Indian Railways: रेलवे दे रहा हर महीने लाखों रुपये कमाने का मौका, आपको करना होगा बस ये काम!

रेलवे दे रहा लाखों कमाने का मौका

रेलवे दे रहा लाखों कमाने का मौका

अगर आप भी बिजनेस करने का प्लान कर रहे हैं तो अब आप इंडियन रेलवे (Business with indian railways) के साथ जुड़कर कमाई कर सकते हैं. आप कम पूंजी में भी बंपर मुनाफे वाला बिजनेस शुरू कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 16, 2021, 7:38 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: अगर आप भी बिजनेस करने का प्लान कर रहे हैं तो अब आप इंडियन रेलवे (Business with indian railways) के साथ जुड़कर कमाई कर सकते हैं. आप कम पूंजी में भी बंपर मुनाफे वाला बिजनेस शुरू कर सकते हैं. बता दें आत्मनिर्भरता भारत (aatma nirbhar bharat) अभियान के तहत भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSME) को अपना सहभागी बनने का मौका दिया है. तो अगर आप भी सहभागी बनना चाहते हैं तो ये आपके पास अच्छा मौका है. इसमें आपकी रेलवे के साथ जुड़कर बढ़िया कमाई होगी.

रेलवे को प्रोडक्ट बेचकर करें कमाई

आपको बता दें रेलवे हर साल सालाना 70,000 करोड़ रुपए से ज्यादा के प्रोडक्ट खरीदता है. इसमें टेक्निकल (technical) और इंजीनियरिंग प्रोडक्ट्स के साथ-साथ डेली यूज में आने वाले भी कई तरह के प्रोडक्ट्स शामिल होते हैं. ऐसे में आप छोटा कारोबारी बनकर रेलवे को अपने प्रोडक्ट्स बेच सकते हैं.

यह भी पढ़ें: BoB ग्राहकों के लिए खुशखबरी, बैंक ने घटाईं ब्याज दरें, अब कम हो जाएगी आपकी EMI
यहां करा सकते हैं बिजनेस के लिए रजिस्ट्रेशन

अगर आप भी रेलवे के साथ बिजनेस करना चाहते हैं तो https://ireps.gov.in और https://gem.gov.in पर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं.

कैसे शुरू कर सकते हैं ये बिजनेस - (how to start your own business)



>> बता दें रेलवे प्रोडक्ट उस कंपनी से खरीदता है जो मार्केट में सबसे सस्ता सामान सप्लाई करती हो. तो ऐसे में आपको कोई ऐसे प्रोडक्ट को सलेक्ट करना होगा जो आप किसी कंपनी से सस्ते में खरीद सकते हों.

>> इसके बाद आप एक डिजिटल सिग्नेचर (digital signature) बनवाएं. इसकी मदद से आप रेलवे की https://ireps.gov.in और https://gem.gov.in वेबसाइट पर जा कर नए टेंडर देख सकेंगे.

>> टेंडर डालते समय अपनी लागत और प्रॉफिट का ध्यान रखें. उसी के आधार पर टेंडर डालें.

>> इसके अलावा ध्यान रहे आपके रेट कॉम्पिटेटिव (competitive rates) रहेंगे तो आपको टेंडर मिलने में आसानी होगी. सर्विस की सप्लाई के लिए रेलवे कुछ तकनीक योग्यता मांगता है.

इसके अलावा रेलवे एमएसएमई (MSME) को बढ़ावा देने के लिए बड़ा फैसला ले रहा है. रेलवे के किसी टेंडर (railway tender) की लागत की 25 फीसदी तक की खरीद में एमएसएमई को 15 फीसदी तक की प्राथमिकता मिलेगी. इसके अलावा, छोटे उद्योगों (small industries) को धरोहर जमा राशि और सुरक्षा जमानत राशि जमा करने की शर्तों में भी छूट दी गई है.

यह भी पढ़ें: इस पौधे को लगाकर हर महीने करें 1.20 लाख की कमाई, जानें कैसे मिलेगा फायदा

दोबारा रजिस्ट्रेशन की नहीं होगी जरूरत

बता दें अगर आपने पहले से रजिस्ट्रेशन करा रखा है या आपने रेलवे की किसी और एजेंसी में प्रोडक्ट सप्लाई करने के लिए रजिस्ट्रेशन करा रखा है तो आपको नए रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं होगी. एक बार रजिस्ट्रेशन करा रेलवे के साथ बिजनेस (business with Railway) शुरू कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज