Home /News /business /

FD से ज्‍यादा मुनाफा कमाना है तो इस सरकारी स्‍कीम में लगाएं पैसा, हर 6 महीने में मिलेगा ब्‍याज

FD से ज्‍यादा मुनाफा कमाना है तो इस सरकारी स्‍कीम में लगाएं पैसा, हर 6 महीने में मिलेगा ब्‍याज

केंद्र सरकार 1 जुलाई को नए टैक्‍सेबल फ्लोटिंग रेट्स बॉन्‍ड्स पेश करने जा रही है. ये एफ डी से ज्‍यादा रिटर्न दे सकता है.

केंद्र सरकार 1 जुलाई को नए टैक्‍सेबल फ्लोटिंग रेट्स बॉन्‍ड्स पेश करने जा रही है. ये एफ डी से ज्‍यादा रिटर्न दे सकता है.

केंद्र सरकार (Central Government) 7.75 फीसदी वाले सेविंग्स टैक्सेबल बॉन्ड्स 2018 की जगह पर 1 जुलाई से टैक्सेबल फ्लोटिंग रेट सेविंग्स बॉन्ड (FRS Bonds) स्कीम पेश करने जा रही है. स्‍कीम के तहत ब्‍याज दरों (Interest Rates) को हर 6 महीने में नए सिरे से तय की जाएंगी.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार (Central Government) निवेश पर ज्‍यादा जोखिम नहीं उठाने वाले निवेशकों के लिए एक बेहतरीन स्‍कीम लाने वाली है. सरकार 1 जुलाई से टैक्सेबल फ्लोटिंग रेट सेविंग्स बॉन्ड (Taxable Floating Rate Savings Bonds 2020) स्कीम पेश करने जा रही है. ये नई स्कीम टैक्सेबल सेविंग्स बॉन्ड्स, 2018 की जगह लाई जा रही है. इस पर 7.75 फीसदी ब्‍याज (Interest Rate) मिलता था. इस स्‍कीम को 28 मई 2020 के बाद बंद कर दिया गया था. नई स्‍कीम से लोगों को सुरक्षित सरकारी साधनों में निवेश (Investment) करने का मौका मिलेगा.

    1 जनवरी 2021 को दिया जाएगा 7.15 फीसदी ब्‍याज
    वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) के मुताबिक, इस बॉन्ड का मैच्‍योरिटी पीरियड 7 साल का होगा. इस पर साल में दो बार 1 जनवरी और 1 जुलाई को ब्याज दिया जाएगा. 1 जनवरी 2021 को दिया जाने वाला ब्याज 7.15 फीसदी की दर से होगा. हर अगली छमाही के लिए ब्याज दर नए सिरे से तय की जाएगी. इस बॉन्ड में न्‍यूनतम 1000 रुपये से निवेश शुरू किया जा सकता है. निवेश की कोई अधिकतम सीमा नहीं है. नकद (Cash) में अधिकतम 20 हजार रुपये के ही बॉन्ड खरीदे जा सकते हैं.



    ये भी पढ़ें- अगर 5 लाख से 100 रुपये भी पार हुई आय तो होगा भारी नुकसान, ऐसे बचा सकते हैं इनकम टैक्‍स

    मैच्‍योरिटी से पहले वरिष्‍ठ नागर‍िक ही भुना पाएंगे बांड
    बॉन्ड को ड्राफ्ट, चेक और इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट मोड से भी खरीदा जा सकता है. बॉन्ड को किसी भी सरकारी बैंक, आईडीबीआई, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक और आईसीआईसीआई बैंक से खरीदा जा सकता है. बॉन्ड को केवल इलेक्ट्रॉनिक रूप में खरीदा जा सकेगा. वित्‍त मंत्रालय के मुताबिक, बॉन्ड्स पर कम्‍युलेटिव बेसिस पर ब्याज (Cumulative Interest) नहीं चुकाया जाएगा. आसान शब्‍दों में समझें तो 6 महीने पूरे होते ही ब्याज का पैसा निवेशक के खाते में जमा हो जाएगा. मैच्योरिटी पीरियड पूरे होने से पहले बॉन्ड भुनाने का विकल्प सिर्फ वरिष्ठ नागरिकों (Senior Citizens) को दिया जाएगा.

    ये भी पढ़ें- नौकरीपेशा को बड़ा झटका! 7 फीसदी से कम हो सकती है PPF की ब्‍याज दर, छोटी बचत योजनाओं पर घटेंगी ब्‍याज दरें!

    फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट से ज्‍यादा फायदेमंद होगा ये बांड
    एफआरएस बॉन्ड फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट (FD) से ज्‍यादा फायदेमंद साबित हो सकते हैं. अब बड़े बैंकों में FD पर फायदा काफी कम हो गया है. देश के सबसे बड़े बैंक स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) में इस समय 2 करोड़ रुपये से कम की 1 व 2 साल की एफडी पर ब्याज दर 5.10 फीसदी, 3 साल पर 5.30 फीसदी और 5 से 10 साल तक की एफडी पर 5.40 फीसदी सालाना ब्याज दर है. वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए ये दरें 5.60 से 6.20 फीसदी सालाना तक हैं.

    Tags: Business news in hindi, Fixed deposits, Government bond yields, Interest, Small depositors, Taxable

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर