Home /News /business /

क्या सच में केंद्र सरकार मुद्रा योजना के तहत 2% ब्याज पर दे रही 5 लाख तक का लोन? जानें डिटेल

क्या सच में केंद्र सरकार मुद्रा योजना के तहत 2% ब्याज पर दे रही 5 लाख तक का लोन? जानें डिटेल

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PM Mudra Yojana)

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PM Mudra Yojana)

कारोबार को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PM Mudra Yojana) के तहत 10 लाख रुपये तक के लोन की सुविधा दी जाती है.

    नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने छोटा कारोबार शुरू करने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PM Mudra Yojana) शुरू की है. इसके तहत लोगों को अपना कारोबार शुरू करने के लिए छोटी रकम का लोन दिया जाता है. अभी कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर एक मैसेस वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया जा रहा है कि सरकार सिर्फ 2 फीसदी ब्याज 5 लाख तक का लोन दे रही है. आइए जानते हैं मैसेज की सच्चाई…

    ये है वायरल मैसेज की सच्चाई
    वायरल हो रहे मैसेज में दावा किया जा रहा है, केंद्र सरकार मुद्रा योजना के तहत कम ब्याज दरों पर लोन दे रही है. इस मैसेज में एक नंबर भी शेयर किया गया है, जिस पर लोन के लिए कॉल करना है.

    सरकार ने मैसेज को बताया फर्जी
    पीआईबी फैक्ट चेक ने ट्वीट कर इस खबर की सच्चाई बताई है. पीआईबी ने अपने ट्विटर से इसको लेकर आगाह किया है कि सरकार ऐसी कोई स्कीम नहीं चला रही है और ये मैसेज पूरी तरह फर्जी है.

    ये भी पढ़ें: अगर आपके मोबाइल में भी आया है ‘Govt Yojana’ का ये मैसेज तो हो जाएंं सावधान, जानें क्या लिखा है इसमें?

    चलिए जानते हैं क्या PM मुद्रा योजना
    मुद्रा योजना के तहत बिना गारंटी के लोन मिलता है. इसके अलावा लोन के लिए कोई प्रोसेसिंग चार्ज भी नहीं लिया जाता है. मुद्रा योजना में लोन चुकाने की अवधि को 5 साल तक बढ़ाया जा सकता है. योजना के तहत कोई निश्चित ब्याज दर नहीं हैं. विभिन्न बैंक मुद्रा लोन के लिए अलग ब्याज दर वसूल सकते हैं. आम तौर पर न्यूनतम ब्याज दर 12% है.

    3 तरह के लोन हैं इस योजना में शामिल
    1. शिशु लोन: शिशु लोन के तहत 50,000 रुपये तक के लोन दिए जाते हैं.
    2. किशोर लोन: किशोर लोन के तहत 50,000 से 5 लाख रुपये तक के लोन दिए जाते हैं.
    3. तरुण लोन: तरुण लोन के तहत 5 लाख से 10 लाख रुपये तक के लोन दिए जाते हैं.

    Tags: Business ideas, Business loan, Mudra loan

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर