होम /न्यूज /व्यवसाय /

9 महीने में 147 वाला स्टॉक पहुंच गया ₹7,779, आखिर ऐसा क्या करती है कंपनी?

9 महीने में 147 वाला स्टॉक पहुंच गया ₹7,779, आखिर ऐसा क्या करती है कंपनी?

EKI Energy Share Price : अप्रैल 2021 में इस कंपनी का शेयर ₹147 का था. आज (24 दिसंबर 2021 को) इस शेयर का प्राइस ₹7,779 है.

EKI Energy Share Price : अप्रैल 2021 में इस कंपनी का शेयर ₹147 का था. आज (24 दिसंबर 2021 को) इस शेयर का प्राइस ₹7,779 है.

EKI Energy Share Price : अप्रैल 2021 में इस कंपनी का शेयर ₹147 का था. आज (24 दिसंबर 2021 को) इस शेयर का प्राइस ₹7,779 है. इस मल्टीबैगर शेयर ने 5192 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है. EKI Energy के शेयर ने लगभग हर दिन 5% का अपर सर्किट दिया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. अगर कोई कहे कि एक शेयर ने 2021 में ही 5000 प्रतिशत से ज्यादा का रिटर्न दिया है तो शायद कोई भी यकीन नहीं करेगा. और यदि यह कहा जाए कि यह रिटर्न अप्रैल 2021 से अब तक का ही है, तो यकीन करना और भी ज्यादा मुश्किल हो जाएगा. लेकिन यह पूरी तरह सच है. इस शेयर में इतनी ज्यादा तेजी क्यों आई और यह कंपनी करती क्या है? ये सब आज हम आपको इस न्यूज़ आर्टिकल में बताने वाले हैं.

    कंपनी का नाम EKI Energy है. इसी साल अप्रैल 2021 में इस कंपनी का शेयर ₹147 का था. और आप यह जानकर हैरान होंगे कि आज (24 दिसंबर 2021 को) इस शेयर का प्राइस ₹7,779 है. इन दोनों नंबरों में यदि आप प्रतिशत का अंतर निकालेंगे तो आपको पता चलेगा कि इस शेयर ने 5192 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है.

    ये भी पढ़ें – Share Market Update : बुरा रहा आज का दिन लेकिन अच्छा रहा सप्ताह, जानिए बाजार की पूरी हलचल

    मात्र 180 मिलियन जुटाने की प्लानिंग थी

    EKI Energy की स्थापना 2011 में की गई थी. तब से यह कंपनी लगातार अपने क्षेत्र में काम कर रही है. इसी साल अप्रैल 2021 में कंपनी अपना आईपीओ (Initial Public Offering) लाकर लगभग 180 मिलियन रुपए जुटाना चाहती थी. कंपनी का आईपीओ आया, और पहले ही दिन कंपनी ने ₹147 पर लिस्टिंग दी. उसके बाद से यह कंपनी लगातार ग्रोथ कर रही है या यूं कहें कि इसका शेयर लगातार ग्रोथ कर रहा है.

    EKI Energy के शेयर ने लगभग हर दिन 5% का अपर सर्किट दिया है. बीच में कुछ दिन गिरने के बाद शेयर फिर से अपर सर्किट देना शुरू कर देता है. यही वजह है कि खरीददार तो हैं, लेकिन इसे कोई बेचने को तैयार नजर नहीं आता.

    ये भी पढ़ें – Supriya Lifescience IPO: अलॉटमेंट की घोषणा, चेक कीजिए शेयर मिले या नहीं, GMP भी जानिए

    EKI Energy करती क्या है?

    2011 में शुरू हुई EKI Energy Services भारत में कार्बन क्रेडिट (Carbon credit) इंडस्ट्री में बड़ी कंपनियों में से एक है. यह कंपनी जलवायु परिवर्तन सलाहकार (Climate change advisory), कार्बन क्रेडिट ट्रेडिंग (Carbon credits trading), बिजनेस एक्सीलेंस एडवाइजरी (Business excellence advisory) और इलेक्ट्रिकल सेफ्टी ऑडिट (Electrical safety audits) में सेवाएं प्रदान करती है. हालांकि इसका मुख्य बिजनेस कार्बन क्रेडिट की ट्रेडिंग (Trading of carbon credits) कराना है.

    कार्बन क्रेडिट क्या है (What is a carbon credit)?

    कार्बन क्रेडिट एक प्रमाण-पत्र है जो दर्शाता है कि वातावरण से एक टन कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन (Carbon dioxide emission) कम हो गया है. यह अक्सर पेड़ लगाकर, या औद्योगिक अप्लाईकेशन्स जैसे उत्सर्जन बिंदुओं पर कार्बन-घटाने वाले एजेंटों का इस्तेमाल करने जैसी गतिविधियों को अंजाम देकर प्राप्त किया जाता है. इसके बाद कार्बन क्रेडिट का कार्बन बाजार में कारोबार (Trade) किया जा सकता है.

    ये भी पढ़ें – Cryptocurrency prices today : बिटकॉइन में एक बार फिर जबरदस्त उछाल, इथेरियम भी तेज

    वे कंपनियां या उद्योग, जिनके लिए एक टन कार्बन उत्सर्जन की बचत करना काफी महंगा होता है, इन कार्बन क्रेडिट को उन कंपनियों से खरीद लेती हैं, जिनके लिए एक टन कार्बन की बचत करना काफी सस्ता है. उदाहरण के लिए आप एक प्रॉडक्ट बनाते हैं तो उसमें 100 रुपये का खर्च आता है, लेकिन कोई दूसरा वही प्रॉडक्ट 30 रुपये या 50 रुपये में बनाकर बाजार में बेचता है. ऐसे में आपके लिए बेहतर होगा कि सस्ता बेचने वाले से ही खरीद लिया जाए, बयाज खुद बनाने के.

    यह पर्यावरणीय संकटों को कम करने, ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन को कम करने और बाजार के नए अवसर पैदा करने में मदद करता है. यह कंपनी पिछले 12 सालों से बाजार में इन्किंग इंटरनेशनल (Enking International) नाम से कारोबार कर रही है. इसके पास NTPC, NHPC, Indian Oil Corporation, Indian Railways, SB Energy, The World Bank, और Fortum समेत 2 हजार से ज्यादा क्लाइंट्स हैं.

    Tags: Multibagger stock, Stocks

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर