लाइव टीवी
Elec-widget

पाकिस्तान को कंगाली से बचाने के लिए इमरान खान ने अमीरों के खिलाफ उठाया बड़ा कदम!

News18Hindi
Updated: October 8, 2019, 1:00 PM IST
पाकिस्तान को कंगाली से बचाने के लिए इमरान खान ने अमीरों के खिलाफ उठाया बड़ा कदम!
पाकिस्तान को कंगाली से बचने के लिए इमरान खान ने अचानक उठाया बड़ा कदम!

पाकिस्तान (Pakistan Economy Crisis) एक तरह तो आर्थिक तंगी से गुजर रहा है. वहीं, दूसरी ओर पाकिस्तान में रहने वालों को महंगाई मार (Pakistan Inflation Rate) रही है. इन सब से निपटने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Pakistan Imran Khan) ने बड़ा कदम उठाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2019, 1:00 PM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan Economy Crisis) एक तरह तो आर्थिक तंगी से गुजर रहा है. वहीं, दूसरी ओर पाकिस्तान में रहने वालों को महंगाई मार (Pakistan Inflation Rate) रही है. इन सब से निपटने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Pakistan Imran Khan) ने बड़ा कदम उठाया है. इमरान खान सरकार ने अपने खजाने को भरने के लिए सख्त कदम उठाते हुए देश में कुल 1.30 लाख लोगों को टैक्स नोटिस (Income Tax Notice) भेजे है. पाकिस्तान के अखबार डॉन के मुताबिक, ये टैक्स नोटिस उन लोगों को भेज गए है जो कि टैक्स डिपार्टमेंट के रजिस्टर्ड नहीं है. आपको बता दें कि मौजूदा समय में आंकड़ों के मुताबिक, पाकिस्तान में केवल 1 फीसदी लोग ही टैक्स चुकाते हैं. पाकिस्तान पूरी दुनिया में उन देशों में से एक है, जिसका टैक्स टू जीडीपी अनुपात केवल 11 फीसदी ही है.

इमरान खान सरकार ने भेजे 134,848 टैक्स नोटिस- पाकिस्तान के फेडरल बोर्ड ऑफ रिवेन्यू ने (FBR) ने देशभर में कुल 134,848 हाई नेटवर्थ इंडिविजुअल्स (HNI) को इनकम टैक्स रिटर्न फाइल  फाइल नहीं करने  पर नोटिस भेजा है. ये नोटिस पाकिस्तान के सभी बड़े शहरों में रहे रहे अमीरों को भेजा गया है.

FBR Federal Board of Revenue Government of Pakistan Over 130000 high net-worth individuals served tax notices

>> पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने पहले साल में टैक्स को लेकर सख्त कदम उठाए है. अब इनका असर भी दिखने लगा है. पहले साल में 783,039 नए टैक्सपेयर्स जुड़े है. इसके अलावा लाखों लोगों ने टैक्स माफी स्कीम का फायदा भी उठाया है.

किस शहर में कितने नोटिस भेजे गए
>> लाहौर में 37,083 नोटिस भेजे गए है.
>> रावलपिंडी में 21,248 नोटिस भेजे गए है.
Loading...

>> इस्लामाबाद में 4,600 नोटिस भेजे गए है.
>> पेशावर में 15,800 नोटिस भेजे गए है.
>> सरगौधा में 15,560 नोटिस भेजे गए है.
>> कराची में 10,467 नोटिस भेजे गए है.
>> हैदराबाद में 5,198 नोटिस भेजे गए है.

>> इनकम टैक्स डिपार्टमेंट  फेडरल बोर्ड ऑफ रिवेन्यू ने (FBR) के मुताबिक, पिछले एक साल में टैक्स रिटर्न फाइल करने वालों की संख्या 15.14 लाख से बढ़कर 25.61 लाख हो गई है. इसमें करीब 69 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.



इनकम टैक्स की अधिकतम दर 35 फीसदी बढ़ी- इमरान खान की सरकार ने आय कर की अधिकतम दर 25 फीसदी से बढ़ाकर 35 फीसदी कर दी है. इसके साथ ही मासिक आय के ब्रैकेट को भी पहले से कम कर दिया गया है.

>> 50,000 प्रति महीना वेतनभोगियों के लिए और 33 हजार 333 रुपए गैर-वेतनभोगियों के लिए रखा गया है.

>> इमरान खान सरकार का लक्ष्य है कि नए वित्तीय वर्ष में केवल इनकम टैक्स से 258 अरब रुपए जुटाया जा सके.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 8, 2019, 12:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...