अपना शहर चुनें

States

कार पर Fastag इस्तेमाल करने वालों के लिए खुशखबरी! RBI ने इससे जुड़े नियम किए आसान

15 जनवरी 2020 तक हर हाइवे पर एक-चौथाई टोल बूथ पर नकद और फास्टैग दोनों से भुगतान हो सकेगा.
15 जनवरी 2020 तक हर हाइवे पर एक-चौथाई टोल बूथ पर नकद और फास्टैग दोनों से भुगतान हो सकेगा.

RBI ने फास्टैग को रिचार्ज कराने के नियम आसान कर दिए हैं यानी अब आप UPI, एटीएम, क्रेडिट कार्ड्स और प्री-पेड इंस्ट्रूमेंट्स से भी फास्टैग रिचार्ज कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 31, 2019, 10:50 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने नेशनल हाइवे के टोल प्लाजा (Highway Toll Plaza) पर 15 दिसंबर से वाहनों के लिए फास्टैग अनिवार्य कर दिया है. अगर कोई वाहन बिना फास्टैग (Fastag) के टोल प्लाजा की फास्टैग लेन से गुजरेगा तो दोगुना टोल टैक्स देना पड़ेगा. हालांकि, पहले एक महीने तक यानी 15 जनवरी 2020 तक हर हाइवे पर एक-चौथाई टोल बूथ पर नकद और फास्टैग दोनों से भुगतान हो सकेगा. आपको बता दें कि RBI ने फास्टैग को रिचार्ज कराने के नियम आसान कर दिए हैं यानी अब आप UPI, एटीएम और क्रेडिट कार्ड्स, प्री-पेड इंस्ट्रूमेंट्स से भी फास्टैग को रिचार्ज कर सकते हैं.

RBI ने आसान किए नए नियम- RBI की ओर से 30 दिसंबर, 2019 को जारी बयान में कहा गया है कि कस्टमर्स अपने फास्टैग अकाउंट्स को पेमेंट्स के सभी ऑथराइज्ड मॉडल्स और इंस्ट्रूमेंट्स से लिंक कर सकते हैं. इनमें यूपीआई अकाउंट्स और मोबाइल वॉलेट्स भी शामिल होंगे. यह कदम इन अकाउंट्स को रिचार्ज करने में सहूलियत बढ़ाने और फेल्ड ट्रांजैक्शंस के मामले तेजी से सुलझाने के लिए उठाया जाएगा. आरबीआई ने कहा है, 'कस्टमर्स के लिए पेमेंट के ज्यादा विकल्प देकर इस सिस्टम का दायरा बढ़ाने और सिस्टम पार्टिसिपेंट्स के बीच कॉम्पिटिशन बढ़ाने के इरादे से सभी ऑथराइज्ड पेमेंट सिस्टम्स को अब फास्टैग्स से लिंकिंग की इजाजत होगी.

कुछ दिन पहले भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) ने ग्राहकों को एनईटीसी फास्टैग को भीम यूपीआई से रिचार्ज करने का विकल्प उपलब्ध कराया. एनपीसीआई ने कहा कि भीम यूपीआई आधारित मोबाइल ऐप के जरिए वाहन मालिक रास्ते में चलते-चलते भी अपने फास्टैग को रिचार्ज कर सकेंगे और उन्हें टोल प्लाजा पर लंबी कतारों में लगने की जरूरत नहीं होगी.



क्या होता है फास्टैग- यह एक रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टैग है, जिसे वाहन के विंडशील्ड पर लगाया जाता है, ताकि गाड़ी जब टोल प्लाजा से गुजरे तो वहां मौजूद सेंसर फास्टैग को रीड कर सके. वहां लगे उपकरण ऑटोमैटिक तरीके से टोल टैक्स की वसूली कर लेते हैं. अगर आपको गाड़ी से एनएचएआई के टोल प्लाजा से होकर कहीं आना-जाना है तो जल्द फास्टैग लगवा लें. वरना 15 जनवरी के बाद कैश लेन पूरी तरह बंद हो जाएंगी. फिर आपको सफर में समय और पैसे ज्यादा बर्बाद करने पड़ेंगे.
ये भी पढ़ें-आज ही सबसे पहले निपटाएं ये 4 काम, नहीं तो होगी बड़ी परेशानी, ये है वजह

नए वाहन मालिकों को FASTag के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है. वजह है क‍ि ये रजिस्ट्रेशन के समय पहले से ही उपलब्ध कराए जाएंगे. ओनर को बस FASTag अकाउंट को सक्रिय और रिचार्ज करना होगा. हालांकि, आपके पास पुरानी कार है, तो आप उन बैंकों से FASTag खरीद सकते हैं जो सरकार के राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह (NETC) कार्यक्रम से अधिकृत हैं. इन बैंकों में सिंडिकेट बैंक, एक्सिस बैंक, आईडीएफसी बैंक, एचडीएफसी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, और इक्विटास बैंक शामिल हैं. आप पेटीएम से भी FASTag खरीद सकते हैं.

FASTag को किसी भी प्वाइंट ऑफ सेल (POS) लोकेशन पर जाकर बैंक से ऑफलाइन खरीदा जा सकता है. हालांकि, लंबी कतारों में लगने और समय बचाने के लिए इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना आसान है. हालांकि, FASTag आवेदन करने की प्रक्रिया विभिन्न बैंकों में थोड़ी अलग होती है. फिर भी आवेदन की मुख्य बातें सभी में समान रहती हैं.

ये भी पढ़ें-इस बैंक में है खाता तो हो जाएं खुश, 3 जनवरी से कम हो जाएगी आपकी EMI!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज