क्या आप जानते हैं Elon Musk, Jeff Bezos जैसे अमेरिकी अरबपति ना के बराबर भरते हैं टैक्स

ये अमेरिकी अरबपति नहीं भरते टैक्स

ये अमेरिकी अरबपति नहीं भरते टैक्स

क्या आप जानते हैं अमेरिका के 25 सबसे अमीर लोग सरकार को कोई टैक्स नहीं देते हैं. इन रईसों में जेफ बेजोस, माइकल ब्लूमबर्ग और एलन मस्क जैसे दुनिया के सबसे बड़े रईस शामिल है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 10, 2021, 10:49 AM IST
  • Share this:

क्या आप जानते हैं अमेरिका के 25 सबसे अमीर लोग सरकार को कोई टैक्स नहीं देते हैं. इन रईसों में जेफ बेजोस, माइकल ब्लूमबर्ग और एलन मस्क जैसे दुनिया के सबसे बड़े रईस शामिल है. न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी एक खबर में ProPublica की रिपोर्ट के अनुसार, 2014 से 2018 के बीच इन रईसों ने अपनी कमाई के हिसाब से या तो बहुत कम टैक्स दिया या फिर बिल्कुल नहीं के बराबर टैक्स दिया. ProPublica ने डाटा जारी करते हुए कहा कि वह अरबपतियों के आयकर पर आंतरिक राजस्व को लेकर विश्लेषण कर रही थी.

इस लिस्ट में ये अरबपति हैं शामिल

इस लिस्ट में जेफ बेजोस, माइकल ब्लूमबर्ग, एलन मस्क, वारेन बफेट, बिल गेट्स, रूपर्ट मर्डोक और मार्क जुकरबर्ग सहित 25 अमेरिकी अबरपति शामिल हैं. इस रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में टैक्स सिस्टम में काफी असमानता है. वहां के बिलिनेयर्स जैसे जेफ बेजोस, एलन मस्क, वॉरेन बफेट, माइकल ब्लूमबर्ग वहां के टैक्स सिस्टम की खामियों का गलत फायदा उठाते आए हैं. इस विश्लेषण से ही पता चला कि अमेरिका के सबसे अमीरों ने अपनी संपत्ति का केवल एक अंश करों में भुगतान किया है, जबकि उनकी संपत्ति लगातार बढ़ती रही.

ये भी पढ़ें: Gold Price: सोने में निवेश करने का बढ़ रहा ट्रेंड, इन 4 बेस्ट ऑप्शन में आप भी लगा सकते हैं पैसा
जेफ बेजोस ने दिया जीरो टैक्स

रिपोर्ट में प्रो पब्लिका का कहना है कि 2007 में जेफ बेजोस ने फेडरल इनकम टैक्स के रूप में एक भी पैसा जमा नहीं किया. जबकि टेस्ला के चीफ एलन मस्क ने 2018 में इनकम टैक्स का भुगतान नहीं किया है. इसके अलावा माइकल ब्लूमबर्ग हाल के वर्षों में ऐसा ही करने में कामयाब रहे। जॉर्ज सोरोस ने लगातार तीन साल तक कोई संघीय आयकर नहीं दिया.

इस तरह से बचाते हैं टैक्स



ज्यादातर धन जो ये अमीर कमाते हैं उनके द्वारा चलाई जा रही कंपनियों के शेयर, वेकेशन होम्स, यॉट या अन्य निवेश 'टैक्सेबल इनकम' के दायरे में ही नहीं आते हैं. इन्हें तभी टैक्सेबल माना जाता है जब उन संपत्तियों को बेचते हैं और फायदा उठाते है. इसके बाद भी टैक्स कोड में कई खामियां हैं जो उनकी टैक्स देनदारी को या तो सीमित कर देते हैं या खत्म कर देते हैं.

ये भी पढ़ें: PNB और IDBI बैंक दे रहे सेविंग अकाउंट पर मोटा मुनाफा कमाने का मौका, जानें कैसे?

इधर व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जेन साकी ने एक ब्रीफिंग में कहा कि किसी भी व्यक्ति द्वारा गोपनीय जानकारी का कोई भी अनधिकृत खुलासा अवैध है. इस मामले में एफबीआई और कर अधिकारी जांच कर रहे हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज