Home /News /business /

FDI Inflow: भारत में प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश दोगुना से ज्‍यादा बढ़ा, जून 2021 तिमाही में रहा 17.57 अरब डॉलर

FDI Inflow: भारत में प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश दोगुना से ज्‍यादा बढ़ा, जून 2021 तिमाही में रहा 17.57 अरब डॉलर

वित्‍त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के दौरान कुल एफडीआई में सबसे ज्‍यादा कर्नाटक की हिस्‍सेदारी रही.

वित्‍त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के दौरान कुल एफडीआई में सबसे ज्‍यादा कर्नाटक की हिस्‍सेदारी रही.

देश में जून 2021 तिमाही के दौरान आए कुल प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश (FDI) में सबसे ज्‍यादा 27 फीसदी हिस्सेदारी ऑटो सेक्‍टर (Auto Sector) की रही. इसके बाद कंप्यूटर सॉफ्टवेयर व हार्डवेयर सेक्‍टर की हिस्‍सेदारी 17 फीसदी और सर्विस सेक्‍टर (Service Sector) की 11 फीसदी रही.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. देश में वित्त वर्ष 2021-22 (FY2022) की अप्रैल-जून तिमाही में इक्विटी प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का प्रवाह (FDI Inflow) दोगुना से अधिक होकर 17.57 अरब डॉलर पर पहुंच गया. वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में ये आंकड़ा 6.56 अरब डॉलर रहा था. नीतिगत सुधारों (Policy Reforms) और कारोबारी सुगमता (Ease of doing Business) की वजह से एफडीआई प्रवाह में इजाफा दर्ज किया गया है. चालू वित्त वर्ष के पहले तीन महीने के दौरान देश में कुल एफडीआई का प्रवाह 22.53 अरब डॉलर रहा, जो एक साल पहले की समान तिमाही में 11.84 अरब डॉलर रहा था.

    अकेले कर्नाटक को मिला है 48 फीसदी हिस्‍सा
    देश में आए कुल प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश में सबसे ज्‍यादा 27 फीसदी हिस्सेदारी ऑटो सेक्‍टर (Auto Sector) की रही. इसके बाद कंप्यूटर सॉफ्टवेयर व हार्डवेयर सेक्‍टर की हिस्‍सेदारी 17 फीसदी और सर्विस सेक्‍टर (Service Sector) की 11 फीसदी रही. आंकड़ों के मुताबिक, समीक्षाधीन अवधि में एफडीआई इक्विटी प्रवाह में 48 फीसदी हिस्सा अकेले कर्नाटक को मिला. इसके बाद महाराष्ट्र को 23 फीसदी और दिल्ली को 11 फीसदी हिस्सा मिला. वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय (Commerce & Industry Ministry) ने कहा कि सरकार की ओर से एफडीआई नीति के मोर्चे पर उठाए गए कदमों, निवेश सुगमता और कारोबार की सुगमता से देश में एफडीआई का प्रवाह बढ़ा है.

    ये भी पढ़ें- Airtel के बोर्ड ने 21 हजार करोड़ रुपये तक के राइट्स इश्‍यू को दी मंजूरी, चेक करें एक इक्विटी शेयर की कीमत

    गोयल ने कहा, लगातार बढ़ रहा है एफडीआई
    वाणिज्य व उद्योग मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) के मुताबिक देश में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश लगातार बढ़ रहा है. मई 2021 में प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश बढ़कर 12.1 अरब डॉलर पर पहुंच गया. भारत ने वित्‍त वर्ष 2020-21 में अब तक का सबसे अधिक एफडीआई हासिल किया है. यह 10 फीसदी बढ़कर 81.72 अरब डॉलर हो गया. मई 2021 में आया 12.1 अरब डॉलर का एफडीआई मई 2020 के मुकाबले 203 फीसदी ज्‍यादा है. अप्रैल 2021 में देश में आना वाला एफडीआई 6.24 अरब डॉलर रहा. यह अप्रैल 2020 के मुकाबले 38 फीसदी ज्यादा है.

    Tags: Business news in hindi, Ease of doing business, Fdi, Investment in equity and debt

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर