ESIC और SBI ने मिलकर शुरू की नई सर्विस, 3.6 करोड़ कर्मचारियों के खाते में सीधे आएंगे पैसे

ESIC के सभी लाभार्थियों को SBI सीधे उनके बैंक खाते में ई-भुगतान की सेवा (E-Payment Services) देगा.

News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 10:49 AM IST
ESIC और SBI ने मिलकर शुरू की नई सर्विस, 3.6 करोड़ कर्मचारियों के खाते में सीधे आएंगे पैसे
DBT सुविधा के लिए ESIC और SBI के बीच समझौता
News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 10:49 AM IST
नई दिल्ली. कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) ने डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) सुविधा के लिए भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के साथ समझौता किया है, ताकि वह अपने सभी भागीदारों (Stakeholders) को सीधे उनके बैंक खाते (Bank Account) में भुगतान कर सके. ESIC ने एक बयान में कहा कि दोनों पक्षों के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर हुए हैं. इसके अनुसार ईएसआईसी के सभी लाभार्थियों को SBI सीधे उनके बैंक खाते में ई-भुगतान की सेवा (E-Payment Services) देगी. यह एकीकृत और स्वचालित प्रक्रिया होगी जिसमें कोई मानवीय हस्तक्षेप नहीं होगा.

बयान के अनुसार बैंक ई-भुगतान (E-Payment) से ईएसआईसी के लाभार्थियों के साथ-साथ अन्य भुगतान पाने वालों को भी वास्तविक समय में फायदा पहुंचाएगा. यह समय की बचत और भुगतान में देरी को कम करेगा. इस सुविधा से ESIC के सभी हिस्सेदारों को लाभ होगा.

इन कर्मचारियों को मिलता है ईएसआई का लाभ
ESI योजना का लाभ उन कर्मचारियों को मिलता है, जिनकी मासिक आय 21 हजार रुपये से कम हो और जो कम से कम 10 कर्मचारियों वाली कंपनी में काम करते हों. आपको बता दें कि 2016 तक मासिक आय की सीमा 15 हजार रुपये थी, जिसे 1 जनवरी, 2017 से बढ़ाकर 21 हजार रुपये किया गया था.

ये भी पढ़ें : नौकरी लगते ही जरूर खरीदें हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी, बीमारी में नहीं खर्च करना पड़ेगा मोटा पैसा

देशभर में ESIC के हैं 151 अस्पताल
मौजूदा समय में देश भर में ESIC के 151 अस्पताल हैं. इन अस्पतालों में सामान्य से लेकर  गंभीर बीमारियों के इलाज की सुविधा उपलब्ध है. अभी तक ईएसआईसी अस्पताल में ईएसआईसी के कवरेज में शामिल लोगों को ही इलाज की सुविधा मिलती थी, लेकिन अब सरकार ने इसे आम लोगों के लिए भी खोल दिया है.
Loading...

इस योजना के फायदे
>> ईएसआई में पंजीकृत व्यक्ति अपने तथा अपने परिवार के सदस्य का चिकित्सा उपचार कराने का हकदार होता है.
>> चिकित्सा सुविधा हेतु डिस्पेंसरी का उपलब्ध होना.
>> ईएसआई हॉस्पिटल में कैशलेस सेवा का उपलब्ध होना.
>> महिला कर्मचारी मातृत्व लाभ लेने की पात्र होंगी.
>> कुछ निश्चित परिस्थितियों में व्यक्ति इस अधिनियम के तहत बेरोजगारी भत्ते के लिए पात्र होगा.

ये भी पढ़ें: SBI ग्राहकों को देगी ये नई सर्विस, फ्री मिलेगा 2 लाख का बीमा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 9:55 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...