जेफ बेजोस-मार्क जुकरबर्ग के साथ काम कर चुके इस शख्स ने किया रोचक खुलासा, पढ़ कर आप भी रह जाएंगे हैरान

डैन रोज ने बताया कि वो पहली बार जेफ़ बेज़ोस से 1999 में और जुकरबर्ग से 2006 में मिले थे.

डैन रोज ने बताया कि वो पहली बार जेफ़ बेज़ोस से 1999 में और जुकरबर्ग से 2006 में मिले थे.

जेफ बेजोस (Jeff Bezos) और फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग (Mark Zuckerberg) के साथ करीब 20 सालों तक काम कर चुके पूर्व-कर्मचारी डैन रोज (Dan Rose) ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर रोचक खुलासा किया है. उन्होंने दोनों के साथ अपने अनुभव को ट्विटर पर शेयर किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 18, 2021, 1:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कभी न कभी आपके जेहन में भी यह खयाल जरूर आया होगा कि दुनिया के सबसे अमीर शख्स जेफ बेजोस (Amazon founder Jeff Bezos) या फिर फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग (Facebook Founder Mark Zuckerberg) कैसे काम करते होंगे? काम को लेकर उनकी सोच कैसी होगी? उनकी वर्किंग स्टाइल कैसी होगी? वर्क प्लेस में उनका व्यवहार कैसा होगा? पर्सनली वे किस तरह के इंसान होंगे? और ना जाने क्या.. क्या..सवाल आपके जेहन में आते होंगे. आम से लेकर खास तक अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस और फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग के बारे में जानने को उत्सुक रहते हैं. उनके साथ करीब 20 सालों तक काम कर चुके पूर्व-कर्मचारी और वर्तमान में Coatue Ventures और Coatue Growth के चेयरमैन डैन रोज (Dan Rose) ने सोशल मीडिया प्लेटफाॅर्म पर रोचक खुलासा किया है. डैन ने बेजोस और मार्क के बारे में वो बातें कहीं हैं, जो शायद ही अब तक आपको पता होगा. तो आइए जानते हैं डैन ने बेजोस और जुकरबर्ग के बारे में क्या कुछ कहा है...

'दोनों में काफी समानताएं हैं जो उन्हें लीडर बनाते हैं'

डैन ने गुरुवार को माइक्रो ब्लाॅगिंग साइट ट्विटर (Twitter) पर जेफ बेजोस और मार्क जुकरबर्ग के साथ काम करने के अपने अनुभवों को शेयर करते हुए कहा, 'अक्सर लोग मुझे बेजोस और जुकरबर्ग के साथ काम करने का तुलनात्मक अनुभव शेयर करने के लिए कहते हैं.' वो कहते हैं, 'मैंने मार्क के साथ लंबे समय तक काम किया है. वहीं, जेफ बेजोस के साथ सीधे अमेजन पर किंडल इंक्यूबेट करने का काम किया है. उन दोनों में काफी समानताएं हैं जो उन्हें पीढ़ी के लीडर बनाते हैं.' डैन कहते हैं, 'जेफ 30 साल के थे, जब उन्होंने अमेजन शुरू किया था और जब मैं 1999 में उनसे मिला, तब तक वो 35 साल के हो चुके थे. वहीं, मार्क जुकरबर्ग ने 19 साल की उम्र में फेसबुक शुरू किया और मैं 2006 में उनके साथ जुड़ा था. तब वो 22 साल के थे.'

डैन रोज ने ट्विटर पर उन दोनों के बारे में कई बातों को साझा किया है.

'फ्यूचर में जीते हैं, 10 साल आगे की सोचते हैं'

डैन के मुताबिक, 'बेजोस और जुकरबर्ग दोनों ही फ्यूचर में जीते हैं. हमेशा 10 साल आगे की सोचते हैं. काम को लेकर वे दोनों ही बेहद जुनूनी हैं. एक ही समय में वे सबसे नया प्रोडक्ट और डिजाइन डिटेल्स को लेकर काफी जुनूनी थे. वे चंद सेकंड में 3 फीट से 30,000 फीट तक जा सकते हैं.' डैन रोज सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर पर अपने अनुभवों को शेयर करते हुए कहते हैं, 'मैं अपने आपको काफी भाग्यशाली समझता हूं कि मैंने दुनिया के दो सबसे बड़े संस्थापकों के साथ काम किया है. अमेजन और फेसबुक का जब निर्माण हो रहा था तब मैं बेजोस और मार्क जुकरबर्ग के साथ था. उनकी नाॅलेज और वर्किंग स्टाइल ने मुझे काफी कुछ सिखाया है. एक सफल उद्यमी बनने की जो ललक होती है वह मैंने जेफ एंड मार्क के साथ सीखी थी.'

यह भी पढ़ें- Amazon के दस्‍तावेजों से बड़ा खुलासा! भारतीय नियामकों को चकमा देने के लिए बनाई गई थी गोपनीय रणनीति



दाेंनों ही सफलता के बारे में नहीं सोचते..

डैन के मुताबिक, 'दोनों में से कोई भी कभी भी सफलता पर ध्यान केंद्रित नहीं करते हैं. हर बार उनको मैंने एक चुनौतीपूर्ण स्थिति से गुजरते देखा और फिर उस पर जश्न मनाते भी देखा..जेफ या मार्क को हर बार अगली चुनौतियों के लिए तैयार देखा.. उन्होंने हमेशा अनरिलस्टिक लक्ष्य निर्धारित किए और वे बहुत गहराई के साथ काम करते थे..सोचते थे..काफी अनुशासित, मेहनती और परिश्रमी थे. उनमें गजब का सेंस ऑफ ह्यूमर है. दोनों ने अपनी टीमों से गहन निष्ठा का परिचय दिया. अमेजन और फेसबुक दोनों ही कंपनी में ज्यादातर वरिष्ठ मित्र आज भी काम कर रहे हैं, क्योंकि वे किसी और कंपनी में काम करने की कल्पना नहीं कर सकते. वैसे भी जब आप दुनिया के सबसे बड़ी कंपनी में कुछ सीखते रहते हैं तो उसे छोड़ना मुश्किल हो जाता है.'

ग्रुप कन्वर्सेशन के दौरान जोर से पढ़ते हैं...

डैन ने कहा, 'वे दोनों (जेफ बेजोस और मार्क जुकरबर्ग) गहरे विचारक हैं. जोर से पढ़ते हैं. मैं उन दोनों की ग्रुप मीटिंग या ग्रुप कन्वर्सेशन में शामिल हुआ हूं. वे घंटों तक ग्रुप डिस्कशन करते हैं और अंतहीन सवाल पूछते हैं. इनके प्रश्न कभी खत्म नहीं होते... दोनों में काम को लेकर गजब का स्टेमिना है. बेजोस और मार्क काफी जिज्ञासु हैं...'

काम से दुखी होने पर अजीब व्यवहार करते..

उनके व्यक्तित्व के बारे में बताते हुए एक अन्य ट्वीट में डैन लिखते हैं. 'वे दोनों अलग-अलग व्यक्तित्व के हैं. जेफ खुलकर हंसते हैं तो मार्क बेहद शांत और दयालु स्वाभाव के हैं.' डैन लिखते हैं, 'एक और बात जिसे जानकर आपको थोड़ा अजीब लगेगा लेकिन प्रमाणिक है. जेफ दुखी होने पर आपको कमरे से सीधे बाहर निकल जाने को कहेंगे या फिर निकाल देंगे. वहीं, मार्क जब दुखी होते हैं तो बस मीटिंग खत्म कर देते हैं.'

यह भी पढ़ें- Citibank की बड़ी चूक! कॉस्‍मेटिक कंपनी रेवलॉन को गलती से ट्रांसफर कर दिए 3,650 करोड़ रुपये, जानें पूरा मामला

अमेजन और फेसबुक का वर्किंग कल्चर काफी अलग है

एक अन्य ट्वीट में डैन रोज उनके द्वारा बनाए गए वर्क कल्चर को लेकर बताते हैं. वो बताते हैं कि उनके द्वारा बनाया गया वर्क कल्चर काफी अलग है. अमेजन में काफी सीक्रेट यानी कि गुप्त माहौल है. जबकि फेसबुक में खुला माहौल है, बेहद पारदर्शी है. हालांकि, दोनों कंपनियों में काम करने का अच्छा माहौल है और काफी अलग माहौल है. अंत में डैन कहते हैं, दोनों कंपनी में काम करने को लेकर हर पहलुओं पर बताऊंगा..उसे भविष्य की पोस्ट में कवर करूंगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज