• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • खूब होगी कमाई! इन स्टाॅक्स में लगाएं पैसे, महीने भर में आपका पैसा हो जाएगा डबल, एक्सपर्ट भी दे रहे सलाह

खूब होगी कमाई! इन स्टाॅक्स में लगाएं पैसे, महीने भर में आपका पैसा हो जाएगा डबल, एक्सपर्ट भी दे रहे सलाह

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

अगर आप शेयर मार्केट (Share Market) से कमाई करने की सोच रहे हैं तो आप चीनी शेयरों यानी की सुगर स्टाॅक्स (Sugar Stocks) में पैसे लगा सकते हैं. आने वाले महीने में आपको 52% का रिटर्न मिलेगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. अगर आप शेयर मार्केट (Share Market) से कमाई करने की सोच रहे हैं आप चीनी शेयरों यानी की सुगर स्टाॅक्स (Sugar Stocks) में पैसे लगा सकते हैं. शुक्रवार को कई चीनी शेयरों ने ऊपरी सर्किट (upper circuit) की सीमा को पार किया. इंटस्ट्री जानकारों की मानें तो आने वाले महीनों में चीनी की कीमतों (Sugar Price) में 36-37 रुपये प्रति किलोग्राम की बढ़ोतरी की उम्मीद है. बता दें कि अगर चीनी के दाम बढ़ते हैं तो इसका असर चीनी शेयरों के प्राइस पर भी पड़ेगा और चीनी शेयरों के दाम भी बढ़ेंगे. बता दें कि चीनी शेयरों से निवेशकों को पिछले 1-2 महीनों में 100% से ज्यादा का फायदा मिल चुका है. मार्केट एक्सपर्ट के मुताबिक, इनमें आगे 52% तक का रिटर्न मिलने की संभावना है.

    चार महीनों में 4 गुना तेजी आई
    घरेलू ब्रोकरेज फर्म आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज (ICICI Securities) ने एक रिपोर्ट में चीनी क्षेत्र पर सकारात्मक रुख दोहराया. ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक, चीनी स्टॉक चार महीनों में 2-4 गुना तेजी देखी गई है. आपको बता दें कि चीनी कंपनियों के शेयरों पर एक रिपोर्ट जारी की गई है. इसमें 6 कंपनियों को शामिल किया गया है. इस रिपोर्ट के मुताबिक, बलरामपुर चीनी का भाव अभी 344 रुपए है. यह शेयर 515 रुपए तक जा सकता है. इसमें 52% तक रिटर्न मिल सकता है. डालमिया भारत का शेयर प्राइस अभी 467 रुपए है और यह 650 रुपए तक जा सकता है. इसका मतलब आपको 42% का फायदा मिलेगा. वहीं, त्रिवेणी इंजीनियरिंग के शेयर का भाव 199 रुपए है. यह आने वाले महीने में 270 रुपए तक जा सकता है. इसमें 38% का फायदा मिलेगा.

    ये भी पढ़ें- आम आदमी को झटका! अमूल के बाद अब मदर डेयरी का दूध हुआ महंगा, 2 रुपये/लीटर बढ़े दाम

    जानें शेयर प्राइस बढ़ने के कारण
    जानकारों की मानें तो चीनी शेयरों में तेजी का कारण स्ट्रक्चरल ग्रोथ है. ऐसा इसलिए क्योंकि सरकार ने एथेनॉल ब्लेंडिंग कार्यक्रम को तेजी से लागू किया है. ऐसे में ब्रोकरेज हाउस का मानना है कि चीनी इंडस्ट्री हर साल 60 लाख टन ज्यादा चीनी का निर्माण कर सकती है. ब्रोकरेज हाउस का मानना है कि इससे चीनी कंपनियों की आय में बढ़त होगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन