52 चीनी ऐप्स को लेकर अलर्ट! फोन से तुरंत हटाएं चाइनीज ऐप वाली खबरों का जानिए क्या है सच?

52 चीनी ऐप्स को लेकर अलर्ट! फोन से तुरंत हटाएं चाइनीज ऐप वाली खबरों का जानिए क्या है सच?
52 चीनी ऐप्स से खतरे को लेकर अलर्ट! फोन से तुरंत हटाएं ऐप वाली खबर झूटी

भारत-चीन के बीच चल रही बॉर्डर टेंशन (India-China Border Tension) के कारण भारतीय अब चीनी प्रोडक्ट से लेकर चीनी ऐप तक पर बैन लगाने की सोच रहे हैं. इसी से जुड़ी एक झूठी खबर कल से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत-चीन के बीच चल रही बॉर्डर टेंशन (India-China Border Tension) के कारण भारतीय अब चीनी प्रोडक्ट से लेकर चीनी ऐप तक पर बैन लगाने की सोच रहे हैं. इसी से जुड़ी एक झूठी खबर कल से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इस खबर के मुताबिक यूपी की स्पेशल टास्क फोर्स ने एक कॉन्फिडेंशियल लेटर जारी कर अपने सभी कर्मचारियों को चाइनीज ऐप हटाने के निर्देश जारी किये हैं.

लेकिन अब एसटीएफ के अमिताभ यश ने इस बात का खंडन किया कि पुलिस ने इस तरह का कोई आदेश किया है. इसको लेकर दिन भर पुलिस मुख्यालय और एसटीएफ में पूछताछ होती रही लेकिन देर शाम तक कोई स्पष्ट आदेश इस संबंध में नहीं मिला.


ये जानकारी हुई थी वायरल
जो खबर वायरल हुई उसमें कहा गया था कि एसटीएफ के सभी कर्मचारी और उनके परिजन चीन से जुड़े सभी 52 चाइनीज ऐप्स (52 Chinese App Uninstall) को जल्द से जल्द अनइनस्टॉल कर दें क्योंकि इससे डाटा चोरी की संभावना जताई गई है. इससे चाइना लोगों का व्यक्तिगत डाटा चोरी कर सकता है. इसलिए सभी 52 चाइनीज एप को अनइंस्टॉल करने के निर्देश जारी किए गए हैं. एसटीएफ के लोगों और उनके परिजनों को भी ऐप हटाने के निर्देश जारी किए गए हैं.



इस लिस्ट में पांच वीडियो शेयरिंग ऐप्स हैं और दिलचस्प ये है कि ज्यादातर चीनी स्मार्टफोन कंपनियां इनमें से कोई न कोई न कोई ऐप अपने स्मार्टफोन्स में देती ही हैं. ये ऐप्स हैं - टिक टॉक, विगो वीडियो, बीगो लाइव, वेबो, वी चैट, हेलो और लाइक. इसके अलावा कई ई-कॉमर्स ऐप भी शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज