लाइव टीवी
Elec-widget

कम वेतन वालों के लिए सरकार की नई पहल, करोड़ों लोगों को मिलेंगी हेल्थ सर्विसेज

News18Hindi
Updated: November 15, 2019, 4:22 PM IST
कम वेतन वालों के लिए सरकार की नई पहल, करोड़ों लोगों को मिलेंगी हेल्थ सर्विसेज
ईएसआईसी ने आयुष्मा योजना के साथ पार्टनरशिप किया है.

अपने करोड़ों लाभार्थियों को विशेष सुविधा पहुंचाने के उद्देश्य से कर्मचारी बीमा राज्य निगम (ESIC) ने आयुष्मान भारत योजना के साथ पार्टन​रशिप किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2019, 4:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) ने अपने लाभार्थियों को मेडिकल सुविधा पहुंचाने के लिए आयुष्मान भारत (Ayushman Bharat) के साथ पार्टनरशिप किया है. ESIC और आयुष्मान भारत के बीच इस खास पार्टनरशिप से 102 जिलों के लाभार्थियों को लाभ मिल सकेगा. साथ ही यहां, अस्पताल खोलने के लिए नियमों में भी कुछ राहत दी जाएगी. इस माध्यम से ESIC करीब 13.56 करोड़ लाभार्थियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है.

अस्पताल खोलने के इन नियमों में होंगे बदलाव
श्रम एवं रोजगार मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संतोष कुमार गंगवार (Santosh Kumar Gangwar) ने बताया, 'ESIC लाभार्थियों को लाभ के​ लिए हाल ही में ESIC ने आयुष्मान भारत के साथ पार्टनरशिप किया है. इसमें नए जुड़े 102 जिलों के लाभार्थियों को लाभ मिल सकेगा.' गंगवार ने आगे कहा कि इसके अलावा ESIC ने इन जिलों में नए अस्पताल खोलने के लिए नियमों में भी राहत दी है. इसके बाद अब 30 बेड वाला अस्पताल वहां खोला जा सकता है, जहां 20,000 IPs मौजूद हैं. राजधानी दिल्ली के रोहिनी में एक कार्यक्रम में पहुंचे गंगवार ने ESIC-चिंता से मुक्ति मोबाइल ऐप और साझेदारों के लिए हेल्प डेस्क की उपलब्धता की भी जानकारी दी.

ये भी पढ़ें: EXCLUSIVE: नई कार खरीदने पर सरकार देगी रजिस्ट्रेशन और टैक्स में छूट! नई पॉलिसी का ड्राफ्ट जारी


क्या है ESIC
बता दें कि ESIC एक तरह का सामाजिक सुरक्षा संगठन है, जो जरूरतमंदों को विस्तृत सामाजिक सुरक्षा जैसे उचित चिकित्सा सेवा और नकद लाभ प्रदान करता है. ESIC कानून उन संस्थाओं में लागू होता है जहां 10 से अधिक कर्मचारी कार्यरत हैं. इस कानून के तहत अगर किसी कर्मचारी का प्रतिमाह वेतन 21,000 रुपये तक है तो वो कर्मचारी स्वास्थ्य बीमा कवर और अन्य लाभों के हकदार होंगे. मौजूदा समय में यह कानून देशभर के 12.11 लाख फैक्ट्रियों और संस्थानों पर लागू हे, जिसमें करीब 3.46 करोड़ परिवारों को लाभ मिलता है.
Loading...

ये भी पढ़ें: बड़ी खबर! सुप्रीम कोर्ट ने रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर मलविंदर और शिविंदर सिंह को अवमानना का दोषी ठहराया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 4:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...