सरकार किसी भी वक्त कर सकती है राहत पैकेज का ऐलान, आएगी 8000 करोड़ रुपये की खास स्कीम

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister of India)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister of India)

Economy Stimulus Package India 2020: कोरोना वायरस महामारी से देश में हुए नुकसान के बाद अब उद्योग-धंधों को पटरी पर लाने और युवाओं के रोजगार के लिए ज्यादा से ज्यादा मौके बनाने के लिए केंद्र सरकार कभी भी राहत पैकेज का ऐलान कर सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2020, 1:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार एक और राहत पैकेज लाने की तैयारी कर रही है. CNBC आवाज़ को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, राहत पैकेज में एक्सपोटर्स के लिए बड़े ऐलान किए जा सकते है. खासकर एक्सपोर्ट सेक्टर केल लिए 8000 करोड़ रुपये की नई स्कीम का भी ऐलान हो सकता है. सूत्रों ने बताया कि एग्रीकल्चर, इंजीनियरिंग प्रोडक्ट का एक्सपोर्ट बढ़ाने पर जोर रहेगा. आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्‍यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग (Cabinet Meeting) में देश की अर्थव्‍यवस्‍था (Indian Economy) में लगातार सुधार पर चर्चा हुई. दरअसल, अक्‍टूबर 2020 में जीएसटी कलेक्‍शन (GST Collection) से लेकर बिजली की खपत (Power Consumption) में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. वहीं, विदेशी निवेशकों (FPI) ने भी भारतीय बाजारों में जमकर निवेश किया है.



जावड़ेकर ने कहा कि खेती और रेलवे में बिजली की खपत उम्मीद के मुताबिक नहीं रही है. फिर भी देश में औद्योगिक गतिविधियों (Industrial Activities) में बिजली की खपत बढ़ी है. उन्होंने कहा कि अब इकॉनमी के सभी सेक्टरों से अच्छे संकेत मिल रहे हैं. अक्टूबर में जीएसटी कलेक्‍शन 1.05 लाख करोड़ रुपये रहा. उत्पादन के लिए इनपुट की खरीद भी बढ़ी है. स्टील के उत्पादन और निर्यात में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. डिजिटल ट्रांजैक्शन में वृद्धि हुई है. वहीं, भारतीय रेलवे ने माल ढुलाई से आमदनी में इजाफा किया है.
पिछले हफ्ते वित्त सचिव ने दिए राहत पैकेज के संकेत- वित्त सचिव अजय भूषण पांडेय (finance secretary ajay bhushan pandey) ने रविवार को इस बारे में जानकारी दी है. वित्त सचिव के मुताबिक, सरकार एक दूसरे स्टिमुलस पैकेज (COVID-19 Stimulus Package) पर काम कर रही है. ये पैकेज कब तक आएगा इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है.



देश की अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत मिलने लगे- केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमाही में अच्छी आर्थिक वृद्धि दर्ज की गई है. सूचीबद्ध कंपनियों का टर्नओवर और मुनाफा बढ़ा है. यही नहीं, अक्‍टूबर के दौरान निवेश और विदेशी प्रत्‍यक्ष निवेश में बढ़ोतरी हुई है. उन्‍होंने कहा, 'इन सभी संकेतों से साफ है कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था तेजी से बेहतर स्थिति की ओर बढ़ रही है. इस दौरान उन्‍होंने बताया कि पीएम मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति (CCEA) की बैठक में हिमाचल प्रदेश में 1810 करोड़ रुपये लागत वाले 210 मेगावाट के एक हाइड्रोपावर प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी गई है. इससे 2,000 लोगों को रोजगार मिलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज