस्ट में अमेजन कंपनी का नाम सबसे आगे है. दरअसल पिछले दिनों खबर थी कि चीन में अपना कारोबार बंद करने का प्लान कर रही है और अब उसका फोकस भारत पर ज्यादा रहेगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 9:53 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर