Home /News /business /

IPO लाने की तैयारी में फैबइंडिया, 3770 करोड़ रुपये जुटाने की योजना, जानिए बाकी डिटेल्स

IPO लाने की तैयारी में फैबइंडिया, 3770 करोड़ रुपये जुटाने की योजना, जानिए बाकी डिटेल्स

पारम्परिक भारतीय शिल्प (Indian crafts) से प्रेरित कपड़े और फर्नीचर के रिटेलर FabIndia अपना IPO लाने की तैयारी में है.

पारम्परिक भारतीय शिल्प (Indian crafts) से प्रेरित कपड़े और फर्नीचर के रिटेलर FabIndia अपना IPO लाने की तैयारी में है.

पारम्परिक भारतीय शिल्प (Indian crafts) से प्रेरित कपड़े और फर्नीचर के रिटेलर FabIndia अपना IPO लाने की तैयारी में है. मिली जानकारी के अनुसार, फैबइंडिया ने लगभग 500 मिलियन डॉलर (लगभग 3800 करोड़ रुपये) के अपने IPO के लिए शुरुआती दस्तावेज फाइल करने की योजना बना ली है. मिली जानकारी के अनुसार, अभी बातचीत जारी हैं और इसके साइज और टाइमिंग से जुड़ी जानकारियों में बदलाव हो सकता है. 1960 में जॉन बिसेल (John Bissell) ने भारतीय हैंडलूम टैक्सटाइल को विश्व पटल पर रखने के लिए FabIndia की शुरुआत की थी.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. पारम्परिक भारतीय शिल्प (Indian crafts) से प्रेरित कपड़े और फर्नीचर के रिटेलर FabIndia अपना IPO लाने की तैयारी में है. मिली जानकारी के अनुसार, फैबइंडिया ने लगभग 500 मिलियन डॉलर (लगभग 3800 करोड़ रुपये) के अपने IPO के लिए शुरुआती दस्तावेज फाइल करने की योजना बना ली है.

    दिल्ली-बेस्ड इस कंपनी में विप्रो (Wipro) के फाउंडर अजीम प्रेमजी (Azim Premji) की फैमिली ऑफिस कंपनी प्रेमजीइन्वेस्ट (PremjiInvest) का निवेश है. कंपनी की योजना है कि अगले साल की शुरुआत में ड्राफ्ट रेड हियरिंग प्रॉस्पेक्टस जमा करवा दिया जाए. सूत्रों ने कहा कि इस आईपीओ में काफी हद तक मौजूदा शेयरों को ही बेचने की योजना है. इसके माध्यम से फैबइंडिया कंपनी की 2 अरब डॉलर वेल्युएशन सामने आने की उम्मीद कर रही है.

    ये भी पढ़ें – क्रिप्टोकरेंसी बिल: क्रिप्टो से नहीं होगी कोई पेमेंट, कानून उल्लंघन पर जेल, जमानत भी नहीं!

    1960 में शुरु हुई थी कंपनी
    मिली जानकारी के अनुसार, अभी बातचीत जारी हैं और इसके साइज और टाइमिंग से जुड़ी जानकारियों में बदलाव हो सकता है. फैबइंडिया और प्रेमजी इन्वेस्ट के प्रतिनिधि इससे जुड़े सवाल पर टिप्पणी के लिए उपलब्ध नहीं हुए. 1960 में जॉन बिसेल (John Bissell) ने भारतीय हैंडलूम टैक्सटाइल को विश्व पटल पर रखने के लिए FabIndia की शुरुआत की थी. इसकी बेवसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, कंपनी अपने ज्यादातर प्रॉडक्ट्स भारत के ग्रामीण क्षेत्रों से लेती है. यही नहीं, बेवसाइट पर यह जानकारी भी गई है कि कंपनी 55 हजार ग्रामीण उत्पादकों को शहरी बाजारों से जोड़ती है और 500 छात्रों वाला अपना एक स्कूल भी चलाती है.

    ये भी पढ़ें – अच्छी कमाई करवा सकता है राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो का ₹250 वाला ये स्टॉक!

    पेटीएम IPO के बाद बदली योजनाएं
    Paytm के IPO की फ्लॉप लिस्टिंग के बाद से कंपनियों ने अपने प्लान्स बदले हैं. भारत पे (BharatPe) के फाउंडर अश्नीर ग्रोवर (Ashneer Grover) ने अश्नीर ग्रोवर ने पेटीएम की लिस्टिंग के बाद ही कहा था कि Paytm के फ्लॉप शो का असर आने वाले IPOs पर भी पड़ेगा. उन्होंने तो यहां तक कहा था कि एलआईसी के आईपीओ (LIC IPO) पर भी काफी असर पड़ेगा और हुआ भी वैसा ही. पेटीएम के बाद स्टार हेल्थ का एक बड़ा आईपीओ आया है और वह भी अपने सभी शेयर्स के लिए बोलियां पाने में कामयाब नहीं हो पाया.

    Tags: IPO, Share market, Stock market

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर