Home /News /business /

सरकार का बड़ा फैसला, कोयला खदान में हादसे पर अब मिलेगा तीन गुना ज्यादा मुआवज़ा

सरकार का बड़ा फैसला, कोयला खदान में हादसे पर अब मिलेगा तीन गुना ज्यादा मुआवज़ा

कोयला खादान में काम करने वाले मजदूरों का मुआवजा 3 लाख से बढ़ाकर 15 लाख हुआ.

कोयला खादान में काम करने वाले मजदूरों का मुआवजा 3 लाख से बढ़ाकर 15 लाख हुआ.

केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी (Prahlad Joshi) ने ओड़िसा स्थि​त महानदी कोलफील्ड्स (Mahanadi Coalfields) का हवाई दौरा करने के बाद घोषणा किया कि कोयला खादान में होने वाले हादसे पर मजदूरों को मिलने वाला मुआवजा 3 लाख रुपये से बढ़ाकर 15 लाख रुपये कर दिया गया है.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने गुरुवार को एक बड़ा फैसला लेते हुए कायोला खदान (Coal Mines in India) में होने हादसे पर मिलने वाले अनुग्रह राशि (Ex-Gratia) को 3 गुना बढ़ा दिया है. कोयला खदान में होने वाले हादसे पर पहले 5 लाख रुपये का मुआवजा मिलता था, जोकि अब बढ़कर 15 लाख रुपये हो गया है. केंद्र सरकार के इस फैसले से सीधे तौर पर कोयला खदान में काम करने वाले 3.5 लाख परिवारों को सीधे तौर पर लाभ मिल सकेगा. कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी (Union Coal Ministers Prahlad Joshi) ने गुरुवार को बताया कि अनुग्रह राशि की रकम में इस बढ़ोतरी का लाभ पर्मानेन्ट और कॉन्ट्रैक्ट पर काम करने वाले मजदूरों व उनके परिवार को मिलेगा.

    8 राज्यों के 3.5 लाख परिवारों को लाभ
    कोयला मंत्रालय (Ministry of Coal) की तरफ से जारी एक बयान में प्रह्लाद जोशी के हवले से लिखा गया है, 'मैं घोषणा करता हूं कि कोयला खदान में काम करने वाले कामगारों को कोई हादसा होने पर अब अनुग्रह राशि के तौर पर 5 लाख रुपये की जगह 15 लाख रुपये दिए जाएंगे.' ओड़िशा स्थित महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड (Mahanadi Colafields Limited) में कोयला माइनर्स को संबोधित करने के मुताबिक, सरकार के इस कदम से 8 राज्यों 3.5 लाख परिवारों को इसका लाभ मिल सकेगा. इनमें कोल इंडिया व उसकी सहायक कंपनियों में काम करने वाले कामगार शामिल होंगे.



    ये भी पढ़ें: इस बैंक ने बदला ATM से कैश निकालने का नियम! 1 दिसंबर से लगेंगे चार्ज

    लीविंग स्टैंडर्ड बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है सरकार
    इस दौरान उन्होंने तालचर कोलफील्ड्स का हवाई सर्वे भी किया. बता दें कि ​कोल इंडिया (Coal India) की यह दूसरी सबसे बड़ी सहायक कपंनी है. यह कंपनी कोल इंडिया के कुल 25 फीसदी कोयले का उत्पादन करती है. जोशी ने कहा कि केंद्र सरकार आम आदमी की जीविका स्टैंडर्ड को बढ़ाने के लिए प्र​तिबद्ध है. सरकार लगातार नौकरी और उद्यम के क्षेत्र में युवाओं को मौके देने पर काम कर रही है.

    कोयला ढोने के लिए रेलवे इन्फ्रास्ट्रक्चर पर हर साल 9 हजार करोड़ खर्च करेगी सरकार
    इस दौरान उन्होंने घोषणा किया कि वित्त वर्ष 2024-25 तक केंद्र सरकार में महानदी कोलफील्ड्स में बाहर के करीब 4,000 कामगारों को नौकरी देगी. उन्होंने आगे यह भी जानकारी दी कि रेलवे इन्फ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाने के लिए महानदी कोलफील्ड्स हर साल 9,000 करोड़ रुपये खर्च करेगी ताकि कोयल ढोने में आसानी हो सके.



    ये भी पढ़ें: मोदी सरकार के एक फैसले से इन चार देशों की बढ़ेगी मुश्किलें, जानें क्या है मामला?

    कोलफील्ड के करीबी गावों में लोगों को मुफ्त स्वास्थ्या सुविधा
    देश में कोयला उत्पादन को बढ़ावा पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि इसके लिए सभी स्टेकहोल्डर्स के मदद की जरूरत है. उन्होंने कहा कि कोलफील्ड्स के निकट गावों में मोबाइल मेडिकल यूनिट बनाया जाएगा ताकि यहां के लोगों को मु्फ्त स्वास्थ्य सुविधा उनके घर तक मिल सके.

    Tags: Business news in hindi, Death in coal mine, Less-than-adequate coal supply

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर