• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • 50 हजार से शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने 30 हजार तक होगी कमाई

50 हजार से शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने 30 हजार तक होगी कमाई

फाइल फोटो

फाइल फोटो

बिजनेस शुरू करने के लिए सरकार लोन के साथ ट्रेनिंग भी देती है.

  • Share this:
    देश में योग और आयुर्वेद का चलन बढ़ने से इस क्षेत्र में बिजनेस के भी मौके बने हैं. आयुर्वेदिक प्रोडक्‍ट्स में वटी गुटिका की डिमांड काफी अधिक है. लगभग हर आयुर्वेदिक कंपनी वटी गुटिका बनाकर बेच रही है. वटी या गुटिका के नाम से जाने जानी वाली यह आयुर्वेदिक दवा कई तरह की बीमारियों में काम आती है. अगर आपके पास 50 हजार रुपये हैं तो आप आयुर्वेदिक वटी गुटिका प्लांट लगाकर कमाई कर सकते हैं. इसकी यूनिट लगाने के लिए सरकार प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम (PMEGP) के तहत 90 फीसदी तक लोन और 25 फीसदी तक सब्सिडी दे रही है. (ये भी पढ़ें: 25 हजार लगाकर शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने होगी 40,000 की कमाई)

    90 फीसदी मिल जाएगा लोन- खादी विलेज इंडस्‍ट्रीज कमीशन (KVIC) के सैंपल प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल में वटी गुटिका बनाने वाली मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट के प्रोजेक्‍ट को भी शामिल किया है. इनकी प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट लगभग 5 लाख रुपए है और प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनेरशन प्रोग्राम के तहत यदि आप लोन के लिए अप्‍लाई करते हैं तो आपके पास 50 हजार रुपये होने चाहिए, बाकी 90 फीसदी आपको लोन मिल जाएगा.

    कितनी होगी प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट- KVIC के प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल के मुताबिक, आपके प्रोजेक्‍ट की कॉस्‍ट लगभग 5.06 लाख रुपये आएगी, जिसमें मशीनरी-इक्विपमेंट, वर्किंग कैपिटल, वर्कशॉप का किराया आदि शामिल है. इस कॉस्‍ट में आप साल भर में लगभग 20 हजार रुपये वटी गुटिका तैयार करेंगे. (ये भी पढ़ें: बस एक बार लगाएं 50 हजार रुपये, 10 साल तक होगी लाखों में कमाई)



    प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट-  KVIC की प्रोजेक्ट रिपोर्ट के मुताबिक इसमें बिल्डिंग का किराया 2 लाख रुपये सालाना, इक्‍विपमेंट पर 2.10 लाख रुपये, वर्किंग कैपिटल के लिए 96 हजार रुपये, रॉ मैटिरियल खर्च 3.35 लाख रुपये, लेबल पैकेजिंग पर 25 हजार रुपये, सैलरी 4.25 लाख रुपये, एडमिनिस्‍ट्रेटिव खर्च 1.50 लाख रुपये, ओवरहेड 1.50 लाख रुपये, विविध खर्च 10 हजार रुपये, लोन का ब्‍याज 66 हजार रुपये. कुल वर्किंग कैपिटल की जरूरत (सालाना) 4.18 लाख रुपये होगी. वेरिएबल कॉस्‍ट 7.38 लाख रुपये और वर्किंग कैपटिल तिमाही 96 हजार रुपये होगी.

    क्‍या होगा प्रॉफिट- प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट में आपको बताना होगा कि आपको सालाना कितना फायदा होगा. जैसे कि, फिक्‍सड कॉस्‍ट और वेरिएबल कॉस्‍ट से आपका कॉस्‍ट ऑफ प्रोडक्शन 11.54 लाख रुपये होगा. चूंकि आपने 20 हजार वटी या गुटिका बनाने का टारगेट रखा है और आप इसे यदि 75 रुपए प्रति पीस बेचते हैं तो आपकी कुल सालाना सेल्‍स 15 लाख रुपये होगी. आपको लगभग 3.45 लाख रुपये का प्रॉफिट हो सकता है. यानी हर महीने करीब 30 हजार रुपये की कमाई हो सकती है. (ये भी पढ़ें: IT रिटर्न भरने की प्रक्रिया शुरू, ऐसे कर सकते हैं e-Filing)



    सरकार देगी ट्रेनिंग- सरकार प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम के तहत लोन देने से पहले बिजनेस से संबंधित ट्रेनिंग भी देती है. इसमें बिजनेस की बारीकियों के साथ साथ मैनेजमेंट और सेल्‍स के गुर भी सिखाएं जाते हैं.

    कैसे करें अप्‍लाई- अगर आप इस प्रोजेक्‍ट के लिए लोन लेना चाहते हैं तो आप ऑनलाइन अप्‍लाई कर सकते हैं या अपने जिले के जिला उद्योग केंद्र या खादी विलेज इंडस्‍ट्रीज कमीशन के जिला कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं. ऑनलाइन अप्‍लाई के लिए यहां क्लिक करें- https://www.kviconline.gov.in/pmegpeportal/jsp/pmegponline.jsp

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज