कोरोना के मामले बढ़ने पर और आगे बढ़ाना पड़ सकता है ITR भरने की तारीख- एक्सपर्ट

कोरोना के मामले बढ़ने पर और आगे बढ़ाना पड़ सकता है ITR भरने की तारीख- एक्सपर्ट
Covid-19 के मामले बढ़ते रहने पर आगे बढ़ानी पड़ सकती है रिटर्न भरने की तारीख

टैक्स एक्सपर्ट्स का मानना है कि Covid-19 प्रसार के बीच IT विभाग को अतिरिक्त उपाय करने पड़ सकते हैं और कर कानूनों के अनुपालन में टैकस पेयर्स को राहत देने के लिये टाइमलाइन को आगे बढ़ाना पड़ सकता है

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण के मामलों की बढ़ती संख्या के बीच टैक्स डिपार्टमेंट अतिरिक्त उपाय करने पड़ सकते हैं और विधायी प्रावधानों के अनुपालन में टैक्सपेयर्स (Taxpayers) की मदद के लिये समयसीमाओं को आगे बढ़ाना पड़ सकता है. विशेषज्ञों ने यह अनुमान व्यक्त किया है. उन्होंने कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के कारण उत्पन्न अभूतपूर्व परिस्थिति में टैक्सपेयर्स की मदद के लिये वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) के द्वारा किये गये विभिन्न उपायों का स्वागत किया. हालांकि उन्होंने कहा कि जब तक सामान्य स्थिति नहीं लौट जाती है, कुछ अतिरिक्त उपाय किये जाने की जरूरत है.

टैक्स डिपार्टमेंट ने महामारी और इसी रोकथाम के लिये बार-बार लगाये गये लॉकडाउन (Lockdown) के समय भी टैक्सपेयर्स को अनुपालन में मदद करने के लिये विभिन्न समयसीमाओं को आगे बढ़ाया है. एएमआरजी एंड एसोसिएट्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) गौरव मोहन ने ब्याज राहत और समयसीमाओं को बढ़ाने के माध्यम से दी गयी राहत को लेकर कहा, मौजूदा स्थिति को देखते हुए, अर्थव्यवस्था को चालू रखने के लिये करदाताओं की मदद के अधिक से अधिक उपायों की आवश्यकता है. देश में कोरोना वायरस के मामले 6.5 लाख से अधिक हो गये हैं और टीका विकसित होने या सामान्य स्थिति बहाल होने में महीनों लग सकते हैं.

यह भी पढ़ें- 31 जुलाई तक बेटी के नाम खोलें ये खाता, 21 साल की उम्र में अकाउंट में होंगे 64 लाख रुपए



टैक्समैन के डीजीएम नवीन वाधवा ने महामारी के मद्देनजर रिटर्न भरने की समयसीमा बढ़ाने के सरकार के निर्णय पर कहा, सभी करदाताओं के लिये वित्त वर्ष 2019-20 के रिटर्न भरने की समयसीमा को 31 जुलाई और 31 अक्टूबर 2020 के स्थान पर 30 नवंबर 2020 तक के लिये बढ़ा दिया गया है. अत: जिन टैक्सपेयर्स को पहले 31 जुलाई या 31 अक्टूबर 2020 तक आईटीआर (ITR) भरना था, वे अब बिना विलंब शुल्क के 30 नवंबर 2020 तक रिटर्न भर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading