लाइव टीवी

खुशखबरी! 6 करोड़ PF खाताधारकों मिलेगा पहले से ज्यादा ब्याज, श्रम मंत्रालय ने ब्याज दर बढ़ाई

पीटीआई
Updated: September 24, 2019, 10:00 PM IST
खुशखबरी! 6 करोड़ PF खाताधारकों मिलेगा पहले से ज्यादा ब्याज, श्रम मंत्रालय ने ब्याज दर बढ़ाई
6 करोड़ PF खाताधारकों मिलेगा पहले से ज्यादा ब्याज

श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने मंगलवार को कहा कि अब यह ब्याज कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के 6 करोड़ खाताधारकों के खातों में डाला जाएगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. श्रम मंत्रालय (Labour Ministry) ने मंगलवार को वित्त वर्ष 2018-19 के लिए इम्प्लॉई प्रोविडेंट फंड (EFP) पर 8.65 फीसदी के ब्याज दर को अधिसूचित कर दिया है. श्रम मंत्रालय के इस फैसले से 6 करोड़ पीएफ (PF) खाताधारकों को फायदा होगा. श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने मंगलवार को कहा कि अब यह ब्याज कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के 6 करोड़ खाताधारकों के खातों में डाला जाएगा.

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने इस साल फरवरी में वित्त वर्ष 2018-19 के लिए EPF पर 8.65 फीसदी ब्याज दर देने का फैसला किया था, लेकिन वित्त मंत्रालय से मंजूरी नहीं मिल पाने के कारण आज तक इसे सब्सक्राइबर्स के खातों में क्रेडिट नहीं किया जा सका था.

पहले से ज्यादा मिलेगा ब्याज
अभी तक EPFO 2017-18 के लिए मंजूर ब्याज दर 8.55 फीसदी के हिसाब से EPF निकासी दावों का निपटान कर रहा था. गंगवार ने बयान में कहा कि मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि श्रम मंत्रालय ने 2018-19 के लिए EPF पर 8.65 फीसदी की ब्याज दर को अधिसूचित कर दिया है. यह 2017-18 की तुलना में 0.10 फीसदी अधिक है. उन्होंने कहा कि इस फैसले के बाद छह करोड़ अंशधारकों के खातों में 2018-19 के लिए 8.65 फीसदी की ब्याज दर के हिसाब से 54,000 करोड़ रुपये डाले जाएंगे.



ये भी पढ़ें: SBI ने सरकार को दिया सुझाव, सीनियर सिटीजन स्कीम में अर्जित ब्‍याज टैक्स फ्री की जाए



EPFO के पास अब 151 करोड़ का सरप्लस
न्यूज एजेंसी ने 19 सितंबर को ही खबर दी थी कि सरकार ने वित्त वर्ष 2018-19 के लिए ईपीएफ पर 8.65 फीसदी की ब्याज दर को मंजूरी दे दी है. वित्त वर्ष 2018-19 में ईपीएफ पर 8.65 फीसदी ब्याज दर देने के बाद ईपीएफओ के पास केवल 151 करोड़ रुपये का सरप्लस बचा है, जो पहले के स्तर से कम है. वित्त वर्ष 2017-18 में उसके पास 586 करोड़ रुपये का सरप्लस था.

क्या होता है EPF?
आपको बता दें कि एम्प्लॉइज प्रॉविडेंट फंड (Employee Provident Fund) यानी EPF सैलरी पाने वाले कर्मचारियों को रिटायरमेंट के बाद आर्थिक फायदा देने वाली स्कीम है, जो एम्प्लॉइज़ प्रॉविडेंट फंड ऑर्गनाइजेशन द्वारा चलाई जाती है. इसकी ब्याज दरें सरकार तय करती है. हर महीने कंपनी सभी कर्मचारियों की बेसिक सैलरी से 12 फीसदी पैसा काटकर PF के खाते में डाल देती है. कर्मचारियों के साथ-साथ कंपनी की ओर से भी 12 फीसदी पैसा उस कर्मचारी के PF खाते में डाला जाता है.

ये भी पढ़ें: 

सरकार ने दिया तोहफा, अब किश्तों में हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान करें

सरकार ने किया पेंशन नियमों में बदलाव, अब इन लोगों को मिलेंगे ज्यादा पैसे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 24, 2019, 8:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading