• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • FASTAG TRANSACTIONS REACHED RS 80 CRORE BEFORE FIRST JANUARY DLNH

एक जनवरी से पहले ही 80 करोड़ रुपये पर पहुंच गया फास्टैग का लेनदेन

80 करोड़ रुपये पर पहुंच गया फास्टैग का लेनदेन

एक जनवरी से टोल टैक्स (Toll Plaza) पर फास्टैग अनिवार्य हो जाएगा. फास्टैग न होने पर पेनल्टी देनी होगी, लेकिन पेनल्टी से बचने के लिए वाहन मालिकों ने फास्टैग का इस्तेमाल शुरु कर दिया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. एक जनवरी से टोल टैक्स (Toll Plaza) पर फास्टैग अनिवार्य हो जाएगा. फास्टैग न होने पर पेनल्टी देनी होगी. लेकिन पेनल्टी से बचने के लिए वाहन मालिकों ने फास्टैग का इस्तेमाल शुरु कर दिया है. एक जनवरी से पहले ही फास्टैग से होने वाले लेनदेन की रकम कई गुना बढ़ गई है. पॉइंट ऑफ सेल के साथ-साथ ऑनलाइन (Online) भी फास्टैग (Fastag) की बिक्री हो रही है. फास्टैग को अनिवार्य करने की मंशा टोल पर भुगतान को डिजिटल बनाना और डीजल-पेट्रोल (Petrol) के साथ ही वक्त की बचत करना है.

    24 दिसम्बर को हुआ 80 करोड़ रुपये का लेनदेन

    एक जनवरी से अनिवार्य होने के बाद फास्टैग का अब जमकर इस्तेमाल हो रहा है. नेशनल हाइवे ऑथरिटी ऑफ इंडिया के मुताबिक 24 दिसम्बर को टोल प्लाजा पर फास्टैग से रिकॉर्ड 50 लाख लेनदेन हुए. जिससे टोल टैक्स की रकम 80 करोड़ रुपये जमा हुई है. एनएचएआई के मुताबिक यह किसी भी एक दिन की सबसे बड़ी रकम है. वहीं दूसरी ओर अभी तक 2.20 करोड़ फास्टैग की बिक्री हो चुकी है.



    अंडे के रेट में आई रिकॉर्ड तेजी, देश के बाजारों में बिक रहा अब तक का सबसे महंगा

    ऐसे काम करता है फास्टैग   

    फास्‍टैग में रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) तकनीक का उपयोग किया गया है. फास्‍टैग के जरिये भुगतान डिजिटल तरीके से किया जाता है, जो उससे लिंक्‍ड बैंक वॉलेट के जरिये होता ह.। चूंकि सोशल डिस्टेंसिंग अब नया मानदंड बन गई है इसलिए यात्री फास्‍टैग को टोल भुगतान के विकल्‍प के रूप में तेजी से अपना रहे हैं. फास्टैग के इस्तेमाल से टोल ऑपरेटरों और ड्राइवरों के बीच संपर्क की संभावना लगभग न के बराबर होती है. फास्‍टैग को अपनाने से राजमार्ग उपयोगकर्ताओं को टोल प्लाजा पर समय और ईंधन की बचत करने में भी मदद मिली है.

    ऑनलाइन और पीओएस पर बिक हरा है फास्टैग

    फास्‍टैग देशभर में 30 हज़ार से अधिक पॉइंट ऑफ सेल (पीओएस) पर आसानी से मिल रहा है. एनएचएआई टोल प्लाजा पर भी अनिवार्य रूप से फास्टैग की बिक्री करा रही है. साथ में घर बैठे मंगाने की सुविधा देते हुए अमेजॉन, फ्लिपकार्ट और स्नैपडील के जरिये ऑनलाइन बिक्री भी कराई जा रही है. फास्टैग के लिए के लिए 27 बैंकों के साथ भागीदारी की गई है.

    यह भी पढ़ें: अगर आप भी लेने जा रहे LIC पॉलिसी तो हो जाएं सावधान, नहीं तो डूब जाएगा सारा पैसा...!

    इसके रिचार्ज को आसान बनाने के लिए कई विकल्पों, जैसे भारत बिल भुगतान प्रणाली (बीबीपीएस), यूपीआई, ऑनलाइन भुगतान, माई फास्टैग मोबाइल ऐप, पेटीएम, गूगल पे आदि को भी शामिल किया है. इसके साथ ही टोल प्लाजा पर मौजूद प्वाइंट ऑफ सेल्स (पीओएस) पर नकद रिचार्ज की सुविधा 24 घंटे उपलब्ध रहेगी.
    Published by:Nasir Hussain
    First published: