• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Economic Recovery: विनिर्माण क्षेत्र ने जुलाई में पकड़ा जोर, 15 महीने बाद फिर से तेज हुईं भर्तियां

Economic Recovery: विनिर्माण क्षेत्र ने जुलाई में पकड़ा जोर, 15 महीने बाद फिर से तेज हुईं भर्तियां

विनिर्माण क्षेत्र ने जुलाई में पकड़ा जोर,

विनिर्माण क्षेत्र ने जुलाई में पकड़ा जोर,

मांग में सुधार और कोविड-19 के स्थानीय प्रतिबंधों में ढील के बीच भारत के विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधियों में जुलाई 2021 में पिछले तीन महीनों की सबसे तेज वृद्धि देखी गई. एक मासिक सर्वेक्षण ने सोमवार को यह बात कही गई.

  • Share this:

    नई दिल्ली . मांग में सुधार और कोविड-19 के स्थानीय प्रतिबंधों में ढील के बीच भारत के विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधियों में जुलाई 2021 में पिछले तीन महीनों की सबसे तेज वृद्धि देखी गई. एक मासिक सर्वेक्षण ने सोमवार को यह बात कही गई.

    मौसमी रूप से समायोजित आईएचएस मार्किट Manufacturing Purchasing Managers’ Index,  (PMI ,पीएमआई) जून के 48.1 अंक से बढ़कर जुलाई में 55.3 अंक हो गया, जो तीन महीनों में सबसे मजबूत वृद्धि दर है. पीएमआई के तहत 50 से अधिक अंक का अर्थ है कि गतिविधियों में विस्तार हो रहा है, जबकि 50 से नीचे का अंक संकुचन को दर्शाता है.

    तेज हुई रिकवरी

    आईएचएस मार्किट में अर्थशास्त्र की संयुक्त निदेशक पोलीन्ना डी लीमा ने कहा, ‘‘भारतीय विनिर्माण उद्योग को जून में हुई गिरावट से उबरते हुए देखना उत्साहजनक है. उत्पादन तेज गति से बढ़ा और एक तिहाई से अधिक कंपनियों ने मासिक उत्पादन में बढ़ोतरी की बात कही.’’

    यह भी पढ़ें- Policybazaar IPO: 6017 करोड़ रुपए जुटाने के लिए कंपनी ने जमा किया आवेदन

    लीमा ने आगे कहा कि कैलेंडर वर्ष 2021 के दौरान औद्योगिक उत्पादन में 9.7 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि जुलाई में रोजगार के मोर्चे पर भी हालात में थोड़ा सुधार हुआ, हालांकि इस बारे में कुछ भी ठोस कहना अभी जल्दबाजी होगी.

    जुलाई में जीएसटी एक लाख करोड़ पार

    कुल GST revenue जुलाई महीने में 1,16,393 करोड़ रुपए कलेक्ट की गई है. यह पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 33 फीसदी ज्यादा है. जुलाई, 2020 में जीएसटी संग्रह 87,422 करोड़ रुपये हुआ था.

    यह भी पढ़ें- Fino Payments Bank IPO: मुनाफे वाली फिनटेक कंपनी ला रही 1300 करोड़ रुपये का आईपीओ

    इससे पिछले महीने यानी जून, 2021 में जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ रुपये से कम यानी 92,849 करोड़ रुपये रहा था. मंत्रालय ने कहा कि जीएसटी आंकड़ें अर्थव्यवस्था में तेजी से सुधार को प्रदर्शित कर रहे हैं.

    तेजी से सुधार 

    इसमें CGST 22,197 करोड़ रुपए , SGST 28,541 करोड़ रुपए, IGST 57,864 करोड़ रुपए ( 27,900 करोड़ रुपए माल के आयात से जुटाए गए)  और सेस 7,790 करोड़ ( 815 करोड़ रुपए माल के आयात से जुटाए गए) रहा है. यह आंकड़ें एक जुलाई से 31 जुलाई 2021 के बीच फाईल किए गए GSTR-3B returns से प्राप्त GST collection पर आधारित हैं. इसमें समान अवधि में आयात से प्राप्त IGST और cess भी शामिल हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज