कोरोना संकट में सरकार की गरीब कल्याण योजना ने लोगों को दी राहत, जानें कितने टन राशन का हुआ वितरण

गरीब कल्याण योजना

गरीब कल्याण योजना

पीएमजीकेएवाई के तहत, केंद्र दो महीने (मई-जून 2021) की अवधि के लिए मुफ्त खाद्यान्न वितरित कर रहा है. PMGKAY के तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मुफ्त वितरण के लिए 48 लाख टन खाद्यान्न की आपूर्ति की है.

  • Share this:

नई दिल्ली: भारतीय खाद्य निगम (FCI) ने कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए सर्वजनिक पाबंदियों के बीच प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) के तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मुफ्त वितरण के लिए 48 लाख टन खाद्यान्न की आपूर्ति की है. पीएमजीकेएवाई के तहत, केंद्र दो महीने (मई-जून 2021) की अवधि के लिए मुफ्त खाद्यान्न वितरित कर रहा है. केन्द्र सरकार राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के तहत लाये गए लगभग 79.39 करोड़ लाभार्थियों को प्रति व्यक्ति प्रति माह पांच किलो खाद्यान्न प्रदान कर रहा है.

पीएमजीकेएवाई के तहत लगभग 80 लाख टन खाद्यान्न जारी किया जाना है. यह आवंटन नियमित एनएफएसए आवंटन के अतिरिक्त है. एक सरकारी बयान में कहा गया, ‘‘पीएमजीकेएवाई के तहत लाभार्थियों को मुफ्त खाद्यान्न वितरण की योजना ने कोविड-19 महामारी के दौरान लाभार्थियों को बड़ी राहत प्रदान की है.’’

यह भी पढ़ें: ICICI बैंक ग्राहकों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब डिजिटल वॉलेट के साथ UPI आईडी को करें लिंक

एफसीआई ने 24 मई तक सभी 36 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों को 48 लाख टन मुफ्त खाद्यान्न की आपूर्ति की. पांच राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों - आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, लक्षद्वीप, पुडुचेरी और तेलंगाना ने मई-जून 2021 के लिए पूरे के पूरे आवंटन का उठाव कर लिया है.
26 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों ने मई के आवंटन का 100 प्रतिशत भाग उठा लिया है. महामारी के दौरान, 25 मार्च, 2020 से, एफसीआई ने विभिन्न सरकारी योजनाओं के तहत कुल 1,062 लाख टन खाद्यान्न जारी किया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज