1 महीने की नौकरी में इम्प्लॉई की मौत होने पर भी PF नॉमिनी को हर महीने मिलती है पेंशन

पेंशन संबंधित कर्चारी की सैलरी के हिसाब से तय होगी. इसके अलावा दो बच्चों को 25 साल के होने तक पेंशन का 25% अमाउंट हर महीने मिलता है. नॉमिनी को 6 लाख रुपये का बीमा क्लेम में भी मिलता है.

News18Hindi
Updated: February 12, 2019, 8:07 AM IST
1 महीने की नौकरी में इम्प्लॉई की मौत होने पर भी PF नॉमिनी को हर महीने मिलती है पेंशन
सांकेतिक तस्वीर
News18Hindi
Updated: February 12, 2019, 8:07 AM IST
अगर नौकरी करते हुए किसी इन्पलॉई की अचानक मौत हो जाए तो EPFO उसके परिवार का बड़ा सहारा बन सकता है. EPFO के नियम के मुताबिक अगर किसी इम्पलॉई की मौत नौकरी
ज्‍वॉइन करने के एक महीने बाद भी हो जाती है तो नॉमिनी को पेंशन मिलेगी. हालांकि पेंशन संबंधित कर्मचारी की सैलरी के हिसाब से तय होगी. इसके अलावा दो बच्चों को 25 साल के होने तक पेंशन का 25% अमाउंट हर महीने मिलता है. नॉमिनी को 6 लाख रुपये का बीमा क्लेम में भी मिलता है.

इसके अलावा भी EPFO के कई ऐसे जरूरी नियम हैं जो हर किसी को जानने चाहिए. क्या हैं ये नियम चलिए जानते हैं-

# कोई भी PF सब्सक्राइबर दो महीने तक बेरोजगार होने पर अपना फंड निकाल सकता है.

# अगर कोई इम्पलॉई 5 साल या इससे ज्यादा वक्त तक PF कटवाता है तो फिर उसे फंड निकालने पर इनकम टैक्स नहीं देना होता.



# हेल्थ प्रॉब्लम या एम्पलॉयर द्वारा बिजनेस बंद करने से किसी की नौकरी जाती है तो भी फंड निकालने पर कोई टैक्स नहीं देना होता.

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार का तोहफा, 55 रु मंथली लगाकर हर महीने मिलेगी 3000 रुपए की पेंशन
Loading...

# घर खरीदने/कंस्ट्रक्शन करवाने, मेडिकल ट्रीटमेंट, खुद की या फैमिल मेंबर्स की शादी के लिए एडवांस्ड पीएफ निकाला जा सकता है.

# परिवार के किसी भी सदस्य जैसे बच्चे, भाई, बहन या खुद की शादी के लिए PF से 50% पैसा निकाला जा सकता है, लेकिन शर्त ये है कि सब्सक्राइबर 7 सालों से EPFO का सदस्य हो.

# बच्चों के 10वीं के बाद की पढ़ाई के लिए EPF से ब्जाय के साथ अपने हिस्से का 50% हिस्सा निकाला जा सकता है. इसके लिए भी EPFO की कम से कम 7 सालों की सदस्यता जरूरी है.

ये भी पढ़ें: ध्यान दें! एक से ज्यादा बैंक खाता है तो संभल जाएं, वरना हो सकता है नुकसान

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...