Home /News /business /

पीएलआई योजनाओं और वैश्विक मांग में सुधार से नए साल में निर्यात बढ़ने की उम्मीद

पीएलआई योजनाओं और वैश्विक मांग में सुधार से नए साल में निर्यात बढ़ने की उम्मीद

 डब्ल्यूटीओ ने वर्ष 2022 में वैश्विक व्यापार में 4.7 प्रतिशत बढ़ोतरी का अनुमान जताया है.

डब्ल्यूटीओ ने वर्ष 2022 में वैश्विक व्यापार में 4.7 प्रतिशत बढ़ोतरी का अनुमान जताया है.

अनुमान है कि वैश्विक बाजारों में बढ़ती मांग, उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना और कुछ अंतरिम व्यापार समझौतों के चलते घरेलू विनिर्माण में वृद्धि का खास योगदान होगा. देश के निर्यात में सकारात्मक वृद्धि की उम्मीदें विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के अनुमानों के अनुरूप ही हैं. डब्ल्यूटीओ ने वर्ष 2022 में वैश्विक व्यापार में 4.7 प्रतिशत बढ़ोतरी का अनुमान जताया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली . कोविड-19 महामारी के चलते आई मंदी के बाद वर्ष 2021 में तेजी से Economics recovery के बीच नए साल में भारत का निर्यात बढ़ने की उम्मीद है. अनुमान है कि वैश्विक बाजारों में बढ़ती मांग, उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना और कुछ अंतरिम व्यापार समझौतों के चलते घरेलू विनिर्माण में वृद्धि का खास योगदान होगा.

    देश के निर्यात में सकारात्मक वृद्धि की उम्मीदें विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के अनुमानों के अनुरूप ही हैं. डब्ल्यूटीओ ने वर्ष 2022 में वैश्विक व्यापार में 4.7 प्रतिशत बढ़ोतरी का अनुमान जताया है. निर्यातकों का मानना ​​है कि वित्त वर्ष 2021-22 में भारत का निर्यात 400 अरब अमेरिकी डॉलर को पार कर जाएगा और वर्ष 2022-23 में यह 475 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंच सकता है.

    तेजी से निर्यात बढ़ने की उम्मीद 
    हालांकि निर्यातकों का मानना है कि वृद्धि और वैश्विक मांग इस पर भी निर्भर करेगी कि दुनिया भर में बड़े पैमाने पर टीकाकरण के जरिये कोविड-19 और वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन पर किस हद तक काबू पाया जाता है.

    यह भी पढ़ें- एफआईआई, वैश्विक संकेतों, ओमीक्रोन के रुझान से तय होगी इस सप्ताह बाजार की चाल: विश्लेषक

    भारतीय रिजर्व बैंक के सितंबर में जारी एक सर्वेक्षण के अनुसार भारतीय कंपनियों द्वारा विदेशी सहयोगियों को दी जाने वाली सेवाओं सहित सॉफ्टवेयर सेवाओं का निर्यात 31 मार्च 2021 को समाप्त वित्त वर्ष में 148.3 अरब डॉलर रहा था. यह आंकड़ा दुनिया के शीर्ष तेल निर्यातक सऊदी अरब को 2021 में तेल बिक्री से संभावित आय से अधिक है.

    पीएलआई जैसी प्रोत्साहन योजनाओं का साकारात्मक असर
    वाणिज्य सचिव बी वी आर सुब्रह्मण्यम ने कहा कि दुनिया अब भारत को एक भरोसेमंद वैश्विक व्यापार भागीदार के रूप में सम्मान देती है और पश्चिम एशिया तथा दक्षिण अमेरिकी देशों सहित नए क्षेत्रों में देश का निर्यात बढ़ रहा है. उन्होंने बताया कि कारोबारी सुगमता, पीएलआई जैसी प्रोत्साहन योजनाएं और अन्य उपाय व्यापार को सुविधाजनक बना रहे हैं.

    एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार वाणिज्य विभाग नई विदेश व्यापार नीति (एफटीपी) पर काम कर रहा है और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), ब्रिटेन तथा ऑस्ट्रेलिया सहित प्रमुख व्यापारिक भागीदारों के साथ मुक्त व्यापार समझौतों (एफटीए) पर तेजी से बातचीत कर रहा है. उन्होंने कहा कि इन उपायों से अगले साल भी निर्यात में रिकॉर्ड बढ़ोतरी होगी.

    Tags: Export, Import-Export, Indian export, Manufacturing and exports, Organization of the Petroleum Exporting Countries

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर