इकोनॉमिक सर्वे पर नजर आ रहा कोरोना का पूरा असर! कवर पेज पर की गई है आपदा में अवसर की बात, देखें Pics

इकोनॉमिक सर्वे में देश की आर्थिक सेहत का लेखा-जोखा होता है.

इकोनॉमिक सर्वे में देश की आर्थिक सेहत का लेखा-जोखा होता है.

Economic Survey 2021: कवर पेज को देखेंगे तो इस पर कोरोना महामारी का पूरा असर दिख रहा है. इसके कवर पेज पर आपदा में अवसर की बात कही गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 5:41 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. संसद में आज आर्थिक सर्वेक्षण 2021 (Economic Survey 2021) पेश किया गया. इस रिपोर्ट कार्ड में सरकार के पिछले एक साल के कामों का लेखा जोखा होता है. साथ ही अगले वित्त वर्ष में सरकार किस दिशा में आगे बढ़ेगी उसकी भी जानकारी होती है. इसके कवर पेज पर कोरोना महामारी (Covid-19) के दौरान आपदा में अवसर की बात कही गई है. कोरोना महामारी का देश की अर्थव्यवस्था पर खासा असर पड़ा है. इससे साफ जाहिर होता है कि सरकार के लिए ये दो बेहद अहम मुद्दे हैं.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी, 2021 को संसद में आम बजट पेश करेंगी. विशेषज्ञों को उम्मीद है कि बजट 2021 (Budget 2021) में वित्त मंत्री स्ट्रैटेजिक ब्लूप्रिंट पेश करेंगी. इस साल की EconomicSurvey रिपोर्ट वह ब्लूप्रिंट है, जिस पर काम करते हुए लक्ष्य को हासिल किया जाएगा. मुख्य आर्थिक सलाहकार केवी सुब्रमण्यम ने कहा कि हमने मिलकर इस ब्लूप्रिंट में उन सभी पहलुओं को शामिल किया है जो मकसद को हासिल करने का जरिया होंगे.



इस रिपोर्ट कार्ड में साफ नजर आ रहा है कि महामारी से सभी क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुए हैं, लेकिन बावजूद इसके सरकार ने इतनी बड़ी आपदा के बीच भी निवेश के रास्तों को खोल रोजगार के अवसर बनाए. मोदी सरकार ने आयात पर रोक के साथ ही, आत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं लॉन्च की.
ये भी पढ़ें: Economic Survey 2021: चीन से भी तेज़ दौड़ेगी भारतीय अर्थव्यवस्था, जानिए आर्थिक सर्वेक्षण की 5 प्रमुख बातें

Youtube Video


इस रिपोर्ट कार्ड को पेश करते हुए वित्तमंत्री ने अगले वित्त वर्ष में भारत की आर्थिक ग्रोथ का अनुमान 11 फीसदी पर रखा गया है. वित्त वर्ष 2021 में आर्थिक ग्रोथ रेट में 7.8 फीसदी के सिकुड़ने का अनुमान है. वित्त वर्ष 2022 के लिए नॉमिनल जीडीपी का अनुमान 15.4 फीसदी पर रखा गया है. अर्थव्यवस्था में वी शेप्ड रिकवरी का अनुमान है. इस बार का आर्थिक सर्वेक्षण कई मायने में खास है. कोरोना वायरस महामारी की वजह से अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका लगा था. सर्वे में अर्थव्यवस्था से जुड़ी कई ऐसी जानकारियां व आंकड़े हैं, जिन पर कई लोगों की निगाहे होंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज