लाइव टीवी

अरुण जेटली का विपक्ष पर हमला! RBI के बहाने सरकार के खिलाफ झूठ फैलाया गया

News18Hindi
Updated: January 17, 2019, 3:55 PM IST
अरुण जेटली का विपक्ष पर हमला! RBI के बहाने सरकार के खिलाफ झूठ फैलाया गया
वित्त मंत्री ने अपने फेसबुक ब्लॉग में लिखा है कि कुछ लोग स्वार्थ के कारण एनडीए सरकार की सत्ता में वापसी नहीं चाहते हैं और ऐसे लोग सरकार के खिलाफ लगातार दुष्प्रचार कर रहे हैं.

वित्त मंत्री ने अपने फेसबुक ब्लॉग में लिखा है कि कुछ लोग स्वार्थ के कारण एनडीए सरकार की सत्ता में वापसी नहीं चाहते हैं और ऐसे लोग सरकार के खिलाफ लगातार दुष्प्रचार कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 17, 2019, 3:55 PM IST
  • Share this:
केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने नाम लिए बिना कई अहम मुद्दों पर बड़ा हमला बोला है. जेटली ने एक बार फिर ब्लॉग के जरिए नोटबंदी, जीएसटी, सीबीआई, आरबीआई, राफेल सौदे, सुप्रीम कोर्ट और जज लोया की मौत को लेकर जवाब दिया है. उन्होंने लिखा कि लगातार आलोचना करने वाले लोग सरकार के हर उस प्रस्ताव में जो लोगों के विकास के लिए है कुछ कमियां ढूंढ़ते ही रहते हैं.

वित्त मंत्री ने लिखा है कि आरबीआई ने देश की बहुत से अच्छी सेवा की है. लेकिन पहले भी कई बार ऐसा हो चुका हैं जब सरकार और आरबीआई की अलग-अलग राय रही है. हाल के महीनों में सरकार ने महसूस किया है कि अर्थव्यवस्था के कुछ सेक्टर्स को कर्ज और फंड की जरूरत है. (ये भी पढ़ें-PF और पेंशनर्स का पैसा डूबने का खतरा! घट सकता है मुनाफा)

अगर मदद नहीं मिली तो देश की आर्थिक ग्रोथ को नुकसान होगा. हालांकि, कुछ सेक्टर्स को लेकर उठाए कदमों का असर सकारात्मक रहा है. पिछले दिनों आए आर्थिक आंकड़े से इस बात का पता चला है. स्वायत्त आरबीआई को सरकार उन मुद्दों को हल करने के लिए कह रही थी जो इसके डोमेन में हैं.(ये भी पढ़ें-फॉक्सवैगन को बड़ा झटका! NGT ने कल शाम तक 100 करोड़ जमा करने का आदेश दिया)

मैं इन उदाहरणों के साथ आगे बढ़ सकता हूं. सकारात्मक मानसिकता वाले लोग और राष्ट्रीय शक्ति से राष्ट्र का निर्माण होता है ना कि ‘बात बात पर विरोध करने वालों से. क्या वाम उदारवादियों को आजादी के संग्राम के दौरान गांधीजी द्वारा उठाए विभिन्न कदमों में खामियां नजर नहीं आयीं थीं? संप्रभु निर्वाचित सरकार को कमजोर करके और निर्वाचन के अयोग्य को मजबूत करना केवल लोकतंत्र का विनाश है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2019, 12:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर