अपना शहर चुनें

States

एलन मस्क की टेस्ला से भारत में 2.8 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार, कर्नाटक के सीएम ने कही ये बड़ी बात

टेस्ला की भारत में एंट्री
टेस्ला की भारत में एंट्री

अमेरिकी इलेक्ट्रिक कार निर्माता कंपनी टेस्ला (Tesla) अपनी पहली मैन्युफैक्चरिंग यूनिट कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में लगाएगी. इसकी जानकारी शनिवार को कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने दी. उन्होने कहा कि राज्य के तुमकुर जिले में एक इंडस्ट्रियल कॉरिडोर भी बनाया जाएगा. इसकी लागत करीब 7725 करोड़ रुपये आएगी और इससे 2.8 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 14, 2021, 10:33 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अमेरिकी इलेक्ट्रिक कार निर्माता कंपनी टेस्ला (Tesla) अपनी पहली मैन्युफैक्चरिंग यूनिट कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में लगाएगी. इसकी जानकारी शनिवार को कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने दी. राज्य के सीएम येदियुरप्पा के बयान के मुताबिक अमेरिकी फर्म टेस्ला कर्नाटक में एक इलेक्ट्रिक कार मैन्युफैक्चरिंग यूनिट खोलेगी. उन्होने आगे कहा कि राज्य के तुमकुर जिले में एक इंडस्ट्रियल कॉरिडोर भी बनाया जाएगा. इसकी लागत करीब 7725 करोड़ रुपये आएगी और इससे 2.8 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा.
भारत में एंट्री करने को लेकर पिछले साल किया था ऐलान
बता दें कि अमेरिकी इलेक्ट्रिक कार कंपनी ने जनवरी में भारत में दस्तक दी थी, जब उसने एक कंपनी भारत में रजिस्ट्रेशन कराई थी. पिछले महीने, टेस्ला ने अपनी सब्सिडियरी कंपनी टेस्ला इंडिया मोटर्स एंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (Tesla India Motors and Energy Private Limited) के नाम से बेंगलुरु में कंपनी का रजिस्ट्रेशन कराया है. टेस्ला के फाउंडर और CEO एलन मस्क ने पिछले साल ट्विटर पर कहा था कि कंपनी की योजना 2021 तक निश्चित रूप से भारत में एंट्री करने की है. टेस्ला भारत में अपने मॉडल 3 सेडान कार से साथ एंटर करने की तैयारी में है। इस इलेक्ट्रिक कार की कीमत 60 लाख रुपये के करीब रहने की संभावना है.

यह भी पढ़ें- TikTok के भारतीय ऑपरेशंस को बेचने की तैयारी, Glance से चल रही है बातचीत
नितिन गडकरी ने दी थी टेस्ला की एंट्री की जानकारी
टेस्ला के भारत में आने की खबर सबसे पहले यूनियन रोड एंड ट्रांसपोर्ट एड हाइवे मिनिस्टर नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने दी थी. दिसंबर में गडकरी ने कहा था कि कहा था कि टेस्ला अगले साल की शुरुआत में भारत में अपना ऑपरेशन शुरू कर देगी. उन्होंने कहा था कि भारत में अगले पांच साल में दुनिया का सबसे बड़ा इलेक्ट्रिक वाहन उत्पादक बनने की क्षमता है। टेस्ला की भारत में ऐसे समय में एंट्री हो रही है, जब केंद्र और राज्य सरकारें वायु प्रदूषण को कम करने की कोशिश में जुटी हुई हैं.





यह भी पढ़ें- शिरडी और शनि शिंगनापुर जाने वाले भक्तों के लिए IRCTC का सस्ता टूर पैकेज, जानें पूरी डिटेल

राजस्थान सरकार ने भी दिया था ऑफर
भारत में टेस्ला का कारोबार कर्नाटक से शुरू होगा लेकिन इससे पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी टेस्ला कंपनी को ऑफर दिया था कि वो भिवाड़ी में टेस्ला का प्लांट लगाएं. फिलहाल टेस्ला ने बैंगलुरू में ऑफिस रजिस्टर कराया है लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि अब टेस्ला राजस्थान में कारोबार नहीं करेगी. पहले ऑफिस के बाद भारत के दूसरे शहरों में भी टेस्ला अपने ऑफिस खोल सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज