Alert! इनकम टैक्स विभाग ने टैक्सपेयर्स को चेताया, ITR की डेडलाइन बढ़ने का मैसेज फर्जी

Alert! इनकम टैक्स विभाग ने टैक्सपेयर्स को चेताया, ITR की डेडलाइन बढ़ने का मैसेज फर्जी
ITR की डेडलाइन बढ़ने का मैसेज फर्जी

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) ने ट्वीट कर बताया है इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) भरने की डेडलाइन में कोई रियायत नहीं दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2019, 5:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) ने ITR को लेकर वायरल हो रहे एक मैसेज को फर्जी बताया है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करने के लिए डेडलाइन बढ़ाए जाने के इस मैसेज को फर्जी बताया है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने ट्वीट कर बताया है इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) भरने की डेडलाइन में कोई रियायत नहीं दी गई है.

फेक न्यूज के झांसे में न आएं टैक्सपेयर्स
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ट्वीट के मुताबिक सोशल मीडिया पर ITR भरने की डेडलाइन बढ़ाई जाने वाला जो नोटिफिकेशन फैलाया जा रहा है, वो झूठा है. वायरल हो रहे फर्जी नोटिफिकेशन में दावा किया गया है कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (CBDT) ने IT रिटर्न भरने की आखिरी तारीख 30 सितंबर से बढ़ाकर 15 अक्टूबर कर दी है. हालांकि, IT डिपार्टमेंट ने कहा है कि यह सर्कुलर सही नहीं है और टैक्सपेयर्स ऐसी गलत खबर के झांसे में न आएं.


इनके लिए 30 सितंबर है अंतिम तारीख


ऐसी कंपनियां, फर्म का वर्किंग पार्टनर, इंडिविजुअल या अन्य एंटिटी जिनके अकाउंट्स की ऑडिटिंग जरूरी है, उनके लिए ITR फाइल करने की अंतिम तिथि 30 सितंबर है. वहीं ऐसे एसेसीज जिन्हें सेक्शन 92ई के तहत रिपोर्ट देनी होती है, उनके लिए अंतिम तिथि 30 नवंबर है.

दो महीने दूसरी बार IT डिपार्टमेंट ने दी सफाई
दो महीने में यह दूसरा मौका है जब इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने रिटर्न डेडलाइन को लेकर सफाई दी है. एक दिन पहले ऐसा ही एक नोटिफिकेशन सोशल मीडिया में सर्कुलेट हो रहा था कि आईटीआर फाइल करने की अंतिम तारीख 31 अगस्त से बढ़ाकर 30 सितंबर कर दी गई थी.

ये भी पढ़ें: बड़ी खबर! 9 सरकारी बैंक बंद करने की खबरों पर RBI ने दी जानकारी

हाल ही में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने लोगों को फर्जी मैसेज भेजकर टैक्‍सपेयर से धोखाधड़ी करने वाले ठगों के बारे में चेताया था. कुछ लोगों को इनकम टैक्स रिफंड को लेकर फर्जी ईमेल और SMS मिल रहे थे. ये SMS ऑथेंटिक नहीं है इस वजह से आयकर विभाग ने लोगों को इस धोखाधड़ी से बचाने के लिए एडवाइजरी जारी की थी.

ये भी पढ़ें-1 अक्टूबर से SBI बदलेगा पैसा जमा करने और निकालने के नियम! यहां जानें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज