• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • कोविड-19 के कारण भारत में बढ़ी ऑनलाइन खरीदारी! ई-कॉमर्स स्‍टोर्स डिस्‍काउंट घटाकर कमा रहे मुनाफा

कोविड-19 के कारण भारत में बढ़ी ऑनलाइन खरीदारी! ई-कॉमर्स स्‍टोर्स डिस्‍काउंट घटाकर कमा रहे मुनाफा

ऑनलाइन शॉपिंग बढ़ने के बाद भारत में ई-कॉमर्स वेबसाइट्स डिस्‍काउंट्स कम करती जा रही हैं.

ऑनलाइन शॉपिंग बढ़ने के बाद भारत में ई-कॉमर्स वेबसाइट्स डिस्‍काउंट्स कम करती जा रही हैं.

लॉकडाउन (Lockdown) में ढील के साथ ही मॉल्‍स, दुकानें और बाजार खुलने के बाद भी 40 फीसदी भारतीय ग्राहक अब भी जरूरी या गैर-जरूरी सामान के लिए ऑनलाइन खरीदारी (Online Shopping) को प्राथमिकता दे रहे हैं ताकि वे कोविड-19 (Covid-19) के संपर्क में आने से बच सकें.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus in India) के फैलने की रफ्तार पर अंकुश के लिए लगाए गए लॉकडाउन में ढील दिए हुए एक महीना हो चुका है. स्‍टोर्स और मॉल्‍स खुल चुके हैं. सामान्‍य बाजारों में भी दुकानें खोली जा रही हैं. इसके बावजूद 40 फीसदी भारतीय ग्राहक अब भी जरूरी या गैर-जरूरी सामान के लिए ऑनलाइन खरीदारी (Online Shopping) को प्राथमिकता दे रहे हैं ताकि वे किसी के संपर्क में आने से बच सकें. इससे ई-कॉमर्स कारोबार में तेजी से सुधार हो रहा है. हालांकि, इससे ऑनलाइन खरीदारी पर ग्राहकों को मिलने वाले तगड़े डिस्‍काउंट (Big Discounts) खत्‍म होते जा रहे हैं.

    सिर्फ 1 फीसदी लोग खरीदारी के लिए जा रहे हैं मॉल्‍स
    लोकल सर्किल के सर्वे के मुताबिक, 21 फीसदी लोगों का कहना है कि वे ई-कॉमर्स वेबसाइट्स से खरीदारी कर रहे हैं. सर्वे में शामिल 19 फीसदी लोगों ने कहा कि वे सामान की स्‍थानीय रिटेल स्‍टोर (Local Retail Stores) या दुकान से होम डिलीवरी (Home Delhivery) करा रहे हैं. वहीं, सिर्फ 1 फीसदी लोगों ने कहा कि वे खरीदारी के लिए मॉल्‍स (Malls) जा रहे हैं. सर्वे में 231 जिलों के 25,000 लोगों को शामिल किया गया था. इनमें भी एक चौथाई लोग सिर्फ केरल से थे. सर्वे में शामिल लोगों में 11 फीसदी ने बताया कि वे नजदीकी डिपार्टमेंटल स्‍टोर से खरीदारी कर रहे हैं.

    ये भी पढ़ें- चीन को करारा जवाब देने के लिए Hero Cycles ने ​लिया बड़ा फैसला! नहीं करेगा 900 करोड़ रुपये का बिजनेस

    47 फीसदी लोग स्‍थानीय बाजार से कर रहे खरीदारी
    सर्वे में शामिल 47 फीसदी लोगों ने बताया कि वे स्‍थानीय बाजार (Local Market) से सामान खरीदने जाते हैं. इसका मतलब है कि 40 फीसदी ग्राहक अपने जरूरी और गैर-जरूरी सामान की स्‍थानीय रिटेल स्‍टोर या ई-कॉमर्स वेबसाइट से होम डिलीवरी करा रहे हैं. होम डिलीवरी को तव्‍वजो देने की वजह पूछे जाने पर 71 फीसदी लोगों ने कहा कि इससे वे खुद को संक्रमित (Infection) होने के जोखिम से बचा सकते हैं. साथ ही कहा कि इस तरह से खरीदारी करना ज्‍यादा आसान भी है. हालांकि, कुछ लोगों ने डिलीवरी में लगने वाले ज्‍यादा समय की शिकायत की.

    ये भी पढ़ें- FD में निवेश करने वालों के लिए अच्‍छी खबर! मुनाफे पर 31 जुलाई तक नहीं कटेगा टैक्‍स

    कई ई-कॉमर्स स्‍टोर्स पहले ही घटा चुके हैं डिस्‍काउंट
    सर्वे में शामिल लोगों ने कहा कि ई-कॉमर्स वेबसाइट से कोई सामान एक्‍सचेंज करने या रिटर्न करने पर रिफंड होने में काफी समय लग रहा है, जिससे उन्‍हें काफी परेशानी महसूस होती है. सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि ऑनलाइन खरीदारी की बढ़ती मांग के कारण डिस्‍काउंट कम होना तय है. अब तक जो ग्रॉसरी प्‍लेटफार्म अपने सामान पर 25 से 35 फीसदी तक छूट देते थे, वे इस समय 15 फीसदी तक डिस्‍काउंट ही दे रहे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज