Home /News /business /

Bird Flu की खबरों के बीच भी इसलिए महंगा हो सकता है अंडा

Bird Flu की खबरों के बीच भी इसलिए महंगा हो सकता है अंडा

रोजाना अंडे और चिकिन से होता है करोड़ों का कारोबार

रोजाना अंडे और चिकिन से होता है करोड़ों का कारोबार

देश की सबसे बड़ी मंडियों में से एक हरियाणा की मंडी में अंडे का प्रोडक्शन 25 फीसदी तक कम हो गया है. दूसरी ओर बर्ड फ्लू की खबरों के बीच पोल्ट्री कारोबार भी सहमा हुआ है. एक मंडी में 10 हजार से लेकर एक लाख व उससे भी ज्यादा अंडे होते हैं.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. राजस्थान (Rajasthan), मध्य प्रदेश, गुजरात और झारखंड में पक्षियों खासकर कौओं के मरने की खबरें आ रही हैं. ऐसी चर्चा है कि बर्ड फ्लू (Bird Flu) के चलते पक्षियों की मौत हो रही है. बर्ड फ्लू की दस्तक की आशंका से पोल्ट्री (Poultry) कारोबार भी सहमा हुआ है. क्योंकि एक पोल्ट्री फार्म में 10 हज़ार से लेकर एक लाख तक और उससे भी ज़्यादा मुर्गियां होती हैं. लेकिन बावजूद इसके कड़ाके की सर्दी के बीच देश की सबसे बड़ी अंडा (Egg) मंडी बरवाला में अंडा महंगा हो सकता है. हरियाणा (Haryana) की इस मंडी में अंडे का प्रोडक्शन 25 फीसद तक कम हो गया है. ऐसा एक बीमारी के चलते हुआ है.

    अभी 7-8 दिन पहले तक बरवाला मंडी में 100 अंडे के दाम 550-560 रुपये तक थे. दो दिन पहले ही दाम कम होकर 535 रुपये पर आए थे. लेकिन सर्दियों में अंडे की डिमांड ज़्यादा होने और आरडी के चलते अब प्रोडक्शन कम होने पर अंडे के दाम फिर से बढ़ सकते हैं. गौरतलब रहे कि बीते एक महीने से अंडे के 535 रुपये से नीचे नहीं आए हैं, जबकि एक महीने पहले तक 420 से 423 रुपये प्रति सैंकड़ा तक अंडा बिक रहा था.

    बरवाला में रोज़ाना 1 से 1.25 करोड़ तक अंडा बिकता है
    बरवाला एग ट्रेडर्स ऐसोसिएशन के वाइस प्रेसीडेंट मोहम्मद अफज़ाल ने मोबाइल पर न्यूज18 हिंदी को बताया, “हमारे यहां बर्ड फ्लू जैसी कोई बात नहीं है. लेकिन हां, मुर्गियों में आरडी (रानीखेत डीज़ीज़) हो गई है. इसकी वजह से मुर्गियों को मोल्डिंग पर लगाया गया है. इसी की वजह से अंडे का प्रोडक्शन कम हो गया है और रेट बढ़ रहे हैं. रही बात बर्ड फ्लू की तो यह बीमारी तो कब की देश से खत्म हो चुकी है.”



    क्या आप जानते हैं, ट्रेन से एक पशु के कटने पर रेलवे को होता है करोड़ों का नुकसान

    क्या होती है आरडी बीमारी?
    पोल्ट्री फार्म के मालिक अनिल शाक्या ने बताया, “आरडी बीमारी होने पर मुर्गियों का एक पैर आगे और एक पीछे की तरफ चला जाता है. मुर्गियों की गर्दन अकड़ जाती है. ऐसा होने के कुछ देर बाद ही मुर्गियां मरने लगती हैं. लेकिन अब इसका वैक्सीन भी आ गया है. मुर्गियों को दवाई भी दी जाती है. आरडी के लक्षण दिखने पर मुर्गियों को 10 से 15 दिन तक मोल्डिंग पर रखा जाता है. इस दौरान उन्हें सिर्फ दवाई दी जाती है. मोल्डिंग में मुर्गियां अंडा नहीं देती हैं.”undefined

    Tags: Business news in hindi, Egg Price, Egg Price in India

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर