होम /न्यूज /व्यवसाय /12वीं के बाद अपने बच्चे की आगे पढ़ाई के लिए घर बैठें ऐसे निकालें अपने PF का पैसा, ये है प्रोसेस

12वीं के बाद अपने बच्चे की आगे पढ़ाई के लिए घर बैठें ऐसे निकालें अपने PF का पैसा, ये है प्रोसेस

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

अगर आपको भी अपने बच्चों की हायर एजुकेशन के महंगे खर्चों की टेंशन सता रही है तो आपको बता दें कि पीएफ के पैसों का इस्तेम ...अधिक पढ़ें

    देश के कई बोर्ड ने 10वीं और 12वीं क्लास के रिजल्ट्स जारी कर दिए हैं. लेकिन मौजूदा दौर में पढ़ाई काफी महंगी हो गई है. ऐसे में ज्यादा रकम की जरुरत होती है. अगर आपको भी अपने बच्चों की हायर एजुकेशन के महंगे खर्चों की टेंशन सता रही है तो आपको बता दें कि पीएफ के पैसों का इस्तेमाल भी बच्चों की पढ़ाई के लिए किया जा सकता है. आपको बता दें कि पीएफ की राशि को कई इमरजेंसी कामों के लिए निकाला जा सकता है. जिसमें पढ़ाई भी एक है. आइए जानें पूरा प्रोसेस:

    (ये भी पढ़ें: 22 साल की उम्र से शुरू करें यहां पैसा लगाना, 42 साल तक बना लेंगे 5 करोड़ रुपए का फंड)

    एजुकेशन के लिए
    >
    एजुकेशन के मामले में आपको अपने एम्प्लायर के द्वारा फॉर्म 31 के तहत आवेदन करना होता है. आप पीएफ निकालने की तारीख तक कुल जमा का 50 प्रतिशत पीएफ ही निकाल सकते हैं.
    >> 
    एजुकेशन के लिए पीएफ का इस्तेमाल कोई भी व्यक्ति अपने पूरे सेवाकाल में सिर्फ तीन बार कर सकता है. (ये भी पढ़ें-PF और PPF का सवाल आपको करता है परेशान, तो जानें इससे जुड़ी सारी खास बातें)

    ये है पीएफ का पैसा निकालने का पूरा प्रोसेस


    स्टेप 1- ईपीएफओ के मेंबर को ई-सेवा पोर्टल https:unifiedportal-mem.epfindia.gov.in पर लॉग इन करना होगा.

    स्टेप 2- लॉगइन करने के बाद आपको आधार बेस्ड ऑनलाइन क्लेम सबमिशन टैब सेलेक्ट करना होगा.
    >> इसके बाद मेंबर को अपनी केवाईसी डिटेल्स वेरिफाई करनी होती हैं.
    >> क्लेम विथड्रॉल करने के लिए अलग-अलग विकल्पों में से आवश्यक ऑप्शन को चुना जा सकता है.

    स्टेप 3ईपीएफओ की तरफ से आपके यूआईडीएआई डेटाबेस में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड भेजा जाएगा.
    >> ओटीपी को एंटर करने के बाद क्लेम फॉर्म सबमिट हो जाता है.
    >> इससे विथड्रॉल प्रोसेस शुरू हो जाता है.
    >> क्लेम प्रोसेस होने के बाद विथड्रॉल अमाउंट को एम्प्लॉई के रजिस्टर्ड बैंक अकाउंट में डाल दिया जाता है.

    इन बातों का रखें ख्याल
    >> 
    ईपीएफओ मेंबर को इस ऑनलाइन सुविधा का इस्तेमाल करने के लिए अपने एंप्लॉयर के पास जाने की जरूरत नहीं है.
    >> लेकिन, उसके पास कंपनी का इस्टैबलिशमेंट नंबर होना चाहिए.
    >> ध्यान रहे कि आधार डेटाबेस में रजिस्टर्ड आपका मोबाइल नंबर और EPFO में दर्ज मोबाइल नंबर एक ही होना चाहिए.
    >> EPFO अब अकाउंट होल्डर्स के लिए एक यूनिवर्सल अकाउंट नंबर जारी करता है. एक बार यह जेनरेट होने पर तब तक निष्क्रिय नहीं होता जब तक कोई नौकरी बदलते वक्त पीएफ का पैसा निकाल न ले.
    >>अगर ऐसा होता है तो नया यूनिवर्सल अकाउंट नंबर जारी किया जाता है.
    >> इस नंबर का एक्टिवेटेड होना जरूरी है. मेंबर का मोबाइल नंबर यूएएन डेटाबेस में रजिस्टर्ड होना चाहिए.
    >>मेंबर का आधार ब्योरा ईपीएफओ वेबसाइट पर होना चाहिए.
    >>मेंबर का बैंक ब्योरा भी यूएएन में दर्ज होना चाहिए.
    >>मेंबर का पैन भी ईपीएफओ डेटाबेस में होना चाहिए.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Benefits of PF, Epfo, EPFO account, EPFO proposal, EPFO subscribers, EPFO website, PF account, PF balance

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें