लाइव टीवी

कहां है मंदी? गुरुग्राम में एक कंपनी ने दिनभर में बेच दिए ₹700 करोड़ के फ्लैट!

News18Hindi
Updated: October 15, 2019, 2:20 PM IST
कहां है मंदी? गुरुग्राम में एक कंपनी ने दिनभर में बेच दिए ₹700 करोड़ के फ्लैट!
कंपनी ने एक दिन में 356 लग्जरी फ्लैट बेचे हैं. (Demo Pic)

जब देश में मंदी (slowdown) और सुस्ती की बात की जा रही है ऐसे में 700 करोड़ रुपये के फ्लैट (Flat) एक दिन में एक कंपनी (company) के द्वारा बेचना (Sale) एक शुभ संकेत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 15, 2019, 2:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में मंदी (Recession) का हल्ला है. हर कोई अपने-अपने तरीके से मंदी होने के तर्क दे रहा है. लम्बी-लम्बी बहस हो रही हैं. लेकिन दो दिन पहले गुरुग्राम (Gurugram) में एक कंपनी ने एक ही दिन में 700 करोड़ रुपये के रेडी टू मूव फ्लैट (Ready to Move Flat) बेचकर इस तरह की खबरों को बड़ा झटका दिया है. वो भी ऐसे वक्त में जब ये दावा किया जा रहा है कि जमीन का बाजार कमजोर हालात में है.

पहले दिन 504 में से बिके 376 फ्लैट
जानकारों की मानें तो रियल्टी कंपनी डीएलएफ ने अपने इस प्रोजेक्ट में करीब 504 फ्लैट बनाए थे. दो दिन पहले कंपनी ने गुरुग्राम में फ्लैट बेचना शुरु किया था. जब सुबह कंपनी ने फ्लैट बेचना शुरु किया तो शाम होते-होते कंपनी 376 फ्लैट बेच चुकी थी. किसी भी फ्लैट की कीमत 1.25 करोड़ रुपये से कम नहीं है. जानकारों का कहना है कि कंपनी की ये योजना करीब 22 एकड़ में बनी हुई है. ये सभी लग्जरी फ्लैट बताए जा रहे हैं.

एसकोर्ट सिक्योरिटी, रिसर्च हेड, आसिफ इकबाल का इस बारे में कहना है, मौजूदा बाजार के हालात में लोग ब्रांड को तरजीह दे रहे हैं. यही वजह है कि इस अकेली कंपनी ने ही नहीं इससे पहले एक और कंपनी ने बड़ी सेल की है. ये वो असल खरीदार हैं जिन्हें फ्लैट में रहना है बेचना नहीं है.

1.08 लाख अनसोल्ड फ्लैट
रियल्टी कारोबार पर नजर रखने वाली ब्रोकरेज फर्म प्रॉप टाइगर की रिपोर्ट में कहा गया है कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के प्रमुख बाजारों में रियल एस्टेट डेवलपर के पास जुलाई 2019 अंत तक कुल 1,08,937 बिना बिके फ्लैट थे. इनमें से 58,516 फ्लैट के दाम 45 लाख रुपये अथवा इससे कम थे. रिपोर्ट के अनुसार गुरुग्राम क्षेत्र की अगर बात की जाए तो इसमें भिवाड़ी, रेवाड़ी, नीमराणा और धारुहेड़ा क्षेत्र भी शामिल है.

ये भी पढ़ें-
Loading...

एक चूहा पकड़ने में 22 हजार रुपये खर्च करता है चेन्नई रेल डिवीजन, 3 साल में खर्च किए 6 करोड़!

नागपुर रेलवे स्टेशन पर चूहे पकड़ने को हर रोज होती है 166 कर्मचारियों की तैनाती, खर्च होते हैं 1.45 लाख रुपये

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2019, 2:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...