Home /News /business /

epfo what is edli scheme in which life insurance of 7 lakhs is available without any premium jst

EPFO : क्या है ईडीएलआई स्कीम जिसमें बगैर किसी प्रीमियम के मिलता है 7 लाख रुपये का लाइफ इंश्योरेंस

ईपीएफ खाताधारकों को बगैर कुछ दिए मिलता है 7 लाख रुपये का लाइफ इंश्योरेंस.

ईपीएफ खाताधारकों को बगैर कुछ दिए मिलता है 7 लाख रुपये का लाइफ इंश्योरेंस.

अगर ईपीएफओ के खाताधारक हैं तो आपके पास 7 लाख रुपये की जीवन बीमा पॉलिसी है. ईपीएफओ अपने खाताधारकों को ईडीएलआई स्कीम के तहत यह सुविधा देता है. इसके लिए खातााधारक को अलग से कोई प्रीमियम नहीं देना होता है.

हाइलाइट्स

ईपीएफओ की ईडीएलाई स्कीम में बगैर किसी प्रीमियम के मिलता है लाइफ इंश्योरेंस.
यह राशि कर्मचारी की मृत्यु के बाद उसके नॉमिनी को दी जाती है.
नॉमिनी नहीं होने पर उसके जीवनसाथी या संतान को राशि दी जाती है.

नई दिल्ली. क्या आप जानते हैं कि अगर आप कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के खाताधारक हैं तो आपके पास 7 लाख रूपये का इंश्योरेंस मौजूद है जिसके लिए आपको कोई प्रीमियम भी नहीं देना है. ईपीएफओ खाताधारकों को यह सुविधा इम्‍प्लॉई डिपॉजिट लिंक्‍ड इंश्योरेंस स्‍कीम (EDLI) के तहत मिलती है. स्कीम के तहत नॉमिनी को अधिकतम 7 लाख रुपये का इंश्योरेंस कवर मिलता है.

स्‍कीम में कर्मचारी को कोई भुगतान नहीं करना होता है. खाताधारक की मृत्यु की सूरत में अगर स्कीम के तहत कोई नॉमिनेशन नहीं हुआ है तो मृत कर्मचारी का जीवनसाथी, बेटियां (जिनकी शादी न हुई हो) और नाबालिग बेटे लाभार्थी माने जाएंगे. क्लेम करने वाला अगर 18 साल से कम उम्र का है तो उसकी तरफ से उसका अभिभावक दावा कर सकता है.

ये भी पढ़ें- Investment Tips: रिटायरमेंट के पैसों को यहां करें निवेश, मिलेगा शानदार रिटर्न

किसे मिलेगा लाभ
ईडीएलआई स्कीम के तहत कर्मचारी के नॉमिनी की ओर से उसकी बीमारी, दुर्घटना या स्वाभाविक मृत्यु होने पर इंश्योरेंस मनी का दावा किया जा सकता है. इस कवर की राशि उन कर्मचारियों के परिवारों को तो मिलती ही है जिनका नौकरी के दौरान निधन हुआ हो. साथ ही अगर खाताधारक ने मृत्यु से पहले पिछले 12 महीनों के अंदर एक से अधिक प्रतिष्ठानों में नौकरी की हो तो उसके परिवार को भी यह कवर मिलेगा.

इन दस्‍तावेजों की पड़ती है जरूरत
प्रॉविडेंट फंड अकाउंट से पैसा निकालने के लि‍ए नियोक्‍ता (Employer) के पास जमा होने वाले फॉर्म के साथ इंश्योरेंस कवर का फॉर्म-5 IF भी जमा करना होगा. इस फॉर्म को एंप्लॉयर सत्यापित करेगा. यदि नियोक्ता उपलब्ध नहीं है तो फॉर्म को गजटेड ऑफिसर, मजिस्ट्रेट, ग्राम पंचायत के अध्यक्ष, नगरपालिका या जिला स्थानीय बोर्ड के अध्यक्ष / सचिव / सदस्य, पोस्टमास्टर या सब पोस्टमास्टर में से कोई भी वैरीफाई कर सकता है.

कैसे फाइल करें नॉमिनेशन
इपीएफओ की तरह से सभी खाताधारकों को ई-नॉमिनेशन फाइल करने को कहा गया है ताकि इसका लाभ खाताधारक और उसके परिवार को मिल सके. आप ईपीएफओ की वेबसाइट पर जाकर इसे फाइल कर सकते हैं. यहां आपको ई-सेवा पोर्टल में जाकर लॉग-इन करने के बाद ई-नॉमिनेशन चुनना होगा. यहां फैमिली डिक्लेरेशन को अपडेट कर नॉमिनी की डिटेल भरें. इसके बाद ईपीएफ नॉमिनेशन और ई-साइन ऑप्शन पर क्लिक करें. आपके आधार कार्ड से लिंक फोन नंबर ओटीपी जाएगा इसे दर्ज करें और नॉमिनेशन पूरा हो जाएगा.

Tags: Business news, Business news in hindi, Epfo, Insurance, Life Insurance

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर