अपना शहर चुनें

States

FDI : कोरोना के बीच अप्रैल से नवंबर में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश 22% बढ़ा, यह किसी भी वित्त वर्ष के पहले आठ महीने में सबसे ज्यादा

इक्विटी में विदेशी निवेशकों ने 43.85 बिलियन डॉलर यानी 3.20 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया.
इक्विटी में विदेशी निवेशकों ने 43.85 बिलियन डॉलर यानी 3.20 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया.

कामर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री ने जारी किए आंकडें. एफडीआई सवा चार लाख करोड़ के पार, किसी भी वित्त वर्ष के पहले आठ महीने में सबसे ज्यादा एफडीआई का रिकॉर्ड तोड़ा. इक्विटी में वित्त वर्ष 2019-20 के मुकाबले 37% अधिक राशि आई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2021, 8:17 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वित्त वर्ष 2020-21 के पहले 8 महीने यानी अप्रैल से नवंबर के बीच भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश 22% बढ़ गया है. इसमें 58.37 बिलियन डॉलर यानी 4.26 लाख करोड़ रुपए से अधिक की बढ़ोतरी हुई. केंद्र सरकार के वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने यह जानकारी दी.
कोरोना वायरस महामारी के बावजूद विदेशी निवेशकों को भारतीय अर्थव्यवस्था पर भरोसा कायम है. इस बात की गवाही विदेशी निवेशकों द्वारा भारत में किए गए प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के आंकड़े देते हैं. मंत्रालय के मुताबिक अप्रैल से नवंबर के बीच की यह राशि किसी भी एक वित्त वर्ष के पहले 8 महीने में देश में आए FDI से अधिक है.

वाणिज्य एंव उद्योग मंत्रालय ने कहा कि देश में सबसे ज्यादा निवेश इक्विटी के जरिए आया है. इस दौरान इक्विटी में विदेशी निवेशकों ने 43.85 बिलियन डॉलर यानी 3.20 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया. यह सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2019-20 के मुकाबले 37% अधिक है। पिछले साल समान अवधि में यह 32.11 बिलियन डॉलर यानी 2.34 लाख रुपए से अधिक रहा था. इसी वजह से देश के शेयर बाजारों में लगातार रैली देखने को मिल रही है. सेंसेक्स 50 हजार अंकों के स्तर को छू गया.

अमेरिका व बिट्रेन में गिरावट, 2020 में भारत में एफडीआई इन्फ्लो में 13% इजाफा
वर्ष 2020 के दौरान भारत में FDI इंफ्लो में 13% का इजाफा हुआ है. यदि इसी दौरान अमेरिका, ब्रिटेन और रूस जैसे विकसित देशों और बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में FDI इनफ्लो को देखें तो उनमें तगड़ी गिरावट दर्ज की गई. यूनाइटेड नेशंस कॉन्फ्रेंस आन ट्रेड एंड डेवलपमेंट (UNCTAD) की इन्वेस्टमेंट ट्रेंड्स मॉनिटर रिपोर्ट (Investment Trends Report) के मुताबिक, 2020 में वैश्विक FDI में 42% की जोरदार गिरावट दर्ज की गई. 2019 में यह 1.5 लाख करोड़ डॉलर से गिरकर 859 अरब डॉलर पर सिमट गया. इस रिपोर्ट के मुताबिक भारत में वर्ष 2020 में FDI इंफ्लो 57 अरब डॉलर रहा. इस मामले में चीन टॉप पर रहा और वहां विदेशी निवेशकों ने 163 अरब डॉलर निवेश किया.  गौरतलब है कि कोरोनावायर का फैलाव चीन से हुआ था. यहां पर कोरोना वायरस पर जल्द ही काबू कर लिया गया. इस वजह से यहां की अर्थव्यवस्था में तेजी से रिकवरी देखने को मिली है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज