‘बाज़ार में अंडा महंगा कराने के लिए चली गई है यह चाल’

जानकारों का कहना है कि अंडे का भाव बढ़ाने के लिए आरडी बीमारी की अफवाह फैलाई जा रही है.

बाजार में अचानक से प्रति सैकड़ा अंडे के भाव बढ़ने के पीछे की वजह मुर्गियों में होने वाली आरडी नाम की बीमारी बताई जा रही है. लेकिन, मंडी में अंडे का भाव तय रेट से ऊंचे पर बिक रहा है. अंडा बाज़ार के जानकार इसे बड़े कारोबारियों की अंडा महंगा करने की एक चाल बता रहे हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. देश में अंडे (EGG) की सबसे बड़ी बरवाला (Barwala) मंडी में देखते ही देखते 100 अंडे का भाव 420 रुपये से 485 रुपये पर पहुंच गया. हैरत की बात यह है कि ऐसा कोई 5-6 दिन में नहीं हुआ. 24 घंटे से भी कम वक्त में अंडे के भाव फर्श से अर्श पर पहुंच गए. हालत यह हो गई है कि मंडी में अंडे का भाव तय कुछ हो रहा है और बिक उससे ऊंचे रेट पर रहा है. इसके पीछे बहाना मुर्गियों (Hen) में आई बीमारी के चलते कम अंडा उत्पादन का लगाया जा रहा है. लेकिन अंडा बाज़ार के जानकार इसे बड़े कारोबारियों की अंडा महंगा करने की एक चाल बता रहे हैं.

    मुर्गियों में हो गई है आरडी नाम की बीमारी
    बरवाला अंडा मंडी में यह खबर पूरी तरह से फैल चुकी है कि मुर्गियों को आरडी नाम की बीमारी हो गई है और अंडे का उत्पादन कम हो गया है. आरडी के तहत मुर्गियों के पेट में तकलीफ हो जाती है. जिसके चलते मुर्गियों को लगातार दवाई दी जाती है. मुर्गियों को मोल्डिंग पर रख दिया जाता है. जिसके तहत मुर्गियों को दाना नहीं खिलाया जाता है. सिर्फ दवाई दी जाती है. खुराक के हिसाब से दाना नहीं मिलने पर मुर्गी अंडा भी नहीं देती है.

    आप घर बैठे ऐसे मंगा सकते हैं सबरीमाला का 'स्वामी प्रसादम', अब तक आ चुके हैं 9 हज़ार ऑर्डर

    सिर्फ अफवाह है कि मुर्गियों में आरडी हो गई है  
    यूपी के एक बड़े अंडा कारोबारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया मुर्गियों में आरडी बीमारी होना कोई बड़ी बात नहीं. बरवाला में करीब 350 पोल्ट्री फार्म हैं. साल के 12 महीने किसी न किसी दो-चार फार्म की मुर्गियों में आपको आरडी मिल जाएगी. ऐसा नहीं है कि आरडी बरवाला की ज़्यादा मुर्गियों को हो गई है. यह सिर्फ पोल्ट्री मालिक से अंडा सस्ता लेकर उसे महंगा बेचने की एक चाल है.

    ऐसे चली जाती है अंडा महंगा कराने को चाल
    एक अंडा कारोबारी ने बताया, 6 और 7 दिसम्बर को अंडे के दाम 420 और 423 रुपये प्रति सैंकड़ा तक पहुंच गए. इसी दौरान आरडी की अफवाह उड़ा दी गई. जिसकी तैयारी कई दिन पहले से चल रही थी. बड़े कारोबारियों ने बीमारी का हवाला देते हुए पोल्ट्री मालिक से 420 और 423 रुपये के भाव से अगले 10 दिन या उससे भी ज़्यादा के लिए सौदा कर लिया. और इसके अगले ही दिन अंडा 485 के भाव पर पहुंच गया. 10 दिसम्बर को मंडी ने अंडे का भाव 483 रुपये तय किया.

    लेकिन ओपन मार्केट में अंडा 490 से 493 रुपये तक के भाव पर बिका. क्योंकि पोल्ट्री वाले को तो रोजाना मुर्गियों को दाना खिलाने के लिए भी रुपये चाहिए है, वर्ना मुर्गियों का वजन कम हो जाएगा और अंडा भी कमजोर होगा. बीमारी की बात सुनकर वो घबरा जाते हैं. इसी का फायदा बड़े कारोबारी उठाते हैं. इसका असर अजमेर मंडी पर भी पड़ा तो वहां अंडा 500 रुपये से भी ऊपर बिक रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.