होम /न्यूज /व्यवसाय /...तो क्या मुर्गियों पर आई इस मुसीबत की वजह से महंगा होने लगा अंडा!

...तो क्या मुर्गियों पर आई इस मुसीबत की वजह से महंगा होने लगा अंडा!

सर्दियों में फिर महंगा हुआ अंडा

सर्दियों में फिर महंगा हुआ अंडा

अंडे की कीमतों में अचानक तेज उछाल के बाद यह 490 रुपये प्रति सैकड़ा के स्तर पर पहुंच गया है. मुर्गी पालन से जुड़े लोगों ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. न्यूनतम रेट पर जाने के बाद 24 घंटे में ही अंडे (Egg) में फिर से उछल आ गई है. देखते ही देखते अंडे के भाव (Egg Rate) 490 रुपये तक पहुंच गए हैं. अंडा बाज़ार (Egg Market) के जानकार खुद हैरत में हैं कि यह हो क्या रहा है. बाज़ार के मिजाज़ के मुताबिक 5-10 रुपये तो ऊपर-नीचे होते रहते हैं, लेकिन यहां तो भाव एकदम से 60 से 65 रुपये प्रति सैंकड़ा तक बढ़ गए हैं. हालांकि कुछ लोग दबी ज़ुबान से इसके पीछे हरियाणा में मुर्गियों पर आई मुसीबत बता रहे हैं. इस मुसीबत के चलते मुर्गियां अब 10 से 15 दिन तक अंडा नहीं देंगी. जिसके चलते सीजन के दौरान अंडे की कमी हो गई है.

    24 घंटे में ही न्यूनतम से अधिकतम के भाव पर आ गया अंडा
    अंडा बाज़ार के जानकार अनिल शाक्या बताते हैं, 6 और 7 दिसंबर को अचानक से अंडे के दाम इतने नीचे चले गए कि अंडा बाज़ार में हलचल मच गई. अंडे का भाव इस सीजन के सबसे निचले स्तर पर चला गया. लेकिन 8 दिसम्बर की शाम से अंडे के भाव जो ऊपर चढ़ना शुरु हुए तो बुधवार को 485 और 490 रुपये तक पहुंच गए. जबकि 6 दिसम्बर को अंडा प्रति सैंकड़ा 423 और 7 दिसम्बर को 420 रुपये थे. लेकिन 8 दिसम्बर की शाम से अंडे के भाव में तेजी आनी शुरु हो गई. देश की सबसे बड़ी हरियाणा में बरवाला मंडी का भाव 9 दिसम्बर को 485 रुपये पर आ गया. लखनऊ और वाराणसी में 490 रुपये तक पहुंच गया.

    Good News: FSSAI ने कहा-अब सस्ता हो जाएगा सरसों का तेल, हटी ब्‍लेंडिंग की रोक

    क्या मुर्गियों को आरडी हो गई है!
    सूत्रों की मानें तो हरियाणा के बरवाला में मुर्गियों को आरडी की परेशानी हो गई है. आरडी के तहत मुर्गियों के पेट में तकलीफ हो जाती है. जिसके चलते मुर्गियों को लगातार दवाई दी जाती है. मुर्गियों को मोल्डिंग पर रख दिया जाता है. जिसके तहत मुर्गियों को दाना नहीं खिलाया जाता है. सिर्फ दवाई दी जाती है. खुराक के हिसाब से दाना नहीं मिलने पर मुर्गी अंडा भी नहीं देती है. पोल्ट्री फार्म हाउस (Poultry farm House) में ऐहतियात बरतते हुए दूसरे फार्म की अंडे वाली गाड़ियों को पोल्ट्री वाले अपने फार्म में भी नहीं आने दे रहे हैं. अंडा लोड करने के लिए खाली गाड़ियां मंगाई जा रही हैं. जानकारों की मानें तो बरवाला मंडी से हर रोज एक से सवा करोड़ अंडा सप्लाई होता है.

    यह बोली बरवाला एग एसोसिएशन
    एग ट्रेडर्स ऐसोसिएशन के वाइस प्रेसीडेंट मोहम्मद अफज़ाल बताते हैं कि मुर्गियों को होने वाली आरडी एक सामान्य परेशानी है. हो सकता है दो-चार पोल्ट्री फार्म में इस तरह की शिकायत आ गई होगी. लेकिन ऐसा नहीं है कि पूरे बरवाला के 300 से 350 पोल्ट्री फार्म में आ गई है. यह परेशानी तो हर वक्त किसी न किसी फार्म में बनी रहती है. रेट किसी एक वजह से नहीं बढ़े हैं. सीजन भी है तो डिमांड ज़्यादा आ रही है.

    Tags: Business news in hindi, Egg Price, Egg Price in India

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें