अपना शहर चुनें

States

नौकरी करने वालों के लिए 3 की जगह 1 महीने का होना चाहिए नोटिस पीरियड: रिपोर्ट

सर्वे में शामिल हर 10 में से 8 कर्मचारियों ने कहा, 3 के बजाय 1 महीने का होना चाहिए नोटिस पीरियड.
सर्वे में शामिल हर 10 में से 8 कर्मचारियों ने कहा, 3 के बजाय 1 महीने का होना चाहिए नोटिस पीरियड.

सर्वे में शामिल हर 10 में से 8 कर्मचारियों ने कहा, 3 के बजाय 1 महीने का होना चाहिए नोटिस पीरियड.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2019, 7:04 PM IST
  • Share this:
IT सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारी लंबे नोटिस पीरियड से परेशान हैं. हर 10 में से 8 कर्मचारी चाहते हैं कि नोटिस पीरियड तीन महीने के बजाय एक महीने का कर दिया जाना चाहिए. एचआर टेक प्लेटफॉर्म हश (Hush) ने मेट्रो शहरों मे आईटी कंपनियों के 2800 कर्मचारियों पर किए गए एक सर्वे के बाद नतीजा निकाला है. (ये भी पढ़ें: बिना देरी करे बनवा लें ये 5 डाक्यूमेंट्स वरना नहीं मिलेगा 'न्यूनतम आय गांरटी का फायदा)

सीनियर एचआर प्रोफेशनल्स का भी मानना है कि तीन महीने के नोटिस पीरियड की जरूरत नहीं है और इसका उपयोग केवल खास हालात में और बहुत सीनियर लेवल पर किया जाना चाहिए.

सर्वे की मुख्य बातें-



- सर्वे में शामिल हर 10 में से 8 कर्मचारियों ने कहा, 3 के बजाय 1 महीने का होना चाहिए नोटिस पीरियड
- सर्वे में 93 प्रतिशत लोगों ने कहा कि तीन महीने का नोटिस पीरियड असुविधाजनक है
- 80 फीसदी लोगों का यह मानना है कि कर्मचारियों के साथ नोटिस पीरियड को लेकर भेदभाव होता है
- 91 फीसदी लोगों ने कहा कि नॉलेज ट्रांसफर के लिए भी लंबे नोटिस पीरियड की जरूरत नहीं है
- सर्वे में शामिल कर्मचारियों में से 51 प्रतिशत जूनियर लेवल के थे, जबकि 31 प्रतिशत मिड लेवल के थे.

ये भी पढ़ें: गरीबों को हर महीने सैलेरी की गारंटी! बजट में हो सकता है ऐलान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज