नौकरी करने वालों के लिए बड़ी खबर! बदल चुके हैं ESIC के नियम, जानें कैसे उठाएं फायदा

मोदी सरकार (Modi Government) ने स्वास्थ्य से जुड़ी अच्छी सुविधाएं देने के लिए अपने दूसरे कार्यकाल में कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है. आइए आपको बताते हैं (ESI) योजना से किसको और कैसे फायदा मिल सकता है. जानिए कैसे चंद रुपयों में हो सकता है आपका इलाज.

News18Hindi
Updated: August 30, 2019, 8:56 AM IST
नौकरी करने वालों के लिए बड़ी खबर! बदल चुके हैं ESIC के नियम, जानें कैसे उठाएं फायदा
बदल चुकें हैं ESIC के नियम, जानें कैसे उठाएं फायदा
News18Hindi
Updated: August 30, 2019, 8:56 AM IST
मोदी सरकार (Modi Government) ने स्वास्थ्य से जुड़ी अच्छी सुविधाएं देने के लिए अपने दूसरे कार्यकाल में कर्मचारियों (Employees) को बड़ा तोहफा दिया है. सरकार ने कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESI) कंट्रीब्यूशन को 1 जुलाई 2019 से 4% कर दिया है. इसमें एम्प्लॉयर्स का योगदान 3.25 है. तो वहीं कर्मचारियों का योगदान 0.75 फीसदी है. सरकार के इस फैसले से 3.6 करोड़ कर्मचारियों और 12.85 लाख एम्प्लॉयर्स को फायदा हुआ है. इस योगदान में कमी आने से ईएसआई योजना के अंतर्गत आने वाले सभी कर्मचारियों और एम्प्लॉयर्स को फायदा हुआ है. आइए आपको बताते हैं (ESI) योजना से किसको और कैसे फायदा मिल सकता है. जानिए कैसे चंद रुपयों में हो सकता है आपका इलाज.

इन कर्मचारियों को मिलता है ईएसआई का लाभ
ईएसआई योजना का लाभ उन कर्मचारियों को मिलता है, जिनकी मासिक आय 21 हजार रुपए से कम हो और जो कम से कम 10 कर्मचारियों वाली कंपनी में काम करते हों. आपको बता दें कि 2016 तक मासिक आय की सीमा 15 हजार रुपए थी, जिसे 1 जनवरी, 2017 से बढ़ाकर 21 हजार रुपए किया गया था.

ये भी पढ़ें: 10 लाख कमाने वालों के बचेंगे हर साल 50 हजार रुपए!

देशभर में ईएसआईसी के हैं 151 अस्पताल
मौजूदा समय में देश भर में ईएसआईसी के 151 अस्पताल हैं. इन अस्पतालों में समान्य से लेकर लेकर गंभीर बीमारियों के इलाज की सुविधा उपलब्ध है. अभी तक ईएसआईसी अस्पताल में ईएसआईसी के कवरेज में शामिल लोगों को ही इलाज की सुविधा मिलती थी, लेकिन अब सरकार ने इसे आम लोगों के लिए भी खोल दिया है.

इस योजना के फायदे
Loading...

1. ईएसआई में पंजीकृत व्यक्ति अपने तथा अपने परिवार के सदस्य का चिकित्सा उपचार कराने का हकदार होता है.
2. चिकित्सा सुविधा हेतु डिस्पेंसरी इसका उपलब्ध होना.
3. ईएसआई हॉस्पिटल में गैस बेनिफिट और कैशलेस सेवा का उपलब्ध होना.
4. महिला कर्मचारी मातृत्व लाभ लेने के पात्र होंगे.
5. कुछ निश्चित परिस्थितियों में व्यक्ति इस अधिनियम के तहत बेरोजगारी भत्ते के लिए पात्र होगा.

ये भी पढ़ें: जल्द आपके हाथ में आएगी ज्यादा सैलरी! PF में बदलाव की तैयारी

ESI से ईलाज कैसे करायें?
ईएसआईसी से मुफ्त इलाज करवाने हेतु आपके क्षेत्र में ESI की डिस्पेंसरी अथवा हॉस्पिटल जा सकते हैं. आम दवाइयां हेतु जैसे सर्दी-खांसी-जुकाम डिस्पेंसरी से अपना ESI कार्ड अथवा कंपनी से लाई गई दस्तावेज से तुरंत दवाइयां ले सकते हैं. यदि बड़ा इलाज करवाना हो जैसे ऑपरेशन, डिलीवरी इत्यादि बड़े इलाज के लिए सबसे पहले अपने नजदीकी डिस्पेंसरी से अपने ईएसआई कार्ड अथवा कंपनी से लाए गए दस्तावेज के अनुसार बड़े ESI हॉस्पिटल में भर्ती के लिए FORM 4 बनवा सकते हैं इससे बड़े हॉस्पिटल में जाकर मरीज को भर्ती करा कर उसका इलाज करवा सकते हैं.

ESIC Card कैसे डाउनलोड करें
Step 1: इसके लिए आपको सबसे पहले इसकी आधिकारिक वेबसाइट www.esic.in पर जाना होगा, यहाँ पर अपना यूज़र ID और पासवर्ड दर्ज करके लॉगिन करना होगा.
Step 2: अब आपको अगले पेज पर E-pehchan Card की लिंक पर क्लिक करना होगा.

ये भी पढ़ें: बदलने वाला है SBI एटीएम से पैसे निकालने का नियम!

Step 3: अब आपको इस पेज पर जिस भी कर्मचारी की इ-पहचान कार्ड प्रिंट करना है उस कर्मचारी के नाम से सर्च कर सकते है या फिर आप मेंन यूनिट (Main Unit) में देखते है तो आपके नीचे जितने भी कर्मचारी काम करते हैं उन सब की लिस्ट आ जाएगी.
Step 4: आपको जिस किसी भी कर्मचारी की ईएसआई कार्ड प्रिंट करना है उस कर्मचारी के नाम के सामने “View Counter Foil” वाले विकल्प पर क्लिक करना होगा.
Step 5: अब आपको अप्लाई के बटन पर जाकर क्लिक करें और उसके बाद आप प्रिंट आउट भी निकाल सकते है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 5:48 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...