• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • EDIBLE OIL WORTH BILLIONS OF RUPEES CAME TO INDIA FROM NEPAL WITHOUT IMPORT DUTY DLNH

नेपाल से बिना आयात शुल्‍क के अरबाें रुपये का खाद्य तेल आया भारत, जानें वजह

नेपाल से अरबों रुपये के खाद्य तेल का आयात होने से भारतीस कारोबारी परेशान हैं.

अखिल भारतीय खाद्य तेल व्यापारी महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शंकर का कहना है कि नेपाल से भारत को विदेशी खाद्य तेलों का बड़ी मात्रा में निर्यात होना भारतीय रिफाइनर्स व तिलहन उत्पादकों के लिए घातक साबित हो रहा है. इसलिए नेपाल से आयात किए जाने वाले खाद्य तेलों का एक निश्चित कोटा निर्धारित होना चाहिए. 

  • Share this:
    नई दिल्ली. नेपाल (Nepal) के रास्ते लगातार खाद्य तेल का आयात हो रहा है. एक साल से भी कम वक्त में यह आयात चार गुना बढ़ गया है. यह दक्षिण एशिया मुक्त व्यापार क्षेत्र (SAFTA) संधि के तहत निर्धारित नियमों का उल्लंघन भी है. सब अच्छी तरह से जानते हैं कि नेपाल में पाम ऑयल (Pam Oil), सोयाबीन तेल (Soybean Oil) और सूरजमुखी तेल का व्यावसायिक उत्पादन नहीं होता है. बावजूद इसके नेपाल से आने वाले खाद्य तेलों (Edible oil) की मात्रा बढ़ती जा रही है. अखिल भारतीय खाद्य तेल व्यापारी महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शंकर ने भारत सरकार से इस पर रोक लगाने की मांग करते हुए इस तरह से होने वाले आयात पर चिंता भी जाहिर की है.

    विदेशी तेल को नेपाल का बताकर भेज रहे हैं भारत
    राष्ट्रीय अध्यक्ष शंकर ठक्कर का कहना है कि नेपाल से भारत को विदेशी खाद्य तेलों का बड़ी मात्रा में निर्यात होना भारतीय रिफाइनर्स व तिलहन उत्पादकों के लिए घातक साबित हो रहा है. इसलिए नेपाल से आयात किए जाने वाले खाद्य तेलों का एक निश्चित कोटा निर्धारित होना चाहिए. नेपाल में पाम तेल, सोयाबीन तेल और सूरजमुखी तेल का व्यावसायिक उत्पादन नहीं होता है. वहां इसकी क्रशिंग-प्रोसेसिंग की क्षमता भी सीमित है. बावजूद इसके नेपाल के व्यापारी अर्जेन्टीना, उरूग्वे और ब्राजील से रिफाइंड सोयाबीन तेल मंगाते हैं. रशिया और यूक्रेन से सनफ्लावर तेल और मलेशिया और इंडोनेशिया से पाम तेल के साथ ही कुछ तेल चाइना से मंगवा कर इसे नेपाली उत्पाद बताकर भारत को निर्यात कर रहे हैं.

    ये भी पढ़ें- LPG उपभोक्‍ताओं के लिए बड़ी सहूलियत! अब ग्राहक तय करेंगे किस डिस्‍ट्रीब्‍यूटर से भरवाना है रसाई गैस सिलेंडर

    36.75 अरब रुपये पर पहुंचा नेपाल का तेल कारोबार
    राष्ट्रीय अध्यक्ष शंकर ठक्कर ने जानकारी देते हुए कहा, नेपाल ट्रेड एंड एक्सपोर्ट प्रोमोशन सेंटर के आंकड़ों से पता चलता है कि चालू वित्त वर्ष के शुरूआती महीनों के दौरान देश से सोयाबीन तेल का निर्यात उछलकर 35.75 अरब रुपए पर पहुंच गया जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के मुकाबले करीब चार गुना ज्यादा है. पिछले वित्त वर्ष के आरंभिक महीनों में नेपाल से केवल 8.36 अरब रुपए मूल्य के सोयाबीन तेल का निर्यात हुआ था जो चालू वर्ष में 36 अरब रुपए के आसपास पहुंच गया है.

    ये भी पढ़ें- Gold Price Today: फिर फिसला गोल्‍ड, चांदी भी हुई सस्‍ती, देखें दिल्‍ली समेत प्रमुख शहरों में नए भाव

    इसका अधिकांश भाग भारत में भेजा गया गया है. सरकारी आंकड़ों के अनुसार समीक्षाधीन अवधि के दौरान नेपाल में 39.46 अरब रुपए मूल्य 335.29 मिलियन लीटर क्रूड सोया तेल का आयात अर्जेन्टीना, पराग्वे, युक्रेन और मिस्र जैसे देशों से किया. नेपाल के कुल निर्यात में सोया तेल का योगदान 33 प्रतिशत है.