Home /News /business /

एग्री और प्रोसेस्ड फूड्स प्रोडक्ट्स के निर्यात में तेजी, अप्रैल-अक्टूबर में 15% बढ़कर 11.65 अरब डॉलर पर पहुंचा

एग्री और प्रोसेस्ड फूड्स प्रोडक्ट्स के निर्यात में तेजी, अप्रैल-अक्टूबर में 15% बढ़कर 11.65 अरब डॉलर पर पहुंचा

प्रतीकात्मक तस्वीर (क्रेडिट- एएफपी)

प्रतीकात्मक तस्वीर (क्रेडिट- एएफपी)

चावल और ताजा फल और सब्जियों सहित फूड्स प्रोडक्ट्स के निर्यात में पर्याप्त वृद्धि होने के कारण चालू वित्त वर्ष के पहले सात माह (अप्रैल-अक्टूबर) में कृषि और प्रोसेस्ड फूड्स प्रोडक्ट्स का निर्यात 14.7 फीसदी बढ़कर 11.65 अरब डॉलर पर पहुंच गया. वाणिज्य मंत्रालय ने कहा है कि इस वित्त वर्ष के पहले सात महीनों के दौरान चावल का निर्यात बढ़कर 5.28 अरब डॉलर का हो गया है, जो अप्रैल-अक्टूबर 2020 में 4.77 अरब डॉलर का था. इसी तरह ताजा फल और सब्जियों का निर्यात, अप्रैल-अक्टूबर 2020-21 के 1.37 अरब डॉलर की तुलना में वर्ष 2021-22 की समान अवधि में बढ़कर 1.53 अरब डॉलर का हो गया.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. चावल और ताजा फल और सब्जियों सहित फूड्स प्रोडक्ट्स के निर्यात में पर्याप्त वृद्धि होने के कारण चालू वित्त वर्ष के पहले सात माह (अप्रैल-अक्टूबर) में कृषि और प्रोसेस्ड फूड्स प्रोडक्ट्स का निर्यात 14.7 फीसदी बढ़कर 11.65 अरब डॉलर पर पहुंच गया. वाणिज्य मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी.

    मंत्रालय ने कहा है कि इस वित्त वर्ष के पहले सात महीनों के दौरान चावल का निर्यात बढ़कर 5.28 अरब डॉलर का हो गया है, जो अप्रैल-अक्टूबर 2020 में 4.77 अरब डॉलर का था. इसी तरह ताजा फल और सब्जियों का निर्यात, अप्रैल-अक्टूबर 2020-21 के 1.37 अरब डॉलर की तुलना में वर्ष 2021-22 की समान अवधि में बढ़कर 1.53 अरब डॉलर का हो गया.

    मांस, डेयरी और पॉल्ट्री उत्पादों का निर्यात 1.97 अरब डॉलर से बढ़कर 2.28 अरब डॉलर हो गया. समीक्षाधीन अवधि के दौरान काजू निर्यात 29.2 फीसदी बढ़कर 26 करोड़ 52.7 लाख डॉलर पर पहुंच गया.

    ये भी पढ़ें- EPFO मेंबर अपने EPF नॉमिनी को बदलने के लिए आनलाइन फाइल कर सकते हैं नया PF नॉमिनेशन, जानें प्रोसेस

    कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण यानी एपीडा (APEDA) के चेयरमैन एम अंगमुतु ने कहा, ”हम पूर्वी, उत्तर-पूर्वी क्षेत्रों और पहाड़ी राज्यों से निर्यात के लिए बुनियादी ढांचा बनाने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं. इन क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे की कमी थी.”

    जिन कदमों ने निर्यात वृद्धि को आगे बढ़ाने में मदद की है, उनमें भौगोलिक संकेतक (जीआई) वाले माल को बढ़ावा देना, आभासी खरीदार विक्रेता सम्मेलन, परीक्षण की सेवाएं प्रदान करने के लिए पूरे भारत में 220 प्रयोगशालाओं को मान्यता देना शामिल है.

    ये भी पढ़ें- EPFO मेंबर अपने EPF नॉमिनी को बदलने के लिए आनलाइन फाइल कर सकते हैं नया PF नॉमिनेशन, जानें प्रोसेस

    इसके अलावा वैश्विक खाद्य सुरक्षा और गुणवत्ता आवश्यकताओं के अनुपालन को सुनिश्चित करने के लिए बुनियादी ढांचे के विकास, बाजार विकास, अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेलों और मांस प्रसंस्करण संयंत्रों और बूचड़खानों के पंजीकरण की वित्तीय सहायता योजनाओं ने भी निर्यात को बढ़ावा देने में मदद की.

    Tags: Agriculture, Export, Indian export

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर