Home /News /business /

Facebook-Jio डील : कर्जमुक्त कंपनी बनने की तरफ Reliance Industries का एक और कदम

Facebook-Jio डील : कर्जमुक्त कंपनी बनने की तरफ Reliance Industries का एक और कदम

रिलायंस

रिलायंस

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Reliance Industries Chairman Mukesh Ambani) RIL को मार्च 2021 तक कर्ज मुक्त कंपनी बनाना चाहते हैं. इस लिहाज से Facebook-Jio की यह डील काफी अहम है.

    नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Reliance Industries Chairman Mukesh Ambani) ने शेयरधारकों से किए वादे को निभाते हुए कंपनी को कर्जमुक्त (Reliance Debt Free) बनाने के लिए कदम उठाने शुरू कर दिए है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि जियो की लॉन्चिंग और इसका कारोबार बढ़ाने में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने काफी खर्च किया था. साल 2016 में जियो की लॉन्चिंग हुई थी और RIL ने इसमें 40 अरब डॉलर का निवेश किया था. लिहाजा जियो और दूसरे कारोबार की वजह से RIL का कर्ज काफी बढ़ गया था. मुकेश अंबानी अपनी कंपनी को मार्च 2021 तक कर्ज मुक्त कंपनी बनाना चाहते हैं. इस लिहाज से फेसबुक की यह डील काफी अहम है.

    फेसबुक (Facebook) ने रिलायंस जियो (Reliance Jio) में 9.99 फीसदी हिस्सेदारी 5.7 अरब डॉलर यानी 43,574 करोड़ रुपये में खरीदी है. अपने कॉमर्शियल लॉन्च के करीब 4 साल के भीतर जियो की वैल्यू बढ़कर 65.95 अरब डॉलर हो गई है. जियो के इस सपोर्ट से इसकी पेरेंट कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) मार्केट कैप के लिहाज से देश की टॉप 5 लिस्टेड कंपनियों में शामिल हो गई है.

    RIL को कर्जमुक्त बनाने के लिए ये हैं प्लान

    (1) RIL कुछ कारोबार में हिस्सेदारी बेचकर अपना कर्ज कम करने को लेकर तेजी से काम कर रही है. कंपनी अपने ऑयल कारोबार में 20 फीसदी हिस्सेदारी सऊदी अरामको को बेचने के लिए बातचीत कर रही है. साथ ही टेलीकॉम टावर बिजनेस की हिस्सेदारी कनाडा की प्राइवेट इक्विटी फर्म ब्रुकफील्ड एसेट मैनेजमेंट को बेचने की तैयारी में है.



    (2) मुकेश अंबानी ने 12 अगस्त 2019 को कंपनी की 42वीं सालाना आम बैठक में कहा था कि कंपनी के पास रोडमैप है जिसके जरिए वो 31 मार्च 2021 तक कर्ज मुक्त कंपनी बन सकते हैं. साल 2018 में रिलायंस ने अपना टेलीकॉम इंफ्रास्ट्रक्चर एसेट्स 1.25 लाख करोड़ रुपये में दो अलग-अलग इंफ्रास्ट्रक्चर ट्रस्ट को ट्रांसफर कर दिया था. कंपनी का मकसद इसके जरिए ग्लोबल इनवेस्टर्स से फंड जुटाना था.

    (3) RIL कई कंपनियों के साथ डील कर रही है और वित्त वर्ष 2020-21 के अंत तक कई डील पूरी होने की भी उम्मीद है. वित्त वर्ष 2019 के अंत तक कंपनी की बैलेंस शीट में 1,54,478 करोड़ रुपये का कर्ज था. अंबानी ने कहा, RIL के ऑयल-टू-केमिकल (O2C) बिजनेस में सऊदी अरामको 20 फीसदी हिस्सेदारी ले रही है. साथ ही KG-D6 में ब्रिटिश पेट्रोलियम (BP) निवेश करने को राजी है. इस दो डील से कंपनी को 1.1 लाख करोड़ रुपये मिलेंगे.

    (4) इस डील से सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक को तेजी से बढ़ते भारतीय बाजार में अपनी पहुंच बढ़ाने में मदद मिलेगी. यहां के 38.80 करोड़ भारतीयों तक फेसबुक का एक्सेस बढ़ेगा. दूसरी तरफ इस डील से अरबपति मुकेश अंबानी को RIL का कर्ज कम करने में मदद मिलेगी.

    (डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.)

    Tags: Business news in hindi, Reliance, Reliance industries, Reliance Jio

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर