अपना शहर चुनें

States

पीएमसी बैंक घोटाला: Yes Bank के पूर्व एमडी राणा कपूर को ED ने फिर किया गिरफ्तार

Yes Bank के संस्‍थापक राणा कपूर पर डीएचएफएल को लोन देने में गड़बड़ी करने का भी आरोप है.
Yes Bank के संस्‍थापक राणा कपूर पर डीएचएफएल को लोन देने में गड़बड़ी करने का भी आरोप है.

ईडी ने बुधवार को यस बैंक (Yes Bank) के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ राणा कपूर (Rana Kapoor) को पीएमसी बैंक धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार कर लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2021, 8:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने बुधवार को यस बैंक (Yes Bank) के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ राणा कपूर (Rana Kapoor) को एक ताजा मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार कर लिया. यह मामला महाराष्ट्र में पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) में कथित रूप से 4,300 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी से जुड़ा है.

पिछले साल मार्च से ही न्यायिक हिरासत में हैं राणा कपूर
गौरतलब है कि ईडी ने 63 वर्षीय कपूर को पिछले साल मार्च में एक अन्य मामले में गिरफ्तार किया था. तब से वे न्यायिक हिरासत में हैं. केंद्रीय एजेंसी डीएचएफएल से संबंद्ध कंपनी से कथित तौर पर 600 करोड़ रुपये हासिल करने के मामले में कपूर और उनके परिवार वालों के खिलाफ जांच कर रही है. अब उन्हें एक अन्य मामले में गिरफ्तार किया गया है.

ये भी पढ़ें- Budget 2021: विनिवेश का टार्गेट नहीं हो सकेगा पूरा, अगले साल के लिए 2 लाख करोड़ रुपये हो सकता है लक्ष्य
हाल ही में हाईकोर्ट ने खारिज की थी याचिका


हाल ही में बॉम्‍बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने राणा कपूर की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. फिलहाल वह मुंबई के तलोजा जेल में बंद हैं. पिछले साल जुलाई में मुंबई की एक स्पेशल कोर्ट ने कपूर की जमानत याचिका खारिज कर दी थी जिसके बाद उन्होंने हाईकोर्ट का रुख किया था.

दिसंबर तिमाही में बैंक ने घाटे से उबरकर कमाया मुनाफा
गौरतलब है कि यस बैंक को वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में 150.7 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है. बता दें कि वित्त वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही में बैंक को 18,560 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. इसकी वजह से बैंक की हालत खराब हो गई थी. वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में यस बैं‍क की ब्याज से आय 2,560.4 करोड़ रुपये रही है, जो वित्त वर्ष 2020 की समान तिमाही में 1,064.7 करोड़ रुपये रही थी. तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में बैंक का ग्रॉस नॉन-परफॉर्मिंग एसेट्स (NPAs) 16.90 फीसदी से घटकर 15.36 फीसदी हो गया है. इसी तिमाही में बैंक का नेट एनपीए 4.71 फीसदी से घटकर 4.04 फीसदी रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज