नौकरी करने वालों के लिए खुशखबरी! आपके PF को लेकर शुरू हुई WhatsApp सर्विस

EPFO ने सब्‍सक्राइबर्स की समस्‍याओं का तेजी से समाधान करने के लिए व्हाट्सऐप हेल्‍पलाइन सर्विस शुरू की है.
EPFO ने सब्‍सक्राइबर्स की समस्‍याओं का तेजी से समाधान करने के लिए व्हाट्सऐप हेल्‍पलाइन सर्विस शुरू की है.

श्रम मंत्रालय (Labour Ministry) ने बताया कि एम्‍प्‍लॉय प्रॉविडेंट फंड ऑर्गेनाइजेशन (EPFO) ने सब्‍सक्राइबर्स की शिकायतों का तेजी से समाधान (Grievance Redressal) करने के लिए व्‍हाट्सऐप हेल्पलाइन सर्विस (EPFO WhatsApp Helpline Service) शुरू की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2020, 10:25 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एम्‍प्‍लॉय प्रॉविडेंट फंड ऑर्गेनाइजेशन (EPFO) ने अपने सब्‍सक्राइबर्स की शिकायतों के तत्‍काल समाधान (Grievance Redressal) के लिए व्‍हाट्सऐप हेल्पलाइन सर्विस (EPFO WhatsApp Helpline Service) शुरू की है. केंद्रीय श्रम मंत्रालय (Labour Ministry) ने कहा कि यह सुविधा ईपीएफओ को दूसरे माध्‍यमों से मिलने वाली शिकायतों के समाधान के प्‍लेटफॉर्म से अलग है. बता दें कि ईपीएफओ के ऑनलाइन शिकायत समाधान पोर्टल (EPFIGMS Portal), सीपीजीआरएएमएस (CPGRAMS), सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म फेसबुक व ट्विटर और 24 घंटे काम करने वाला कॉलसेंटर सब्‍सक्राइबर्स (Subscribers) की समस्‍याओं का समाधान करता है.

सब्‍सक्राइबर्स ईपीएफओ के रीजनल ऑफिसेस से सीधे कर सकते हैं बात
श्रम मंत्रालय के मुताबिक, ईपीएफओ ने अपने सदस्यों का जीवन ज्यादा आसान बनाने के लिए व्‍हाट्सऐप आधारित हेल्पलाइन व शिकायत निवारण प्रणाली शुरू की है. इस कदम का मकसद अंशधारकों को कोविड-19 के दौरान बिना रुकावट के सेवाओं की डिलिवरी सुनिश्चित करना है. इस पहल से पीएफ अंशधारक व्यक्तिगत स्तर पर ईपीएफओ के रीजनल ऑफिसेस से सीधे बातचीत कर सकते हैं. अब ईपीएफओ के सभी 138 क्षेत्रीय कार्यालयों में व्‍हाट्सऐप हेल्पलाइन सेवाएं शुरू हो चुकी हैं. कोई भी संबंधित पक्ष अपने पीएफ खाता से संबंधित क्षेत्रीय कार्यालय के हेल्पलाइन नंबर पर व्‍हाट्सऐप मैसेज से ईपीएफओ से जुड़ी सेवाओं को लेकर शिकायत कर सकता है.

ये भी देखें- IMF का अनुमान- 2020 में Indian Economy में होगी 10.3% की गिरावट, 2021 में चीन को छोड़ देगी पीछे




आधिकारिक वेबसाइट पर जारी किए रीजनल ऑफिस के व्‍हाट्सऐप नंबर
रीजनल ऑफिसेस के व्‍हाट्सऐप हेल्पलाइन नंबर ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी कर दिए गए हैं. ईपीएफओ के इस हेल्पलाइन का मकसद डिजिटल प्‍लेटफॉर्म को अपनाकर अंशधारकों को आत्मनिर्भर बनाना है. साथ ही बिचौलियों पर उनकी निर्भरता को खत्‍म करना भी इसका मकसद है. शिकायतों का तेजी समाधान सुनिश्चित करने के लिए और व्‍हाट्सऐप के जरिये पूछे गए सवालों का जवाब सुनिश्चित करने के लिए हर क्षेत्रीय कार्यालय में विशेषज्ञों की अलग टीम बनाई गई है. बता दें कि ये हेल्पलाइन शुरूआत के साथ ही काफी पसंद की जाने लगी है.

ये भी पढ़ें- FM निर्मला सीतारमण की घोषणा के बाद केंद्रीय कर्मचारियों को 30 हजार का फायदा लेने के लिए खर्च करने होंगे 3 लाख रुपये

नीचे दी गई लिस्ट में चेक कीजिए अपने PF कार्यालय का WhatsApp नंबर













इस सर्विस से किया जा चुका है 1 लाख से ज्‍यादा शिकायतों का समाधान
ईपीएफओ ने व्‍हाट्सऐप के जरिये अब तक 1,64,040 से ज्यादा शिकायतों का समाधान और सवालों का जवाब दिया है. व्‍हाट्सऐप हेल्पलाइन नंबर जारी होने के बाद ट्विटर (Twitter) और फेसबुक (Facebook) जैसे सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म पर शिकायतों या सवालों में 30 फीसदी की कमी आई है. वहीं, ईपीएफआईजीएमएस पोर्टल पर 16 फीसदी कम शिकायतें दर्ज की गई हैं. ईपीएफओ ने सिर्फ एक वाट्सऐप नंबर जारी नहीं किया है. ईपीएफओ के मुताबिक, एक नंबर जारी करने पर शिकायतों का निस्‍तारण करना मुश्किल हो जाता. इसलिए अलग-अलग राज्यों के लिए कई अलग नंबर जारी किए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज