राजस्व सचिव तरुण बजाज बोले- इस साल इकोनॉमी पिछले साल के मुकाबले बेहतर स्थिति में

आरबीआई ने पिछले महीने चालू वित्त वर्ष के लिए 10.5 फीसदी जीडीपी वृद्धि के अनुमान को बरकरार रखा है.

आरबीआई ने पिछले महीने चालू वित्त वर्ष के लिए 10.5 फीसदी जीडीपी वृद्धि के अनुमान को बरकरार रखा है.

राजस्व सचिव तरुण बजाज ने शुक्रवार को कहा इस साल कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर के बीच इकोनॉमी (Economy) को पिछले साल के मुकाबले ज्यादा नुकसान नहीं हुआ.

  • Share this:

नई दिल्ली. राजस्व सचिव तरुण बजाज ने शुक्रवार को कहा इस साल कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर के बीच इकोनॉमी (Economy) को पिछले साल के मुकाबले ज्यादा नुकसान नहीं हुआ. पिछले साल देश में पूर्ण लॉकडाउन (Lockdown) लगाया गया था.

उन्होंने आगे कहा कि यदि हर महीने औसतन 1.10 लाख करोड़ रुपये की जीएसटी राजस्व प्राप्ति होती है तो ऐसी स्थिति में राज्यों का जीएसटी राजस्व घाटा 1.50 लाख करोड़ रुपये के आसपास रहेगा. जीएसटी परिषद की 43वीं बैठक के बाद बजाज ने कहा, ''यदि हम पिछले साल की तरह का ही फार्मूला अपनाते हैं, तो जीएसटी का अंतर 1.58 लाख करोड़ रुपये बनता है. लेकिन पिछले साल जब पूर्ण लॉकडाउन लगाया गया था और इकोनॉमी को काफी नुकसान उठाना पड़ा था इस साल ऐसा नहीं है.''

ये भी पढ़ें- अच्छी खबर: अब आप Bitcoin समेत अन्य क्रिप्टोकरेंसी में FD की तरह कर सकेंगे निवेश, होगी मोटी कमाई, जानिए कैसे?

चालू वित्त वर्ष के लिए 10.5 फीसदी जीडीपी वृद्धि का अनुमान: रिजर्व बैंक 
भारतीय अर्थव्यवस्था में पिछले वित्त वर्ष 2020- 21 में आठ फीसदी गिरावट आने का अनुमान है. रिजर्व बैंक ने पिछले महीने चालू वित्त वर्ष के लिए 10.5 फीसदी जीडीपी वृद्धि के अनुमान को बरकरार रखा है. वहीं एडीबी ने वर्ष के दौरान 11 फीसदी वृद्धि दर हासिल होने का अनुमान लगाया है.

ये भी पढ़ें- PM Jan-Dhan Account: अगर आपने भी खुलवाया है जन धन खाता तो मिलेंगे 1.3 लाख रुपये, जानें कैसे

बहरहाल, केंद्र सरकार ने चालू वित्त वर्ष के दौरान राज्यों को दी जाने वाली क्षतिपूर्ति 2.69 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान लगाया है. इसमें से 1.58 लाख करोड़ रुपये इस साल उधार लेकर जुटाए जाएंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज