Home /News /business /

सरकारी अधिकारियों को टिकट जारी करने से एअर इंडिया ने किया मना, बताई ये वजह

सरकारी अधिकारियों को टिकट जारी करने से एअर इंडिया ने किया मना, बताई ये वजह

एअर इंडिया

एअर इंडिया

भारी कर्ज के बोझ में डूबी एअर इंडिया (Air India) ने सरकारी अधिकारियों को क्रेडिट पर टिकट जारी करने पर रोक लगा दिया है.

    नई दिल्ली. भारी कर्ज की बोझ में डूबी एअर इंडिया (Air India) ने सरकारी ​अधिकारियों को बिना क्रेडिट के टिकट जारी करने से मना कर दिया है. इनमें केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI), प्रवर्तन निदेशालय (ED), इन्फॉर्मेशन ब्यूरो, सेंट्रल लेबर इंस्टीट्यूट, बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स और इंडियन ऑडिट ब्यूरो के अधिकारियों का टिकट शामिल है.

    सरकारी एजेंसियों को 268 करोड़ रुपये का किराया
    इन प्रत्येक एजें​सियों का एअर इंडिया पर करीब 10 लाख रुपये बकाया है. इस संबंध में एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि सरकारी एजेंसियों (Government Agencies) का बकाया करीब 268 करोड़ रुपये का है.

    ये भी पढ़ें: पाकिस्तान से आए इस आतंक ने सरकार की उड़ाई नींद! जानें क्या है मामला

    रिकवर किया 50 करोड़ रुपये का किराया
    उन्होंने आगे कहा कि इनमें एअर इंडिया द्वारा करीब 50 करोड़ रुपये बकाया रिकवर किया जा चुका है. अधिकारी के मुताबिक, इन सरकरी एजेंसियों के अधिकारी आम लोगों की तरह ही टिकट खरीद सकते हैं. उन्हें सरकारी की क्रेडिट के आधार पर टिकट नहीं जारी किया जाएगा.

     

    एअर इंडिया पर 60 हजार करोड़ रुपये का कर्ज
    बीते 5 दिसंबर को सीविल एविएशन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने संसद में कहा था कि प्रीलिमिनरी इन्फॉर्मेशन मेमोरेंडम यानी पीआईएम की तैयारी शुरू हो चुकी है ताकि एअर इंडिया के विनिवेश के लिए बोली मंगाई जा सके. वित्त वर्ष 2018-19 में एअर इंडिया को कुल 8,556 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. मौजूदा समय पर इस सरकारी एयरलाइन पर करीब 60 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है.

    ये भी पढ़ें: इस सरकारी स्कीम के लिए जरूरी हुआ आधार कार्ड, नहीं तो रुक सकता है आपका पैसा

    Tags: Air india, Air India Sale, Business news in hindi, Central Bureau of Investigation

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर